कंपनी ने कहा हमें रेवेन्यू से मतलब, रेलवे चुकाए या जनता, शुल्क कम नहीं होगा

हबीबगंज में अधिक पार्किंग शुल्क लेने का मामला, री-डेवलपमेंट कर रही कंपनी फिलहाल पार्किंग शुल्क कम करने के मूड में नही है...

By: दीपेश तिवारी

Published: 10 Feb 2018, 09:12 AM IST

भोपाल. हबीबगंज रेलवे स्टेशन का री-डेवलपमेंट कर रही कंपनी फिलहाल पार्किंग शुल्क कम करने के मूड में नही है। कंपनी का कहना है कि री-डेवलपमेंट का खर्च इसी तरह से निकलेगा। इसकी भरपाई या तो रेलवे करे या फिर उपभोक्ता।

कंपनी के कर्मचारी पार्किंग के लिए आने वाले उपभोक्ताओं से १५ मिनट नि:शुल्क समय का भी चार्ज ले रहे हैं। बता दें हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर दो पहिया और चार पहिया वाहन की पार्किंग शुल्क में मनमानी वृद्धि स्टेशन का री-डेवलपमेंट कर रही कंपनी ने अचानक २९ जनवरी से कर दी। इसमें लगभग 20 गुना तक की वृद्धि की गई है।

पार्र्किंग शुल्क मनमाने तरीके से बढ़ाए जाने के बाद रेलवे ने लोगों को आश्वासन दिया है कि शुल्क में कमी कराई जाएग लेकिन स्टेशन का री-डेवलपमेंट कर रही कंपनी का कहना है कि वह अपना नुकसान नही करेगी। हां यदि रेलवे उसे होने वाले घाटे की भरपाई करे तो इस पर कुछ विचार किया जा सकता है।

शुल्क मैकेनाइज्ड और सुसज्जित पार्किंग का, वाहन खा रहे धूल

मजे की बात यह है कि निर्माणकर्ता कंपनी द्वारा जो शुल्क वसूला जा रहा है वह पूरी तरह से तैयार एवं मैकेनाइज्ड पार्किंग का शुल्क है, लेकिन हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर दोनो तरफ सुविधाओं के नाम पर खुला आसमान और उड़ती हुई धूल है। पार्ची काटने के लिए कंपनी के गुर्गे तैनात हैं जो विवाद होने पर यात्रियों से अभद्रता करने से भी नही चूकते।

बीजेपी कार्यालय और मानसरोवर में बढ़ा वाहनों का बोझ

हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर पार्किंग शुल्क विवाद के बाद स्टेशन के दोनों तरफ मेन सड़क से लेकर सर्विस रोड तक पर यात्री एवं आगंतुक वाहन खड़े कर रहे हैं। इसके साथ ही स्टेशन के प्रवेश द्वार नंबर एक की तरफ बीजेपी कार्यालय पर, मानसरोवर कॉम्प्लेक्स और उसके आसपास वाहनों को पार्क किया जा रहा है।

गौर ने रेल मंत्री को लिखा पत्र, बोले- वापस हो हबीबगंज स्टेशन की बेतहाशा पार्किंग शुल्क वृद्धि
भोपाल. पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर बेतहाशा पार्किंग शुल्क वसूलने को लेकर रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखा है। गौर ने हबीबगंज स्टेशन पर पूर्व और अब वसूले जा रहे पार्किंग शुल्क की तुलना बताते हुए बेतहाशा वृद्धि को वापस लेने की मांग की है। गौर ने लिखा है कि पूर्व में हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर दो पहिया वाहन से छह घंटे के लिए पांच रुपए और २४ घंटे के लिए दस रुपए वसूले जाते थे। अब निजी कंपनी की मनमानी वृद्धि से दो घंटे के लिए २० रुपए और २४ घंटे के लिए २२५ रुपए वसूले जाने लगे हैं। इसी तरह चार पहिया वाहन से पहले छह घंटे के दस और २४ घंटे के ४० रुपए वसूले जाते थे। अब यह शुल्क दो घंटे के लिए ५० रुपए और २४ घंटे के लिए ६४० रुपए वसूला जा रहा है। नए पार्किंग शुल्क में ८ घंटे के दो पहिया वाहन से ७५ और चार पहिया वाहन से २४० रुपए वसूले जा रहे हैं। इसके बाद हर दो घंटे में बेतहाशा बढ़ता जाता है। यह जनता के साथ अन्याय है। हबीबगंज स्टेशन से हर दिन हजारों यात्री प्रदेश और देश के विभिन्न हिस्सों के लिए सफर करते हैं। गौर का कहना है कि इन यात्रियों का दूसरे शहरों में रेल से जाने का इतना किराया नहीं है, जितना यहां पार्किंग शुल्क कर दिया गया है।

 

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned