Patrika Radio पर सुनिए कोरोना से जुड़ी 6 बजे तक की बड़ी ख़बरें

पत्रिका के ऑडियो बुलेटिन में सुने कोरोना से जुड़ी अभी तक की खबरें...।

 

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या अब 15 हो गई है। इनमें से इंदौर में 5, जबलपुर में 6, ग्वालियर में 2 और भोपाल में दो मरीज की पुष्टि हो गई है। प्रदेश के 45 जिलों में पूरी तरह लॉकडाउन घोषित है, जबकि भोपाल और जबलपुर जिले में कर्फ्यू घोषित कर दिया गया है। कोरोना के कहर को देखते हुए हाईकोर्ट समेत सभी जिला अदालतें भी 14 अप्रैल तक के लिए बंद कर दी गई हैं।

 

कोरोना के बढ़ते प्रभाव के कारण अब पूरे देश में ही लॉकडाउन घोषित कर दिया गया। बुधवार को लाकडाउन का पहला दिन था। इस बीच जरूरत का सामान लेने के लिए भी लोग उमड़ रहे हैं। सरकार ने कहा है कि जरूरत के सामान की कमी नहीं आने दी जाएगी। लोगों से अपने घरों में ही रहने की अपील की जा रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से अपने-अपने घरों में ही रहने की अपील की है। यात्री ट्रेनों की रोक की अवधि बढ़ाकर 14 अप्रैल कर दी गई है। सभी घरेलू उड़ानें भी बंद कर दी गई हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने देश के लोगों को दो रुपए किलो में अनाज देने की घोषणा की है।

भारत की बात करें तो स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत में मरीजों की संख्या बढ़कर 580 हो गई है। 10 लोगों की मौत अब तक हो चुकी है।

दुनिया के 195 देशों में कोरोना फैल चुका है। 16,558 लोगों की मौत हो चुकी है। तीन लाख 78 हजार 842 लोग संक्रमित हैं। जबकि 1 लाख 2 हजार मरीज ठीक भी हो गए हैं।

लॉक डाउन के पहले दिन चैत्र नवरात्रि का पहला दिन भी है। देवी मंदिरों में पहली बार सन्नाटा पसरा हुआ है। मध्यप्रदेश के मैहर शक्तिपीठ में अकेले पुजारी ने ही माता की आराधना की। वहीं कई मंदिरों में लोगों को फेसबुक लाइव के जरिए दर्शन कराए गए हैं।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का ऐलान किया है और विधायकों और समर्थ लोगों से भी इसमें योगदान देने की अपील की है। चौहान ने कहा है कि हमारी लड़ाई सिर्फ कोरोना को रोकना है, मैं आज रात 8 बजे प्रदेश की जनता से जरूरी बात करने वाला हूं।

Manish Gite
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned