scriptPangoling is hunted and sent to China, wild life hunting news | एमपी से चीन तक होती है वन्यजीवों की तस्करी, शिकारी कमाते हैं लाखों-करोड़ों | Patrika News

एमपी से चीन तक होती है वन्यजीवों की तस्करी, शिकारी कमाते हैं लाखों-करोड़ों

wildlife hunting- शिकार मामले में मध्यप्रदेश सुर्खियों में हैं...। पिछले कई वर्षों में यहां लगातार बढ़ गए हैं शिकार के मामले...।

भोपाल

Updated: May 20, 2022 08:11:15 pm

भोपाल। मध्य प्रदेश के गुना जिले में शिकारियों द्वारा पुलिस पर हुए दुर्भाग्यपूर्ण हमले ने पूरे प्रदेश व देश को झकझौर कर रख दिया है। शिकार का यह पहला मामला नहीं है, मध्यप्रदेश से बड़ी संख्या में शिकार करके वन्यजीवों को विदेश में लाखों-करोड़ों रुपयों में बेच दिया जाता है।

mp3.png
,,
mp1.jpg

 

महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश से लगे सीमावर्ती जिलों में वन्य प्राणियों के शिकार की घटनाएं ज्यादा होती हैं। प्रदेश के जंगलों में शिकार कर शिकारी सीमावर्ती राज्यों का फायदा उठाते हैं। प्रदेश में 2019 से 2020 तक करीब 2100 से अधिक वन्य प्राणियों के शिकार के मामले दर्ज हुए हैं। शिकार के मामले में शहडोल, जबलपुर, रीवा वनवृत्त सबसे ज्यादा संवेदनशील हैं। यहां तीन साल में 700 से अधिक शिकार हुए हैं।

सबसे ज्यादा नीलगाय, चीतल, सांभर और काले हिरण के शिकार हुए हैं। इन शिकारों में सबसे ज्यादा स्थानीय लोगों की भूमिका सामने आई है। कोरोना व लॉकडाउन में जहां लोगों को घरों से निकलने की इजाजत नहीं थी, वहीं शिकारी पुलिस और प्रशासन से नजरें बचाकर शिकार कर रहे थे। इन दो वर्षों में 1400 से अधिक शिकार की घटनाएं हुईं। इसके बाद 2021 में शिकार की घटनाओं में 200 तक की कमी आई है।

यह भी पढ़ेंः

टाइगर स्टेट में एक और बाघ का शिकार, जानिए कितनी सच है यह तस्वीर

03.png

एमपी में शिकार की घटनाएं

2019 : 722
2020: 217
2021: 559

2022 अप्रेल तक: 147

देश में 2008 से 2018 के बीच 10 वर्षों में शिकारियों द्वारा 139 काले हिरण मारे गए हैं, जिनमें से अधिकतम 31 मामले मध्य प्रदेश में हैं। साथ ही 2008 और 2018 के बीच देश भर में 108 शिकारियों को काले हिरणों को मारने के आरोप में गिरफ्तार भी किया गया है।

यह भी पढ़ेंः

मध्यप्रदेश से छिन सकता है 'टाइगर स्टेट' का दर्जा, कम हो गए 36 बाघ

वाइल्डलाइफ कंज़र्वेशन सोसाइटी की रिपोर्ट "वन्यजीव शिकार और भारत में अवैध व्यापार: 2020' के अनुसार भारत से 2020 में वन्यजीवों के अवैध शिकार और तस्करी की 522 मामले सामने आए, जिसमें बड़ी बिल्लियां, पैंगोलिन, कछुए, हाथी और काले हिरण का शिकार सबसे अधिक हुआ।

इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर के मुताबिक वन्‍य जीवों की अवैध तस्‍करी में अकेले 20 फीसद पैंगोलिन का ही हिस्सा है। इसकी वजह चीन है, जहां इसकी खाल और मांस से पारंपरिक दवाएं बनाए जा रही हैं। काफी विरोध के बाद चीन ने आधिकारिक रूप से पैंगोलिन को अपनी पारंपरिक दवाओं की सामग्री की लिस्ट से हटाया हैं। इससे जुड़े एक बहुस्तरीय अवैध शिकार नेटवर्क का मध्य प्रदेश वन विभाग की एक विशेष टीम ने फरवरी 2017 में भंडाफोड़ किया था। जिसमें मध्य भारत से चीन तक पैंगोलिन की तस्करी के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले प्रमुख मार्ग उत्तर प्रदेश-नेपाल-तिब्बत और कोलकाता-मणिपुर-मिजोरम-म्यांमार -लाओस पाए गए थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Britain के पीएम बोरिस जॉनसन ने दिया इस्तीफा, जानें वो 'एक फैसला' जिससे गई कुर्सीपीएम नरेंद्र मोदी ने अखिल भारतीय शैक्षिक समागम का किया उद्धाटन बोले नई शिक्षा नीति मातृभाषा में पढ़ाई के रास्ते खोल रहीलालू प्रसाद यादव की हालत नाजुक, तेजस्वी यादव बोले - '3 जगह फ्रैक्चर, दवा के ओवरडोज से तबीयत बेहद बिगड़ी'Karnataka: बागलकोट जिले के केरूर में हिंसा, चार घायल, तीन गिरफ्तारBhagwant Mann Marriage Live Updates: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को अरविंद केजरीवाल ने दी बधाईMumbai: कन्हैया लाल का समर्थन करने पर नाबालिग लड़की को मिली जान से मारने की धमकी, जानें पूरा मामलाप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 जुलाई को पटना जाएंगे, बिहार विधानसभा का दौरा करने वाले होंगे पहले पीएमMaharashtra Cabinet: कैबिनेट विस्तार पर बीजेपी और शिंदे गुट में ऐसे बनी सहमति, जानें किसके के खाते में कौन-कौन से विभाग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.