खास खबर : यहां हुई पेट्रोल-डीजल के रेट में भारी कटौती,रात में ही लग जाएगी लाइन!

Deepesh Tiwari

Publish: Oct, 13 2017 03:07:08 (IST) | Updated: Oct, 13 2017 07:54:53 (IST)

Bhopal, Madhya Pradesh, India
खास खबर : यहां हुई पेट्रोल-डीजल के रेट में भारी कटौती,रात में ही लग जाएगी लाइन!

पेट्रोल व डीजल की कीमतों को लेकर लगातार मच रही हायतौबा के बीच दिवाली से पहले मध्य प्रदेश ने इन पर लग रहे वेट को कम कर दिया है।

भोपाल। इसके चलते इनकी कीमतों में कुछ कमी आ गई है। अक्टूबर के शुरुआत में केंद्र सरकार के अनुरोध के बाद पेट्रोल और डीजल पर खुदरा वैट काटा गया, वहीं इसके बाद मध्य प्रदेश में एक बार फिर पेट्रोल पर 3% खुदरा वैट और डीजल पर 5% की कमी की गई है। पेट्रोल का दाम रात से कम किए जाने के चलते माना जा रहा है कि आज ही रात यानि शुक्रवार शनिवार की दरमियानी रात में मध्यप्रदेश के कई पेट्रोल पंप(Petrol Diesel New Rates in Bhopal Madhya Pradesh) में लोगों की भीड़ लग सकती है। जानकारों की माने तो राजधानी भोपाल के भी कई पंपों में रात में भीड़ देखने को मिलेगी। कीमतों में कमी का दीपावली पर लाभ लेने के लिए कई लोगों द्वारा सुबह के समय लाइन में लगने से बचने के लिए रात में ही आने का अनुमान है। वहीं कुछ लोग इसे दिवाली गिफ्ट भी मान रहे हैं।

दिवाली से पहले मध्य प्रदेश सरकार द्वारा जनता को पेट्रोल डीजल पर वैट घटाने का तोहफा देने के तहत नई कीमत शुक्रवार आधी रात से लागू होगी। सरकार ने दिवाली से पहले पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कटौती कर जनता को राहत दी है। इससे पहले गुजरात, महाराष्ट्र और उत्तराखंड सरकार ने भी पेट्रोल और डीजल पर वैट की कटौती की थी।

इससे पहले, गुजरात, महाराष्ट्र और हिमाचल प्रदेश ने कटौती एन ईंधन की घोषणा की थी। जानकारी के अनुसार, मध्य प्रदेश ने पेट्रोल पर 3% खुदरा वैट और डीजल पर 5% की कमी की है। जिसके बाद यहां पेट्रोल में 1रुपए 26 पैसे व डीजल में 4 रुपए तक की कमी आई है। वहीं जानकारों के अनुसार सस्ता करने के बाद भी मध्यप्रदेश में ही सबसे महंगा है।

सूत्रों के अनुसार वित्त मंत्रालय ने राज्य के मुख्यमंत्रियों से पेट्रोल और डीजल9Petrol Price Diesel Price) पर खुदरा वैट दर का 5% तक कटौती करने के बाद राज्य द्वारा कीमतों में कटौती करने का निर्णय लिया था, दोनों में प्रति लीटर की उत्पाद शुल्क में कटौती के बाद।

पेट्रोलियम उत्पादों पर उत्पाद शुल्क में कमी के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में 2 रुपये प्रति लीटर का कटौती कीमतों में निरंतर वृद्धि से राहत देने और उपभोक्ताओं के हाथों अधिक पैसा छोड़ने के लिए किया गया था। उन्होंने कहा, "अब यह राज्य सरकारों पर निर्भर है यदि वे इस मुद्दे से संबंधित हैं (बिक्री कर या वैट कटौती)।"

इसके बाद 5 अक्टूबर को तेल मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने राज्यों से पेट्रोल और डीजल पर करों में कटौती करने के लिए केंद्र के नक्शेकदम का पालन करने को कहा। पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में कटौती करने के केंद्र सरकार के फैसले से उपभोक्ताओं को तीन महीने तक लगातार कीमतों में वृद्धि से राहत मिली है। "हमने सभी राज्यों (वैट में कटौती करने के लिए) और मुझे और यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया है कि सभी राज्य अपने कर ढांचे को फिर से देखेंगे। उपभोक्ता हित शीर्ष प्राथमिकता है जैसे ही एक्साइज ड्यूटी का ध्यान रखते हुए उपभोक्ता हित में केंद्र द्वारा कटौती की गई है, राज्य भी सूट का पालन करेंगे। "

जबकि गुजरात, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश और मध्य प्रदेश ने पेट्रोल और डीजल(Petrol Diesel New Rates) की कीमतों में कटौती की है, बिहार सरकार चाहता है कि केंद्र सरकार 'बेस प्राइस' को कम करे। 9 अक्टूबर को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि उनकी सरकार केंद्र सरकार से पेट्रोल और डीजल के आधार मूल्य को कम करने के लिए अपील करेगी जो पूर्वी भारतीय राज्य में 55 रुपये प्रति लीटर पर है।

"बिहार में पेट्रोल और डीजल का आधार मूल्य 55 रुपये प्रति लीटर है, वहीं झारखंड में 51 रुपये प्रति लीटर है। नीतीश कुमार ने कहा कि हम इस आधार मूल्य को कम करने के लिए केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्रालय को एक मजबूत याचिका देंगे।

ये हैं नए रेट:
मध्य प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को पेट्रोल व डीजल पर लगने वाले कर को कम करने का ऐलान (diesel price petrol price rate cut by cm Shivraj singh chouhan)किया है। इसके चलते राज्य में डीजल 4 रुपये और पेट्रोल 1.62 रुपये सस्ता हो जाएगा। इस कदम से सरकार को दो हजार करोड़ रुपये प्रतिवर्ष राजस्व की हानि होगी।
राज्य के वित्त मंत्री जयंत मलैया ने शुक्रवार सुबह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ चर्चा की थी, जिसमें टैक्स कम करने का फैसला लिया गया।

मलैया ने संवाददाताओं को बताया कि डीजल पर लगने वाले वैट को 27 प्रतिशत से घटाकर 22 प्रतिशत किया गया है। इसके साथ ही सेस में भी 1.50 रुपये की कटौती की गई। मलैया ने बताया कि पेट्रोल पर लगने वाले वैट को 31 प्रतिशत से घटाकर 28 प्रतिशत किया गया हैं। इस तरह पेट्रोल पर तीन प्रतिशत वैट कम हुआ है। इससे कीमतों में 1.62 पैसे का अंतर आएगा। वहीं जानकारी के अनुसार पेट्रोल के दाम में करीब 1रुपए26 पैसे की ही कमी होगी।

अभी भी प्रदेश में सबसे महंगा है पेट्रोल-डीजल :
पेट्रोल-डीजल पर राज्य सरकार द्वारा कम किए गए वैट दर को नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने ऊंट के मुंह में जीरे के बराबर राहत बताया है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि केंद्र के दबाव में मजबूरी में लिया गया शिवराज सरकार का यह फैसला जनता के साथ छलावा है। आज भी प्रदेश में अन्य राज्यों की तुलना में सबसे महंगा पेट्रोल-डीजल है।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जनता की जेब में पिछले 14 साल से वैट और अतिरिक्त कर लगाकर डाका डाल रही है। केंद्र सरकार और प्रदेश में उपचुनाव को देखते हुए सरकार का मजबूरी में लिया गया फैसला जनता के साथ धोखाधड़ी है। सिंह ने कहा कि डीजल पर वैट के अलावा डेढ़ रूपया प्रति लीटर अतिरिक्त अधिभार समाप्त कर दिया लेकिन पेट्रोल पर 4 रूपए प्रति लीटर लिए जा रहे अतिरिक्त कर को समाप्त नहीं किया।

सरकार ने जनता से इस जबरिया वसूली से वर्ष 2016-17 में लगभग 9 हजार करोड़ रूपए वसूले हैं। केंद्र सरकार ने पूरे देश से पौने तीन लाख करोड़ की वसूली की है। राज्य सरकार अब तक 77 रूपए प्रति लीटर पेट्रोल पर 42 रूपए 58 पैसे अतिरिक्त कर के रूप में ले रही थी जिसमें 21 रूपए 48 पैसे केंद्र सरकार का हिस्सा था।
उन्होंने कहा कि यह जबरिया कर है जो सरकार जनता से वसूल रही थी। यह कर अभी भी लागू है इसलिए सरकार सिर्फ लॉलीपॉप देकर ढिंढोरा पीटने की तैयारी कर रही है, ताकि उपचुनावों में वह जनता को बरगला सके।

 

महाराष्ट्र में इतना घटा पेट्रोल का दाम :
महाराष्ट्र सरकार ने भी गुजरात के बाद पेट्रोल-डीजल के दामों में कटौती करने की घोषणा कर दी है। राज्य सरकार ने पेट्रोल पर 2 रुपये और डीजल को 1 रुपये प्रति लीटर सस्ता कर दिया है। केंद्र सरकार द्वारा राज्यों को वैट दर कम करने की अपील करने के बाद, ज्यादातर राज्य पेट्रोल-डीजल के रेट में कमी करने का ऐलान कर रहे हैं।

गुजरात बना था पहला राज्य:
केंद्र सरकार की अपील पर मंगलवार को सबसे पहले गुजरात सरकार ने इससे पहले सुबह में पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले वैट की दरों में चार फीसदी की कटौती कर दी है। इसकी घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने कहा था कि अब सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर वैट घटा दिया है।

रुपानी ने कहा कि वैट घटने से पेट्रोल की कीमतों में जहां 2.93 रुपये प्रति लीटर की कमी आ गई है, वहीं डीजल के दाम 2.72 रुपये प्रति लीटर कम हो गए हैं। नए रेट तत्काल प्रभाव से लागू हो गए हैं।

वहीं छत्तीसगढ़ सरकार ने केंद्र सरकार की सलाह को नकारते हुए वैल्यू एडिड टैक्स (VAT) की दरों में कमी करने से मना कर दिया है। राज्य सरकार द्वारा कहा गया है कि उनके राज्य में डीजल-पेट्रोल पर लगा VAT पहले से बाकी राज्यों के मुकाबले कम है।

तब वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि कटौती लोगों को राहत देने के लिए है क्योंकि पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे थे। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने राज्य सरकारों से पांच प्रतिशत वेट कम करने के लिए कहा था। प्रधान ने कहा था कि लोगों को राहत देने के लिए केंद्र सरकार 26,000 करोड़ रुपए का वहन कर रही है।

भोपाल के पेट्रोल दाम(diesel price petrol price in bhopal)पिछले कुछ दिनों में...
भोपाल पेट्रोल मूल्य = 74.77 रुपये / एलआर (हालिया मूल्य परिवर्तन की तारीख: शुक्रवार, 13 अक्टूबर, 2017)
भोपाल पेट्रोल मूल्य = 74.75 रुपये / लीटर (जैसा कि: गुरुवार, 12 अक्टूबर, 2017)
भोपाल पेट्रोल मूल्य = 74.82 रुपये / एलटीआर (जैसा कि: बुधवार, 11 अक्टूबर, 2017)
भोपाल पेट्रोल मूल्य = 74.7 9 रुपये / एलआरटी (जैसा कि: मंगलवार, 10 अक्टूबर, 2017)
भोपाल पेट्रोल मूल्य = 74.75 रुपये / लीटर (जैसा कि: सोमवार, 9 अक्टूबर, 2017)

ये बोले सीएम शिवराज सिंह चौहान:
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आमजन को बड़ी राहत देते हुये डीजल और पेट्रोल में लगने वाले वैट की दर में कमी करने की घोषणा की है। उन्होंने डीजल पर डेढ़ रूपये प्रति लीटर के अतिरिक्त अधिभार को भी समाप्त कर दिया है। यह दरें आज मध्यरात्रि से प्रभावशील होंगी।
वैट कम होने से डीजल प्रति लीटर जो पहले 63 रूपये 31 पैसे में मिल रहा था वह अब 59 रूपये 37 पैसे में मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आम जनता और किसानों की आवश्यकताओं और उन्हें राहत देने के उद्देश्य से पेट्रोल, डीजल के भावों में कमी का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि डीजल की कीमतें घटने से माल भाड़ा दरें भी कम होंगी। वस्तुएँ सस्ती होंगी।

 

चौहान ने बताया कि डीजल पर पाँच प्रतिशत वैट में कमी(diesel price petrol price rate cut by cm Shivraj singh chouhan) की गयी है। साथ ही डीजल पर लगने वाले अतिरिक्त अधिभार में प्रति लीटर एक रूपये पचास पैसे को खत्म कर दिया गया है।
उन्होंने बताया कि पेट्रोल पर भी लगने वाले वैट को तीन प्रतिशत कम कर दिया गया है।

इधर, पूर्व मंत्री एवं सांसद कमलनाथ ने पेट्रोल, डीजल में वेट् काम किये जाने को ऊट के मुंह मे जीरा बताया। नाथ ने ट्वीट किया है कि जनता की पेट्रोल-डीजल पर टैक्स से राहत की माँग को वर्षो से ठुकराती शिवराज सरकार ने केंद्र सरकार के दबाव में राहत तो दी लेकिन नाम मात्र की।
MP में पेट्रोल पर 31% वेट व 4₹ कर में मात्र 3% की,डीज़ल पर लगने वाले 27% वेट व 1.5₹ कर में मात्र 5% की कटौती,ऊँट के मुँह में जीरा समान है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned