scriptold pension scheme madhya pradesh government employees demand | मध्यप्रदेश में बहाल हो पुरानी पेंशन योजना, लाखों शिक्षक और कर्मचारी हड़ताल पर | Patrika News

मध्यप्रदेश में बहाल हो पुरानी पेंशन योजना, लाखों शिक्षक और कर्मचारी हड़ताल पर

राजस्थान, छत्तीसगढ़ और झारखंड में लागू हो गई है पुरानी पेंशन योजना...। मध्यप्रदेश में भी एक जुट हो गए लाखों कर्मचारी...।

भोपाल

Updated: September 12, 2022 12:56:30 pm


भोपाल। मध्यप्रदेश में लाखों कर्मचारी अब पुरानी पेंशन बहाली ( old pension restoration ) की मांग को लेकर जुटने लगे हैं। प्रदेश के शिक्षकों के साथ ही कई कर्मचारी संगठन अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने वाले हैं। इसके अलावा प्रदेश के कई जिलों में भी अलग-अलग प्रदर्शन किए जाएंगे। राजधानी भोपाल में सीएम से मिलकर पुरानी पेंशन बहाली की मांग की जाएगी।

penssion1.jpg

राजस्थान, छत्तीसगढ़, झारखंड अपने राज्य में पुरानी पेंशन बाहली कर चुके हैं। इसे देख मध्यप्रदेश में भी शिक्षकों समेत कर्मचारी संगठन एक जुट होने लगे हैं। यह कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली के साथ ही अनुकंपा नियुक्ति, क्रमोन्नति और समयमान वेतनमान समेत कई मांगों को लेकर 13 सितंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल कर रहे हैं।

Old Pension Scheme : पुरानी पेंशन बहाली को लेकर जुटने लगे सरकारी कर्मचारी, यह है अपडेट

एनपीएस का का विरोध, ओपीएस की मांग

आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के मुताबिक अध्यापक शिक्षक संवर्ग को भी अंशदाई पेंशन (NPS) के स्थान पर पुराने शिक्षक संवर्ग की भांति पुरानी पेंशन (OPS) लागू करने की मांग की गई है। कई वर्षों में दिवंगत एवं सेवानिवृत्त शिक्षकों को शासकीय कर्मचारियों के समान ही ग्रेज्युटी राशि का भुगतान और अन्य शासकीय कर्मचारियों के समान ही ग्रीन कार्ड की वेतन वृद्धि, अनुकंपा नियुक्ति देने की मांग की जाएगी। शिक्षकों को द्वितीय क्रमोन्नत/ समयमान वेतनमान के आदेश जारी करने समेत 12 सूत्रीय मांगे की। संघ के अध्यक्ष भरत पटेल का कहना है कि प्रदेश में 25 हजार शिक्षकों ने हड़ताल पर जाने का आवेदन दे दिया है। यह संख्या अगले दो दिन में बढ़कर 75 हजार हो जाएगी। इस बार तीन स्थानों पर धरना-प्रदर्शन की अनुमति मांगी है। अनुमति नहीं मिलेगी तब भी आंदोलन किया जाएगा। 13 सितंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल की जाएगी।

यह भी पढ़ेंः

पुरानी पेंशन बहाली की मांग, 6 लाख सरकारी कर्मचारी नहीं मनाएंगे होली

नहीं मिली अनुकंपा नियुक्ति

संघ के मुताबिक पिछले कुछ वर्षों में हजारों शिक्षकों का निधन हो गया, लेकिन उनके निधन के बाद खाली हुए पदों पर परिवार के किसी सदस्य को नियुक्ति नहीं दी गई। वर्ष 2006 से 2010 के बीच नियुक्त शिक्षकों को वर्ष 2018 से 2021 में क्रमोन्नति, समयमान वेतनमान दिया जाना चाहिए था, लेकिन अब तक नहीं दिया गया।

करीब तीन लाख अध्यापक

कर्मचारियों का कहना है कि वर्तमान में सेवानिवृत्त हुए शिक्षकों को 500 से 2000 रुपए पेंशन मिलेगी, ऐसे में पुरानी पेंशन बहाल करने की मांग कर रहे हैं। प्रदेश में अध्यापक से शिक्षक बने कर्मचारियों की संख्या दो लाख 87 हजार है।

kamal1.jpg

कांग्रेस भी कर चुकी है मांग

इससे पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ भी शिवराज सरकार से मांग कर चुके हैं कि प्रदेश के कर्मचारियों के हित में पुरानी पेंशन प्रणाली को प्रदेश में तत्काल लागू करें। कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने भी कहा था कि पुरानी पेंशन को लेकर सदन में आवाज उठाई जाएगी। कांग्रेस से राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने ट्वीट कर राजस्थान की तरह मध्यप्रदेश में भी सरकारी कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना को लागू करने की मांग की थी।

राज्य सरकार तत्काल लागू करें

तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ के प्रदेश सचिव उमाशंकर तिवारी कहते हैं कि एक जनवरी 2005 के बाद जो भी सरकारी भर्ती हुई है, उसमें पुरानी पेंशन लागू नहीं है। जो बहुत ही गलत निर्णय है। कर्मचारी के लिए इससे ज्यादा दुखदायी समस्या कोई नहीं हो सकती। शिवराज सरकार को कर्मचारियों की पुरानी पेंशन प्रणाली को तत्काल लागू करना चाहिए। क्योंकि सेवानिवृत्ति के बाद कई कर्मचारी बीमारियों की गिरफ्त में भी आ जाते हैं। उन्हें परिवार का साथ नहीं मिल पाता है, ऐसे में वे अपना ध्यान रख सकें। ऐसे में पुरानी पेंशन स्कीम ही सभी सरकारी कर्मचारियों को राहत देगी। नई पेंशन स्कीम में कर्मचारी या उनके परिवार का जीवन यापन करना मुश्किल हो जाएगा।

ऐसी है पुरानी पेंशन स्कीम

केंद्र सरकार के फैसले के बाद कई राज्यों ने 2005 में कर्मचारियों की पेंशन योजना को एक प्रकार से बंद करते हुए नए स्वरूप में लागू किया था। इससे उनकी पेंशन काफी कम हो गई थी। कर्मचारी वर्ग समय-समय पर दोबारा से पुरानी पेंशन स्कीम को लागू करने की मांग करते रहे हैं।

नई स्कीम से कर्मचारियों को नुकसान

तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ के प्रदेश सचिव उमा शंकर तिवारी इस बारे में कहते हैं कि पुरानी पेंशन योजना ही कर्मचारियों के लिए अच्छी है। नई स्कीम से जीवन यापन भी संभव नहीं होगा। क्योंकि सेवानिवृत्ति के बाद ही कर्मचारियों बीमारी की गिरफ्त में भी आ जाते हैं, ऐसे में पुरानी पेंशन स्कीम ही सभी सरकारी कर्मचारियों को राहत देंगी।

चयनित शिक्षकों ने भर्ती की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन

पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण अभ्यर्थियों ने रविवार को आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पंकज सिंह को उच्च एवं माध्यमिक शिक्षक भर्ती में पदवृद्धि के साथ सेकंड काउंसलिंग कराने के साथ स्थायी शिक्षक भर्ती 2018 को शीघ्र अति शीघ्र पूर्ण कराने में सहयोग के लिए ज्ञापन पत्र सौंपा। आप पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने पात्र अभ्यर्थियों को आश्वासन देते हुए कहा है कि अगर शीघ्र भर्ती प्रक्रिया पूर्ण नहीं की जाती है तो शिक्षक भर्ती की मांगों को लेकर भी प्रदेश स्तरीय आंदोलन शुरू किया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

NIA की छापेमारी के खिलाफ केरल से तमिलनाडु तक PFI का प्रदर्शन, कोयंबटूर में BJP दफ्तर पर बम से हमलाडॉलर के मुकाबले रिकार्ड निचले स्तर पर पहुंचा रुपया, पहली बार 80 पार करके 81.09 स्तर पर पहुंचाआज से दो दिन के बिहार दौरे पर गृहमंत्री अमित शाह, 'जन भावना महासभा' को करेंगे संबोधित, पार्टी नेताओं के साथ बैठकAnti-hijab protest: महसा अमीनी की मौत के 7 दिन बाद भी ईरान में प्रदर्शन जारी, 31 की मौत, अमरीका ने लगाए 'मोरल पुलिस' पर प्रतिबंधAIMIM Office Attack: ठाणे में एआईएमआईएम कार्यालय में तोड़फोड़, एक शख्स को अज्ञात लोगों ने लाठी-डंडो से पीटाOMG: बीच आसमान में ही Boeing-777 एयरक्राफ्ट से भड़कने लगे शोले, फिर क्या हुआ...देखें Videoक्या अब पायलट भरेंगे उड़ान? अशोक गहलोत ने सीएम पद छोड़ने के दिए संकेतMaharashtra: शिवाजी पार्क नहीं तो फिर क्या? हाईकोर्ट में सुनवाई के बीच दशहरा रैली को लेकर शिवसेना का 'प्लान बी' तैयार!
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.