Organ donation : 'मेरी मां ने मुझे पुनर्जीवन दिया, मेरी किडनी खराब थी... अगर मां नहीं होती तो शायद मैं भी नहीं होता

Organ donation : 'मेरी मां ने मुझे पुनर्जीवन दिया, मेरी किडनी खराब थी... अगर मां नहीं होती तो शायद मैं भी नहीं होता

KRISHNAKANT SHUKLA | Updated: 14 Aug 2019, 09:17:28 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

Organ donation : - मां ने जिगर के टुकड़े को दी किडनी तो बेटे ने पांच जिंदगियां बचाईं
मिसाल: अंगदान से अपनों और गैरों को नवजीवन देने वाले दधीचियों का रवींद्र भवन में सम्मान, मंत्री साधौ ने लिया अंगदान का संकल्प

भोपाल. 'मेरी मां ने मुझे पुनर्जीवन दिया है। मेरी किडनी खराब थी, डॉक्टरों ने कहा कि ट्रांसप्लांट ( Kidney Transplant ) करना होगा। मां सहरबानो ने अपनी किडनी मुझे दे दी और मुझे दूसरा जीवन दिया... अगर मां नहीं होती तो शायद मैं भी नहीं होता।

ये कहते हुए मो. आजम की आंखों में आंसू आ गए। वे मंगलवार को चिकित्सा शिक्षा विभाग ( Medical education department ) द्वारा अंगदान दिवस ( organ donation day ) पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने आए थे। कार्यक्रम में 20 ऐसे लोगों को सम्मानित किया गया, जिन्होंने अंगदान ( organ donation ) कर दूसरी जिंदगियों को रोशन किया।

 

MOST READ : Monsoon Alert : बंगाल की खाड़ी में सिस्टम हुआ मजबूत, 24 घंटे में बेहद भारी बारिश की चेतावनी

 

इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विजय लक्ष्मी साधौ ने कहा कि अंगदान के लिए सभी को जागरूक होने की जरूरत है। इस मौके पर उन्होंने भी अंगदान करने का संकल्प लिया और फॉर्म भरा। कार्यक्रम के दौरान हमीदिया अस्पताल में प्रदेश के पहले शासकीय किडनी ट्रांसप्लांट सेंटर ( Organ donation center ) की घोषणा भी की गई।

 

Organ donation

किडनी ट्रांसप्लांट (107)

77 बंसल अस्पताल में
21 सिद्धांता अस्पताल में
20 चिरायु अस्पताल में लीवर ट्रांसप्लांट (06)
04 बंसल अस्पताल में
02 सिद्धांता अस्पताल में
(नोट- अस्पतालों के मुताबिक)

समाज को नई दिशा दिखाने वाले 20 लोग हुए सम्मानित, ऑर्गन डोनेशन की तैयार हो रही ऑनलाइन रजिस्ट्री

 

MOST READ : Raksha bandhan song mp3 : राखी पर ये 10 गाने जो आज भी हैं सदाबहार, देखें गानों की पूरी लिस्ट

 

अब ऑनलाइन मिल सकेगी जानकारी

कार्यक्रम में विभाग के आयुक्त निशात बरवड़े ने बताया कि कैंसर रजिस्ट्री की तर्ज पर ही ऑर्गन डोनेशन की ऑनलाइन रजिस्ट्री तैयार की जा रही है। इसमें डोनर और रिट्रीवल की पूरी जानकारी ऑनलाइन की जाएगी। इसके साथ ही प्रदेश में रिट्रीवल की वरीयता सूची भी होगी। ऐसे में रिट्रीवर को पता रहेगा कि उसका नंबर कब आएगा। बरवड़े ने बताया कि एक महीने में रजिस्ट्री तैयार हो जाएगी।

 

MOST READ : Raksha bandhan 2019 : इस बार राखी का त्योहार रहेगा खास, जानिए शुभ मुहूर्त

 

दूसरों के शरीर में ही सही, बेटा जीवित रहे

कार्यक्रम में इंदौर से जवाहर दोशी भी पहुंचे। दुर्घटना में बेटे को खो चुके जवाहर ने उसके अंगों से दूसरी जिंदगियों को बचाने का फैसला किया। बेटे के ऑर्गन से पांच लोगों को नई जिंदगी मिली। उनका मानना है बेटा किसी ना किसी रूप में जीवित रहे। इसी तरह कार्यक्रम में भोपाल के अजय को भी सम्मानित किया गया। अजय शहर के ऐसे व्यक्ति हंै, जिन्हें किडनी ट्रांसप्लांट की गई थी।

 

Organ donation 1

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned