अब देश के पहले फुल वैक्सीनेट स्टेट की ओर, वैक्सीनेशन में हर बार नया रिकार्ड

--------------------------------
पत्रिका इंडेप्थ : डाटा स्कैन-
- अब तक 3 वैक्सीनेशन महाअभियान, हर बार बड़ा रिकार्ड
- 26 सितंबर तक पहला और 31 दिसंबर तक सौ फीसदी दूसरा डोज
----------------------------------

[email protected]भोपाल। आने वाले साल 2022 का पहला दिन मध्यप्रदेश के लिए कोरोना से जंग में बड़ी जीत का संदेश लेकर आ सकता है। इसके लिए कोरोना वैक्सीनेशन में एक के बाद एक कई रिकार्ड बनाने के बाद अब मध्यप्रदेश ने देश के पहले फुल वैक्सीनेट स्टेट के लिए प्रयास तेज कर दिए हैं। सरकार की कोशिश है कि वैक्सीनेशन का सौ फीसदी लक्ष्य हासिल करने वाला देश का पहला राज्य मध्यप्रदेश हो। इसके तहत 26 सितंबर तक पहले डोज को सौ फीसदी तक लगाने का लक्ष्य है। इसके बाद दूसरे डोज के लक्ष्य तय किए जाएंगे, लेकिन 31 दिसंबर के पहले दोनों डोज को सौ फीसदी लगाया जाएगा। वैसे, सरकार की कोशिश है कि इसके पहले ही दूसरे डोज को सौ फीसदी लगाने का भी लक्ष्य हासिल कर लिया जाए। इसके लिए आगे तीन महीने के लिए अलग कैम्पेन रहेंगे। अभी तक तीन बार वैक्सीनेशन का महाअभियान चला है। तीनों बार मध्यप्रदेश ने रिकार्ड बनाया है। इसलिए उम्मीद बढ़ गई है कि देश में फुल वैक्सीनेट स्टेट मध्यप्रदेश हो सकता है।
--------------------------------
पहला कोरोना मुक्त राज्य की भी उम्मीदें-
दूसरी ओर जिस प्रकार कोरोना संक्रमण बीते डेढ़ महीने से नियंत्रण में हैं, उससे पहला कोरोना मुक्त राज्य होने के प्रयासों को भी बल मिल रहा है। फुल वैक्सीनेट स्टेट होने के साथ कोरोना संक्रमण को हराने की संभावना बढ़ जाएगी। सरकार ने पूर्व में ही 31 दिसंबर तक कोरोना मुक्त राज्य करने का लक्ष्य घोषित किया था। अब बीते एक महीने से बेहद कम केस सामने आए हैं। सितंबर के 18 दिन में महज 211 पॉजीटिव केस मिले हैं। इन्हें सरकार हर दिन गंभीरता से ले रही है, इसलिए यह भी काबू में आते हैं, तो प्रदेश के लिए कोरोना मुक्त की स्थिति बन सकती है।
---------------------------------
अभी देश में तीसरे नंबर पर मध्यप्रदेश-
रविवार की स्थिति में मध्यप्रदेश कोरोना वैक्सीन डोज लगाने के मामले में देश में तीसरे नंबर पर है। पहले नंबर पर उत्तरप्रदेश में 9.41 करोड़ डोज लग चुके हैं। दूसरे नंबर पर महाराष्ट्र में 7.34 करोड़ डोज लग चुके हैं। वहीं मध्यप्रदेश में 5.75 करोड़ डोज लगे हैं।
----------------------------------
महाअभियान पर शिवराज की छाप-
प्रदेश में वैक्सीनेशन के तीनों महाअभियान पर सीएम शिवराज सिंह चौहान की सीधी सक्रियता का असर पड़ा है। शिवराज खुद तीनों बार मैदान में उतरे। मतदान मॉडल को अपनाकर लोगों को वैक्सीनेशन कराना तय किया गया। इसमें भी जनभागीदारी मॉडल को प्रमुखता पर रखा, जिससे वैक्सीनेशन के रिकार्ड बने।
---------------------------------
ऐसा है मध्यप्रदेश में वैक्सीनेशन-
- 5$ 49 करोड़ लोगों को लगाना है वैक्सीन
- 57504500 वैक्सीन डोज लग चुके अब तक
- 45097165 को पहला वैक्सीन डोज लग चुका
- 12407335 को दूसरा डोज भी लग चुका
- 233679 लोगों को 19 सितंबर को लगे डोज
----------------------------------------
मध्यप्रदेश में वैक्सीन महाअभियान के 3 रिकार्ड ऐसे-
पहला अभियान- 21 जून- 17.62 लाख
दूसरा अभियान- 25 अगस्त- 23.47 लाख
26 अगस्त- 17.14 लाख
तीसरा अभियान- 17 सितंबर- 26.44 लाख
-----------------------------------------
कोरोना यूं दिख रहा काबू में-
- 792386 पॉजीटिव केस 18 सितंबर की स्थिति में
- 792175 पॉजीटिव केस 31 अगस्त की स्थिति में
- 211 पॉजीटिव केस ही बढ़े सितंबर के 18 दिन में
- 10517 मौतें कोरोना से 18 सितंबर की स्थिति में
- 10516 मौतें कोरोना से 31 अगस्त की स्थिति में
- 01 मौत ही सितंबर के 18 दिन में कोरोना से दर्ज
- 70 हजार जांच औसत प्रतिदिन कोरोना की प्रदेश में
- 08 से 10 केस प्रतिदिन औसत आ रहे प्रदेश में
---------------------------------------

जीतेन्द्र चौरसिया Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned