सोनोग्राफी मशीन बनी शोपीस, मरीज हो रहे परेशान

सोनोग्राफी मशीन बनी शोपीस, मरीज हो रहे परेशान

manish kushwah | Publish: Sep, 08 2018 03:58:35 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

-निजी सेंटर्स में 600 से 800 रु. में सोनोग्राफी कराने को मजबूर मरीज

भोपाल/संत हिरदाराम नगर. सिविल अस्पताल में सोनोग्राफी मशीन होने के बावजूद इसका लाभ मरीजों को नहीं मिल रहा है। इसकी वजह यहां सोनोलॉजिस्ट की नियुक्ति नहीं किया जाना है। स्वास्थ्य विभाग एवं अस्पताल प्रबंधन की अनदेखी का खामियाजा मरीज भुगत रहे हैं, सबसे ज्यादा परेशानी गर्भवतियों को उठाना पड़ रही है। सोनोग्राफी जांच के लिए इन्हें निजी सेंटर्स पर छह सौ से आठ सौ रुपए चुकाना पड़ते हैं। सिविल अस्पताल में सोनोग्राफी जांच के लिए रोजाना औसतन सौ से अधिक मरीज पहुंचते हैं, पर उनके हाथ निराशा ही लगती है। आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों से ताल्लुक रखने वाले मरीजों को सबसे ज्यादा परेशानी उठाना पड़ रही है।

शिकायत के बाद भी सुनवाई नहीं
समाजसेवियों एवं सामाजिक संस्थाओं ने सिविल अस्पताल में सोनोग्राफी मशीन की सुविधा शुरू करनेक की मांग की है, साथ ही यहां स्थायी सोनोलॉजिस्ट की नियुक्ति करने के लिए ज्ञापन सौंपे गए हैं, पर इसके बाद भी सुनवाई नहीं की गई। पेट एवं इससे संबंधित रोगों के इलाज के लिए आने वाले मरीजों को जांच के लिए भी परेशान होना पड़ रहा है।

निजी सेंटर्स काट रहे चांदी
सिविल अस्पताल में सोनोग्राफी जांच नहीं होने से उपनगर में संचालित हो रहे निजी सेंटर्स प्रति जांच छह सौ से आठ सौ रुपए ले रहे हैं। कई सेंटर्स पर इससे अधिक राशि वसूली जा रही है। ऐसे में सिविल अस्पताल आने वाले मरीजों को निजी सेंटर्स के चक्कर काटना पड़ते हैं साथ ही मोटी फीसी भी चुकाना पड़ती है।


सिविल अस्पताल में आने वाले मरीजों को बाहर से सोनोग्राफी करवाना पड़ती है। निजी सेंटर्स पर मरीजों को मनमानी फीस चुकाना पड़ रही है। अस्पताल में सिविल मशीन जल्द से जल्द शुरू की जानी चाहिए।
सुनील कुमार, स्थानीय रहवासी

अस्पताल में सोनोलॉजिस्ट का पद स्वीकृत नहीं है। इस बारे में पहले भी आला अधिकारियों को अवगत कराया है। सोनोग्राफी के लिये मरीजों को परेशानी न हो इसलिए इसके लिये अलग से सोनोलॉजिस्ट बुलाकर सोनोग्राफी कराई जाती है। हमारा प्रयास रहता है कि मरीजों को जरूरी सुविधाएं मिल सकें।
डॉ. अलका परगानिया, अधीक्षक, सिविल अस्पताल

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned