scriptNow SMS will not come for wheat purchase, you will be able to register | अब गेहूं खरीदी के लिए नहीं आएंगे SMS, घर पर बेठे करा सकेंगे पंजीयन | Patrika News

अब गेहूं खरीदी के लिए नहीं आएंगे SMS, घर पर बेठे करा सकेंगे पंजीयन

सरकार ने गेहूं खरीदी पंजीयन, उपार्जन और भुगतान की व्यवस्था में किया बदलाव, गेहूं उपार्जन नीति 2022-23 जारी

भोपाल

Published: January 26, 2022 07:17:21 pm

भोपाल. प्रदेश में किसानों की फसल खरीदी में होने वाले फर्जीवाड़े रोकने सहित गेहूं खरीदी व्यवस्था को सहज और सुगम बनाने राज्य सरकार ने उपार्जन नीति में बड़ा फेरबदल किया है। रबी विपणन वर्ष 2022-23 की जारी नीति के अनुसार, इस बार किसानों को गेहूं खरीदी के लिए किसी भी तरीके से एसएमएस नहीं भेजा जाएगा। न ही उनकी खरीदी गई फसल के भुगतान के लिए बैंक खाता नंबर व आइएफएससी नंबर मांगा जाएगा। इतना ही नहीं किसान घर बैठे ही पंजीयन कर सकेंगे। पंजीयन के लिए तैयार अन्य सेंटर भी तय किए गए हैं।

wheat_procurement.png

इस तरह होगा पंजीयन
किसान पंजीयन की इस बार दो व्यवस्थाएं की गई हैं। एक तो निःशुल्क दूसरा स-शुल्क।| किसान मोबाइल व कम्प्यूटर से निर्धारित लिंक पर जाकर घर बैठे पंजीयन कर सकेंगे। साथ ही समितियों द्वारा संचालित पंजीयन केंद्र में पंजीयन होंगे। दोनों जगह शुल्क नहीं देनी होगी। इसके अलावा वह 50 रुपए शुल्क देकर कियोस्क सेंटर, कामन सर्विस सेंटर, लोक सेवा केंद्र व साइबर कैफे से में पंजीयन करवा सकेंगे। सिकमी किसानों का पंजीयन सिर्फ सहकारी समितियों में होगा। इनका शत-प्रतिशत सत्यापन राजस्व विभाग करेगा। फसल बेचने से पहले होगा आधार वैरीफिकेशन पंजीयन कराने व फसल बेचने के लिए आधार नंबर का सत्यापन अनिवार्य होगा। यह आधार नंबर से लिंक मोबाइल नंबर पर ओटीपी से या बायोमैट्रिक डिवाइस से किया जा सकेगा।

बदल गई है उपार्जन की प्रक्रिया
अब तक किसानों को खरीदी के एसएमएस आते थे। एसएमएस में मिली तिथि के अनुसार ही किसान फसल बेच सकता था। इस बार एसएमएस की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है। फसल बेचने के लिए अब किसान निर्धारित पोर्टल से नजदीक के उपार्जन केंद्र, तिथि टाइम सस्‍लॉट का चयन खुद कर सकेंगे। इसका चयन नियत तिथि के पहले करना होगा। सामान्य तौर पर उपार्जन प्रारंभ होने की तिथि के एक सप्ताह पहले तक उपार्जन केंद्र, तिथि व टाइम स्‍लॉट का चयन किया जा सकेगा।

यह भी होगा महत्वपूर्ण

- किसान का पंजीयन केवल उसी स्थिति में हो सकेगा जब भू-अभिलेख में दर्ज खाते व खसरे में दर्ज नाम का मिलान आधार कार्ड में दर्ज नाम से होगा

- भू-अभिलेख व आधार कार्ड में दर्ज नाम में विसंगति होने पर पंजीयन का सत्यापन तहसील कार्यालय से कराया जाएगा।

- किसान उपार्जन केंद्र पर जाकर फसल बेचने के लिए अपने परिवार के किसी सदस्य को नामित कर सकेंगे। नामित व्यक्ति का भी आधार वैरीफिकेशन कराया जाएगा।

यह है टाइम टेबल

पंजीयन 5 फरवरी से 5 मार्च तक होंगे। उपार्जन केंद्र, तिथि व टाइम स्‍लाट का चयन 7 से 20 मार्च तक किया जा सकेगा। उपार्जन अवधि संभावित 25 मार्च से 15 मई तक अभी तय की गई है।

आधार कार्ड से ले लिया जाएगा लिंक खाता नंबर
किसान को अब तक फसल के भुगतान के लिए बंक खाता नंबर व आइएफएससी कोड देना पड़ता था। त्रुटि होने पर भुगतान असफल हो जाता था, लेकिन अब व्यवस्था में बदलाव कर बैंक खाता नंबर व आईएफएससी कोड आधार नंबर से लिंक खाता नंबर ही ले लिया जाएगा। इसके लिए उन्हें अपने आधार नंबर से बैंक खाता नम्बर व मोबाइल नंबर लिंक करवा कर अपडेट रखना होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Thailand Open: PV Sindhu ने वर्ल्ड की नंबर 1 खिलाड़ी Akane Yamaguchi को हराकर सेमीफाइनल में बनाई जगहIPL 2022 RR vs CSK Live Updates: रोमांचक मुकाबले में राजस्थान ने चेन्नई को 5 विकेट से हरायासुप्रीम कोर्ट में अपने लास्ट डे पर बोले जस्टिस एलएन राव- 'जज साधु-संन्यासी नहीं होते, हम पर भी होता है काम का दबाव'ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनCBI रेड के बाद तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर कसा तंज, कहा - 'ऐ हवा जाकर कह दो, दिल्ली के दरबारों से, नहीं डरा है, नहीं डरेगा लालू इन सरकारों से'Ola-Uber की मनमानी पर लगेगी लगाम! CCPA ने अनुचित व्यवहार के लिए भेजा नोटिस, 15 दिन में नहीं दिया जवाब तो हो सकती है कार्रवाईHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.