scriptNot getting pure oxygen again | हकीकत- दूसरी लहर में आक्सीजन की कमी से हुई थी मौतें, फिर नहीं मिल रही शुद्ध ऑक्सीजन | Patrika News

हकीकत- दूसरी लहर में आक्सीजन की कमी से हुई थी मौतें, फिर नहीं मिल रही शुद्ध ऑक्सीजन

जमीनी हकीकत सामने आई

 

भोपाल

Published: December 02, 2021 10:27:40 am

भोपाल. कोरोना की दूसरी लहर में आक्सीजन की कमी के कारण सबसे ज्यादा मौतें हुई थीं हालांकि इस संबंध में सरकारी दावों में कई विरोधाभास रहे हैं. तीसरी लहर में ऑक्सीजन का संकट ना हो इसके लिए प्रदेश में बड़े पैमाने पर ऑक्सीजन प्लांट्स तैयार किए जा रहे हैं। मंगलवार को ऑक्सीजन प्लांट्स के मॉकड्रिल के दौरान जमीनी हकीकत सामने आ गई। हाल ये हैं कि मॉकड्रिल के दौरान भी शुद्ध ऑक्सीजन नहीं मिली.
oxygen.png
दरअसल राजधानी के अस्पतालों में लगे पीएसए (प्रेशर स्विंग एडजॉब्र्शन) प्लांट की मॉकड्रिल कराई गई। इस दौरान कलेक्टर अविनाश लवानिया जेपी अस्पताल पहुंचे। प्लांट पौने चार घंटे चलने के बाद भी शुद्ध ऑक्सीजन नहीं दे पाए। प्लांट छह घंटे चलाने के आदेश दिए थे। दोपहर 12:45 बजे जेपी अस्पताल में लगे दोनों प्लांट का प्योरिटी लेवल लो दिख रहा था। एक प्लांट का प्योरिटी लेवल पौने एक बजे 84.2 प्रतिशत दिखा रहा था।
प्लांट का प्योरिटी लेबल 97 तक गया
इस संबंध में कलेक्टर अविनाश लवानिया ने बताया कि ऑक्सीजन प्योरिटी लेबल 93 से 97 तक पहुंच गया था। उन्होंने बताया— ऑक्सीजन प्लांट का प्योरिटी लेबल शुरू में कम जरूर था, लेकिन बाद में वो सही हो गया। हमारे सामने ही प्योरिटी लेबल 93.7 और 97 तक पहुंच गया। लगातार हम लोग इस पर निगरानी भी बनाए रहे।
oxygen_plant.jpg

स्वास्थ्य मंत्री का कहना - अब दूसरी लहर जैसे हालात नहीं है - इधर मध्यप्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री, प्रभुराम चौधरी का कहना है कि वर्तमान हालातों में हम पूरी तरह तैयार हैं। अस्पतालों में लगातार तैयारियां हो रही हैं। काफी कुछ ठीक हो रहा है। स्वास्थ्य मंत्री का यह भी कहना कि अब दूसरी लहर जैसे हालात नहीं हैं। उन्होंने बताया कि सीएम के निर्देश के बाद तैयारियां और तेज कर दी गईं हैं।

Must Read- तीसरी लहर में बच्चों को सबसे ज्यादा खतरा, सामने आई हकीकत

Must Read- 5वीं और 8वीं की परीक्षा पर सरकार का बड़ा कदम

अस्पताल: क्षमता (एलपीएम) -शुद्धता स्तर
जेपी अस्पताल- (2 प्लांट) 2000 -97 फीसदी
एम्स -850 -93 फीसदी
सीएचसी कोलार - 150 - 95 फीसदी
अस्पताल बैरागढ़ - 150 - 93.4 फीसदी
रेल्वे हॉ. निशातपुरा - 500 - 94.9 फीसदी
काटजू अस्पताल - 500 - 91.7 फीसदी
हमीदिया अस्पताल- (2 प्लांट) 1500 - 92.9 फीसदी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.