मध्यप्रदेश में घर बैठे खुद का इलाज कर सकेंगे लोग

जड़ी-बूटियों से इलाज के लिए घरेलू नुस्खों की होगी ब्रांडिंग

By: anil chaudhary

Published: 06 Jan 2020, 07:48 AM IST

भोपाल. प्रदेश सरकार देशी चिकित्सा पद्धति की ब्रांडिंग करेगी। इससे लोग छोटी-छोटी बीमारियों का इलाज जड़ी-बूटियों और घरेलू नुस्खे से कर सकेंगे। उन्हें डॉक्टरों पर कम से कम निर्भर रहना पड़े। इसकी कार्ययोजना आयुष विभाग ने तैयार कर ली है। इसके तहत भारतीय चिकित्सा पद्धति से जुड़ी विभिन्न जानकारियां, आयुर्वेदिक उपायों और औषधीय पौधों की पुस्तकें प्रकाशित कराई जा रही है। इसमें इन पौधों के फोटो के साथ इनके उपयोग की जानकारी भी होगी।


हिंदी और अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित इस पुस्तक को सार्वजनिक स्थानों पर उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए दिल्ली स्थित मध्यप्रदेश भवन, पर्यटन निगम के होटलों, सूचना केंद्रों सहित अन्य स्थानों का चयन किया जा रहा है, जिससे इनका अधिक से अधिक प्रसार-प्रसार हो सके। इन स्थानों पर यह पुस्तकें उपलब्ध होने के कारण लोग आयुर्वेद के प्रति अधिक से अधिक जागरूक हो सकेंगे। आयुर्वेद का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इस पद्धति से इलाज के कोई साइड इफेक्ट नहीं हैं। इसलिए लोगों का इस पद्धति की ओर रुझान भी बढ़ा है। सरकार भी इसके लिए आगे आई है।

 

- जागरुकता कार्यक्रम चलाए जाएंगे

यह सही है कि हमारे घर के आसपास कई औषधीय पौधे होते हैं, लेकिन इनकी पहचान न होने के कारण लोग इन्हें अनदेखा कर देते हैं। कई बार इन्हें जंगली पौधे समझकर हटा दिया जाता है। अब सरकार इसको लेकर जागरुकता अभियान चलाएगी, जिससे लोगों को इनके बारे में जानकारी मिल सके। यह भी बताया जाएगा कि कौन पौधा किस बीमारी के इलाज में काम आता है।


- घरेलू नुस्खे से इलाज को बढ़ावा

नीम, हल्दी, तुलसी सहित ऐसे अनेक पौधे हैं, जिनके घरेलू नुस्खों से इलाज होता है। हल्दी की जड़ों और पत्तियों में औषधीय गुण होते हैं। इससे जोड़ों के दर्द, आर्थराइटिस, पाचन विकार, दिल और लिवर की बीमारियों से लडऩे की क्षमता है। नीम में रोग प्रतिरोधक क्षमता होती है। श्यामा तुलसी से हर्बल चाय तैयार होती है। सफेद मूसली का उपयोग भी दवा के तौर पर होता है।

आयुर्वेद के प्रति जागरूक करने के लिए विभाग का प्रयास है। जागरुकता के लिए पुस्तक भी प्रकाशित कराई है। इसमें औषधीय पौधों के फोटो के साथ उसके उपयोग की जानकारी है।
- विजयलक्ष्मी साधौ, आयुष मंत्री

 

anil chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned