दिलशाद ने 25 नर्सिंग छात्राओं के साथ की दो करोड़ की ठगी

दिल्ली के डॉक्टर रोहित कुमार की भी मिलीभगत आई सामने

भोपाल/ जबलपुर. एम्स के दिल्ली व भोपाल शाखा में नर्स की नौकरी लगवाने के नाम पर नर्सिंग छात्राओं से लाखों की ठगी करने के मामले में एसटीएफ के हत्थे चढ़े जबलपुर निवासी मास्टरमाइंड दिलशाद की चिकित्सक पत्नी के बारे में नया खुलासा हुआ है। अब तक इस गिरोह ने 55 नर्सिंग छात्राओं से ठगी की बात स्वीकार की है। दिलशाद ने लगभग दो करोड़ रुपए की ठगी की है। इस गिरोह में शामिल धर्मानंद भी जबलपुर का ही रहने वाला है।
भोपाल क्राइम ब्रांच ने उसे रविवार को गिरफ्तार किया। उसे एसटीएफ रिमांड पर लेने वाली है। इस मामले में दिल्ली के भी एक चिकित्सक की मिलीभगत की बात सामने आई है।रांझी थाना क्षेत्र अंतर्गत वीकल निवासी दिलशाद ने पांच शादियां की है। उसकी चार पत्नियां जबलपुर में रहती हैं। यहां उसका एक बड़ा बाड़ा हैं। इसमें वह सोनम इंटरप्राइजेज फर्म नाम से अगरबत्ती की फैक्ट्री और भाईजान नाम से डेयरी चलाता है। उसकी चौथी पत्नी बीएएमएस है, जो अधारताल थानांतर्गत आदर्श नगर में खिदमत नाम से गायनिक अस्पताल का संचालन करती है। इस अस्पताल में दिलशाद डायरेक्टर है। एसटीएफ ने बताया कि धर्मानंद भी जबलपुर का ही रहने वाला है। ठगी की रकम उसके और दिल्ली में चिकित्सक डॉक्टर रोहित कुमार के खाते में जमा कराई गई है।

दो साल से कर रहा फर्जीवाड़ा
दिलशाद 2 साल से यही काम कर रहा था। लड़कियों से ठगी गई रकम में से 25-30 लाख रुपए का निवेश खुद के अस्पताल में किया है। एसटीएफ दिलशाद और आलोक कुमार बामने की पत्नी से पूछताछ करेगी। दोनों आरोपियों के बैंक खाते सीज कर दिए हैं।
बायोडाटा और अंक सूचियां जब्त
दिलशाद की पिपलिया पैंदे खां, भोपाल निवासी एक पत्नी के घर से एसटीएफ को सैकड़ों लड़कियों के बायोडाटा, अंकसूचियां, नौकरी के लिए भरे गए फॉर्म, एम्स के फर्जी लेटरहेड, फोटो सहित अन्य अहम दस्तावेज मिले हैं। दिलशाद ने ये दस्तावेज पड़ोसी का मकान किराए पर लेकर उसमें छिपा रखे थे।

Pushpam Kumar
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned