शाम को 5 बजते ही लोगों ने बजाई थाली और ताली, जानिए क्या होती है साउंड थेरिपी


आइए जानते हैं साउंड थेरिपी क्या है?

By: Tanvi

Updated: 22 Mar 2020, 07:42 PM IST

कोरोना वायरस का प्रभाव इन दिनों बढ़ता ही जा रहा है। देश में लगातार बढ़ रहे मरीजों की संख्या को देखते हुए लोगों के मन में कोरोना को लेकर डर बढ़ता जा रहा है। इसी कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च को सुबह सात बजे से रात के नौ बजे तक जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था और पीएम मोदी ने शाम के पांच बजे सभी लोगों को अपने घर के खीड़की, दरवाजों और बालकनी में खड़े होकर पर आकर थाली आ ताली बजाने की अपील की थी और लोगों ने इस अपील को अपने प्रयासों से पूरा भी किया। लेकिन क्या आपको पता है प्रधानमंत्री मोदी ने ताली और थाली बजाने के लिये क्यों कहा, यदी नहीं तो आइए जानते हैं....

 

sound_therapy1.jpg

इसलिये पीएम मोदी ने की ताली, थाली बजाने की अपील

दरअसल, ताली और थाली बजाने से कोरोना का कोई लेना-देना नहीं हैं। इन दिनों लोगों में कोरोना को लेकर डर का माहौल बना हुआ है। इसी डर को कम करने के लिए ताली और थाली बजाने की बात प्रधानमंत्री ने की है। दरअसल रोग हो या शत्रु उससे जीत हासिल करने के लिए सबसे पहले हमारे इरादों को मजबूत होना जरूरी है। इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ताली बजाने के पीछे एक कारण उन लोगों का हौसला अफजाई करना, जो इस संकट की घड़ी में भी आम जन को सुरक्षित रखने के लिए काम कर रहे हैं। ताली और थाली बजाकर अपनी जान जोखिम में डालकर कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में जुटे डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ, मीडियाकर्मियों को धन्यवाद अर्पित करना है।

 

आइए जानते हैं साउंड थेरिपी क्या है?

नेशनल हेल्थ पोर्टल (NHP) के अनुसार सबसे ज्यादा लोग तनाव से परेशान होते हैं। तनाव ना तो गरीब देखती है और नाही अमीरी, देखती है। एजुकेटेड, नॉन-एजुकेटेड, पुरुष या महिला तनाव तो सबको प्रभावित करता है। तनाव की वजह से लोगों के फिजिकल हेल्थ और मेंटल हेल्थ दोनों पर बुरा व नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। तनाव को लेकर कहा जाता है कि तनाव कम करने के लिये साउंड थेपिपी बहुत मददगार साबित होती है।

माना जाता है कि, साउंड थेरिपी से वाइब्रेट होती है और बॉडी में वाइब्रेशन होने से शरीर में सकारात्मक बदलाव होते हैं। इससे ब्लड प्रेशर और सांस संबंधी बीमारी भी ठीक होती है। विब्रोकैस्टिक थेरिपी स्वास्थ्य में सुधार और तनाव को कम करने के लिए दिया जाता है। इस साउंड थेरिपी में संगीत और ध्वनि कंपन को सीधे शरीर तक पहुंचाया जाता है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि कैंसर से पीड़ित लोगों और सर्जरी से उभरने वाले लोगों में दर्द को कम करने के लिए विब्रोकैस्टिक थेरिपी दी जाती है।

साउंड थेरिपी के के लाभ हैं?

- इस थेरिपी से तनाव कम होता है मिजाज या मूड अच्छा रहता है।
- ब्लड प्रेशर नियंत्रित रह सकता है।
- कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है।
- कोरोनरी आर्टरीज डिजीज और स्ट्रोक का खतरा कम होता है अच्छी नींद आती है।

coronavirus Coronavirus treatment
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned