20 सालों तक अस्पताल में लोगों की सेवा की, उन्हीं लोगों ने मदद के समय मुंह फेरा

पति के शव को स्ट्रेचर पर रखकर पांच मंजिल तक लेकर आई....

By: Ashtha Awasthi

Published: 27 Apr 2021, 02:01 PM IST

भोपाल। पूरी राजधानी में इस समय कोरोना (coronavirus) का संकट छाया हुआ है। हर तरफ से दुख की खबरें आ रही है। वहीं एक ऐसी खबर भी सामने आई है जो दिल और दिमाग दोनों को ही झकझोर देती है। वह नर्स जिसने 20 सालों तक अस्पताल में लोगों की सेवा की। साथी नर्सों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर हजारों मरीजों को नई जिंदगी दी। जब उसको जररूत पड़ी तो सबसे पहले साथियों ने ही मुंह फेर लिया। कोरोना पीड़ित पति को देखने की गुहार लगाई तो साथी नर्स ने धमकाया।

 

MUST READ: Vaccination: अस्पताल से लौटते एक-दूजे का हाथ थामे नजर आए बुजुर्ग दंपति

अकेले पांच मंजिल से नीचे लाना पड़ा

यही नहीं पति की मौत की जानकारी तक नहीं दी और शव को लाने को कोई भी तैयार तक नहीं हुआ। ऐसे में नर्स को खुद शव को पांच मंजिल से नीचे लाना पड़ा। यह कहानी है हमीदिया अस्पताल की नर्स प्रीति गनवीर की, जिसका वीडियो सोमवार को सोशल मीडिया पर वायरल होता रहा।

 

nurse_1.png

MUST READ: बड़ा फैसला: 1 मई से 18 वर्ष के ऊपर के लोगों को फ्री में लगेगी वैक्सीन

सबसे कुशल नर्सों में एक

हमीदिया अस्पताल के कार्डियक डिपार्टमेंट यानी सीटीवीएस में पदस्थ नर्स प्रीति गनवीर की गिनती अस्पताल की सबसे कुशल नर्सों में होती है। प्रीति को इसी अस्पताल प्रबंधन की बेरुखी का सामना करना पड़ा। लंबे समय तक कोविड में ड्यूटी करने से संक्रमण उनके घर तक पहुंच गया और पति को घेर लिया। वे कहती हैं कि पति को अपने अस्पताल में भर्ती करना उनकी सबसे बड़ी भूल है।

मौत के बाद भी नहीं दी जानकारी

प्रीति बताती हैं कि भर्ती कराने के तीन दिन बाद तक पति से कोई बात नहीं हो पाई। गार्ड ने उन्हें अंदर नहीं जाने दिया और वार्ड में किसी ने कॉल अटेंड नहीं किया। मेरी एक दोस्त की ड्यूटी उस वार्ड में लगी तो उसने बताया कि मेरे पति की मौत सुबह ही हो गई। मैं बमुश्किल दिन में वार्ड में पहुंची तो पहले गार्ड ने रोक दिया।

लड़झगड़ कर मैं ऊपर पहुंची तो देखा कि करीब छह घंटे से उनकी बॉडी अलग रखी हुई थी और पेपर कम्पलीट नहीं किए गए थे। औपचारिकताएं पूर मैंने वार्ड ब्वॉय से कहा कि बॉडी नीचे तक भेज दें तो उन्होंने भी मना कर दिया। आखिरकार मैं पति के शव को स्ट्रेचर पर रखकर पांच मंजिल तक लेकर आई।

coronavirus Coronavirus treatment
Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned