scriptPanchayat- Urban Body Election 2022: Leaders spending a lot of money | पंचायत- नगरीय निकाय चुनाव 2022: हाईटेक दंगल के लिए पानी की तरह पैसा बहा रहे नेताजी | Patrika News

पंचायत- नगरीय निकाय चुनाव 2022: हाईटेक दंगल के लिए पानी की तरह पैसा बहा रहे नेताजी

परंपरागत चुनाव करने में समय और धन दोनों खर्चा होता है। लेकिन सोशल मीडिया के माध्यम से हाईटेक प्रचार में समय और पैसा दोनों की बचत होती है। और सबसे खास बात है कि सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचार करने में एक रणनीति के तहत टॉरगेट करके जनता के बीच मनचाहा संदेश भेजा जाता है।

भोपाल

Published: June 17, 2022 07:47:47 pm

रूपेश मिश्रा

मध्यप्रदेश में सियासी रणभेरी बजते ही दिग्गज सोशल मीडिया कंपनियों की निगाहें अब सूबे पर टिक गई हैं। कई सोशल मीडिया कंपनियों ने अब पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव का ऐलान होते ही पूरी टीम मैदान में उतार दी है। दरअसल इसके पीछे बड़ा कारण पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव के बाद विधानसभा चुनाव की चहलकदमी है। और सोशल मीडिया कंपनी सूबे में बड़ा मार्केट तलाश रही हैं। ऐसे में निकाय चुनाव से लेकर विधानसभा तक सियासी गहमागहमी रहने से एक बड़ा बाजार सोशल मीडिया कंपनियों के हिसाब से अनुकुल नजर आ रहा है।

election_campaign.jpg

नेताजी का परंपरागत नहीं हाईटेक चुनाव पर भरोसा

दरअसल सियासी रण में भाग्य आजमा रहे नेताओं का भी मन परंपरागत चुनाव प्रचार से उचट चुका है। इसके पिछे का कारण है कि परंपरागत चुनाव करने में समय और धन दोनों खर्चा होता है। लेकिन सोशल मीडिया के माध्यम से हाईटेक प्रचार में समय और पैसा दोनों की बचत होती है। और सबसे खास बात है कि सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचार करने में एक रणनीति के तहत टॉरगेट करके जनता के बीच मनचाहा संदेश भेजा जाता है।

इसलिए बढ़ा सोशल मीडिया वर्चस्व

एंड्रायड फोन और इंटरनेट पैक की कीमत जेब के बेहद अनुकूल होने के चलते लगभग समाज का हर वर्ग सोशल मीडिया से जुड़ा है। इनदिनों हर एक युवा के हाथों में फोन है। अब जब हाथ में मोबाइल है तो ट्विटर और स्काइप का भले ही कम लोग उपयोग करते हैं। लेकिन पर फेसबुक, इमो, वाट्सएप और मैसेंजर का तो लगभग हर कोई उपयोग कर रहा है। प्रत्याशियों ने भी सोशल मीडिया की लोकप्रियता को देखते हुए इसे चुनाव प्रचार का सबसे सरल माध्यम बना लिया है। उधर तमाम न्यूजपेपर, चैनल भी सोशल मीडिया से जुड़े हैं। लिहाजा सोशल मीडिया में अब डिजिटल दंगल छिड़ चुका है।

10 हजार से लेकर लाख रूपये तक का पैकेज

उत्तरप्रदेश, पंजाब सहित पांच राज्यों हालही में संपन्न हुए चुनावों में विभिन्न पार्टियों के लिए डिजिटल कैंपेनिंग कर चुके अश्विन मिश्रा ने बताया की एमपी इसवक्त सबसे उपयुक्त प्रदेश है क्योंकि यहां डिजिटल कैंपेनिंग का बड़ा मार्केट है। क्योंकि यहां चुनाव अब लगातार चलते रहेंगे। और जहां तक बात पैसों की रही तो पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव विधानसभा के मुकाबले छोटे होते हैं इसलिए यहां 10 हजार से लेकर लाख रूपये तक के पैकेज दिए जा रहे हैं।

10 हजार रूपये में महीने भर में मिलेंगी सिर्फ इतनी सुविधाएं

क्रिएटिव ग्राफिक्स---2 से 5

सोशल मीडिया पोस्ट---15

50 हजार रूपये में मिलेंगी ये सुविधाएं

क्रिएटिव ग्राफिक्स---10 से 15

सोशल मीडिया पोस्ट---30

15 हजार रूपये प्रत्याशी के पेड प्रमोशन पर खर्च

1 लाख रूपये में मिलेंगी ये सुविधाएं

क्रिएटिव ग्राफिक्स---30 से 50

सोशल मीडिया पोस्ट---70

प्रत्याशी के साथ- साथ परमानेंट एक व्यक्ति

जो हर कार्यक्रम सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म पर लाइव करेगा।

20 हजार से ज्यादा की राशि पेड प्रमोशन पर खर्च

एक्सपर्ट ये बोले

इस बार के पंचायत चुनावों में डिजिटल कैंपेन की धूम है। गांव में ट्विटर और इंस्टाग्राम का ज्यादा क्रेज नहीं है लेकिन फेसबुक और वाट्सएप पर प्रत्याशियों का पूरा फोकस है। और वैसे भी एमपी में अब चुनाव हैं तो दिल्ली, मुबंई तक की डिजिटल मीडिया कंपनी भोपाल में डेरा जमा चुकी हैं।

जसकरन सिंह मनोचा, सोशल मीडिया एक्सपर्ट

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा, 160 विधायकों के साथ नई सरकार बनाने का दावा किया पेशBihar Political Crisis: नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा, अब महागठबंधन के साथ बनाएंगे सरकारBihar Political Crisis: नीतीश कुमार ने इस्तीफा सौंपने के बाद कहा - 'बीजेपी के साथ एक नहीं कई दिक्कतें थीं''मुफ्त रेवड़ी' कल्चर मामले में सुप्रीम कोर्ट में आमने-सामने AAP और BJP, आम आदमी पार्टी ने कहा- PM मोदी ने 'दोस्तवाद' के लिए खाली किया देश का खजानाMaharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपMaharashtra: सीएम एकनाथ शिंदे अपनी ‘मिनी’ टीम का सितंबर में करेंगे विस्तार, सामने आई यह बड़ी अपडेटगुजरात के जामनगर में मुहर्रम पर बड़ा हादसा, ताजिया जुलूस में करंट लगने से दो की मौत, कई घायललालू-नीतीश की दोस्ती से ढह जाते हैं सारे समीकरण, जानिए फिर कैसे कम हुई दोनों के बीच दूरियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.