आखिर क्यों एक बुजुर्ग दादा नहीं बनना चाहता, बेटे-बहू से कहा- बच्चा पैदा किया तो जायदाद से नहीं मिलेगी फूटी कौंड़ी

- बेटे-बहू को दी संतान न पैदा करने की धमकी ।
- बच्चा पैदा किया तो जायदाद से कर दूंगा बेदखल ।

- रिटायर्ड अधिकारी बुजुर्ग का अजीब डर ।

By: Shailendra Sharma

Updated: 18 Oct 2020, 02:21 PM IST

भोपाल. आप अक्सर अजीब गरीब किस्से सुनते होंगे लेकिन ऐसा मामला आपने शायद ही पहले कभी सुना होगा। मामला अजीब इसलिए भी है क्योंकि हर इंसान की ये चाहत होती है कि वो अपने नाती-पोतों को अपनी गोद में खिलाए। उन्हें वो प्यार दे जो वो अपने बच्चों को अपनी जिंदगी की व्यस्तता के चलते नहीं दे पाया इसलिए कहा भी जाता है कि बेटे से ज्यादा पोता प्यारा होता है यानि मूल से ज्यादा सूद प्यारा होता है। लेकिन मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में एक बुजुर्ग ऐसे हैं जो दादा नहीं बनना चाहते हैं। सरकारी सेवा में रहने के बाद रिटायर्ड हो चुके ये बुजुर्ग अपने बेटे-बहू को बच्चा पैदा न करने की धमकी भी देते हैं।

 

dhamki.png

बच्चा पैदा किया तो जायदाद से बेदखल कर दूंगा- बुजुर्ग
भोपाल में कुटुंब न्यायालय में एक ऐसा अनोखा मामला सामने आया है। ससुर की अजीब इच्छा से परेशान बहू ने कुटुंब न्यायालय का दरवाजा खटखटाया। जिसके बाद ससुर को बुलाकर काउंसलिंग भी की गई लेकिन बार-बार की काउंसलिंग के बाद भी बुजुर्ग अभी भी नहीं माने हैं और अपनी जिद पर अड़े हुए हैं और साफ कहते हैं कि अगर बेटे-बहू ने संतान पैदा की तो जायदाद में से उन्हें एक फूटी कौड़ी नहीं दूंगा। ऐसा करने के पीछे बुजुर्ग का तर्क है कि अगर बेटे-बहू ने बच्चा पैदा किया तो वो उनकी देखभाल करना बंद कर देंगे और एक दिन वृद्धाश्रम भेज देंगे। वो ये भी कहते हैं कि बेटे की शादी मैंने संतान पैदा करने के लिए नहीं की थी, बेटे-बहू का पहला फर्ज मेरी सेवा करना है और जब मैं मर जाऊं तो वो संतान पैदा कर लें। फिर भी अगर बहू को बच्चा चाहिए तो वो मेरे बेटे को तलाक देकर दूसरी शादी कर ले और बच्चे पैदा करे।

 

डेढ़ महीने चली सुनवाई, नहीं निकला हल
कुटुंब न्यायालय की काउंसलर बताती हैं कि सितंबर 2020 में भोपाल की रहने वाली महिला शिकायत लेकर आई थी और उसने बताया था कि ससुर बच्चा पैदा नहीं करने दे रहे हैं। धमकी देते हैं कि अगर बच्चा पैदा किया तो जायदाद से बेदखल कर देंगे। शादी को काफी वक्त गुजर चुका है और बच्चा न होने के कारण समाज व परिवारवाले उसे ताने मारते हैं। उसने पति और ससुर को समझाने की कोशिश की लेकिन जब बात नहीं बनी तो उसने न्याय की गुहार लगाई। कुटुंब न्यायालय ने पति को बुलाकर समझाया और ससुर को भी समझाने की कोशिश की पर 6 काउंसलिंग होने के बाद भी वो जिद पर अड़े हुए हैं अब उन्हें फिर से आगे काउंसलिंग के लिए बुलाने की तैयारी की जा रही है। काउंसलर ने ससुर के न मानने पर बेटे-बहु को अलग घर लेकर रहने की सलाह भी दी लेकिन बेटा अपने पिता को नहीं छोड़ना चाहता है।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned