गृहमंत्री ने कहा- विपक्ष को उपाध्यक्ष का पद देने की परंपरा पुरानी थी

नरोत्तम मिश्रा ने कहा- विधानसभा में उपाध्यक्ष का पद विपक्ष को दिए जाने की स्थापित परंपरा कांग्रेस ने ही तोड़ी है।

By: Pawan Tiwari

Published: 21 Feb 2021, 05:46 PM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश विधानसभा के उपाध्यक्ष का पद भाजपा अपने ही पास रखेगी। ये पद विपक्ष को नहीं दिया जाएगा। मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा- विपक्ष को विधानसभा उपाध्यक्ष का पद देने की परंपरा पुरानी है।

क्या कहा नरोत्तम मिश्रा ने
रविवार को मीडिया से बात करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा- विधानसभा में उपाध्यक्ष का पद विपक्ष को दिए जाने की स्थापित परंपरा कांग्रेस ने ही तोड़ी है। जब उसने इस परंपरा का पालन नहीं किया है तो अब उसे उपाध्यक्ष के पद पर दावा जताने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा मैं तो नहीं मानता की यह पद उन्हें मिलना चाहिए।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा था- कमलनाथ ने तोड़ी परंपरा
शिवराज सरकार कांग्रेस को उपाध्यक्ष का पद देने के लिए तैयार नहीं है, क्योंकि कमलनाथ सरकार में भाजपा को यह पद नहीं दिया गया था। विधानसभा में सीटों के गणित के हिसाब से चुनाव होता है तो दोनों पद भाजपा के पाले में ही जाएंगे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा पहले ही कह चुके हैं कि विधानसभा में अध्यक्ष-उपाध्यक्ष के चुनाव की परंपरा पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने तोड़ी थी।

कांग्रेस ने नहीं उतारा उम्मीदवार
बता दें कि भाजपा ने अध्यक्ष पद के लिए रीवा जिले की देबतालाब विधानसभा सीट से विधायक गिरीश गौतम को विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवार बनाया है। वहीं, कांग्रेस ने उम्मीदवार नहीं उतारा है।

कमलनाथ ने कहा- भाजपा का शुरू से संसदीय परंपराओं में कभी विश्वास नहीं रहा है। वर्षों से विधानसभा अध्यक्ष का पद सत्ता पक्ष को व उपाध्यक्ष का पद विपक्ष को देने की चली रही परंपराओं को भाजपा ने तोड़ा है लेकिन हमारा शुरू से ही संसदीय परंपराओं में विश्वास रहा है। हमने निर्णय लिया है कि हम विधानसभा अध्यक्ष पद की संवैधानिक गरिमा को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष पद के निर्वाचन में पूर्ण सहयोग करते हुए निर्विरोध ढंग से विधानसभा अध्यक्ष पद का निर्वाचन करवाने में अपनी ओर से पूर्ण सहयोग प्रदान करेंगे।

Kamal Nath
Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned