'मास्टर-की' से खोलें सफलता का ताला

- पत्रिका स्थापना दिवस पर भविष्य के आधार को मजबूत बनाने की पहल

- स्वर्णिम भारत अभियान के संवाहक बने भावी पीढ़ी

भोपाल। दुनिया के सबसे युवा देश भारत के भविष्य को मजबूत आधार शिक्षा ही दे सकती है। ऐसे में भावी पीढ़ी को सही मार्गदर्शन मिले और वे श्रेष्ठ नागरिक बन पाए इसके लिए पत्रिका समूह अपने 64वें स्थापना दिवस पर 'मास्टर-की' मुहिम शुरु करने जा रहा है। इस पहल का मकसद बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी में जुटे विद्यार्थियों को सफलता की राह दिखाना है। देश के अनुभवी और राष्ट्रपति सम्मान प्राप्त करने वाले वरिष्ठ शिक्षक 10वीं व 12वीं बोर्ड परीक्षा दे रहे विद्यार्थियों को पर्चा हल करने प्रबंधन, तनाव मुक्त रहने, एकाग्रता से पढऩे, अच्छे अंक हासिल करने और विषय को समझने जैसे कई गूढ व मूलमंत्र देंगे।

पत्रिका के स्वर्णिम भारत अभियान के तहत यह मुहिम बोर्ड परीक्षा पूर्ण होने तक जारी रहेगी, ताकि आने वाले कल में स्वर्णिम भारत का संवाहक बनने वाली नई पीढ़ी सकारात्मक और ऊर्जावान बनी रह सके। विद्यार्थियों को शिक्षकों का मार्गदर्शन समाचार पत्रों के साथ पत्रिका टीवी, एफएम तड़का, पत्रिका.कॉम और सोशल मीडिया पेजों पर भी मिलेगा।

mera swarnim bharat
Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned