पीएमटी फर्जीवाड़े में सीबीआई के निशाने पर होंगे कुछ और रसूखदार

Deepesh Tiwari

Publish: Dec, 08 2017 08:17:12 (IST)

Bhopal, Madhya Pradesh, India
पीएमटी फर्जीवाड़े में सीबीआई के निशाने पर होंगे कुछ और रसूखदार

सीएम के पूर्व निज सचिव, पूर्व मंत्री और अफसरों के खिलाफ पेश हो सकती है पूरक चार्जशीट

सतेंद्र सिंह भदौरिया@भोपाल

व्यापमं महाघोटाले के पीएमटी-2012 फर्जीवाड़े में सीबीआई जल्द ही अदालत में पूरक चार्जशीट पेश कर सकती है। इसमें सीएम के पूर्व निज सचिव प्रेमचंद्र और उनकी बेटी, पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा और उनकी पुत्री तथा आईपीएस-आईएएस समेत 45 लोगों के नाम शामिल हैं।

सूत्रों के अनुसार सीबीआई दो बिन्दुओं के आधार पर यह पूरक चार्जशीट तैयार कर रही है। इसमें ओएमआर शीट में छेड़छाड़ और फर्जी परीक्षार्थियों के परीक्षा में बैठने को आधार बनाया जा रहा है। सीबीआई को तथ्य मिले हैं कि व्यापमं दफ्तर में बैठकर ओएमआर शीट में छेड़छाड़ की गई। इसमें जिन २३ छात्रों के नाम मिले हैं, उनमें सीएम के पूर्व निज सचिव प्रेमचंद्र, पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा की बेटी भी है। एेसे प्रमाण भी मिले हैं कि परीक्षा में कुछ छात्रों की जगह नाम और पता बदलकर अन्य को बैठाया गया। सीबीआई की हाल ही में पेश हुई चार्जशीट में इंजन-बोगी के पैटर्न पर हुए फर्जीवाड़े को शामिल किया था।

इस तरह के हैं आरोप

लक्ष्मीकांत शर्मा, पूर्व मंत्री : आरोप है कि इन्होंने पद का दुरुपयोग कर अपनी बेटी को पीएमटी में दाखिला दिलाने के लिए व्यापमं के रिकॉर्ड में हेरफेर कराया। इन आरोपों का परीक्षण किया जा रहा है।
प्रेमचंद्र, पूर्व सचिव सीएम आरोप है कि इनके कहने पर व्यापमं में बेटी की ओएमआर शीट में छेड़छाड़ की गई। इस बारे में मिले सबूतों का परीक्षण किया जा रहा है।

आरके शिवहरे, आईपीएस : अपनी बेटी और दामाद का मेडिकल कॉलेज में दाखिला कराने के लिए अनुचित तरीके इस्तेमाल किए। सीबीआई इसका परीक्षण कर रही है।

रमाकांत द्विवेदी, ज्वाइंट रेवेन्यू कमिश्नर : आरोप है कि इन्होंने पीएमटी में कई नजदीकी लोगों के दाखिले करवाए। एसटीएफ की जांच में इनके घर करोड़ों रुपए नकदी और ज्वैलरी बरामद हुई थी।

सूत्रों के अनुसार सीबीआई को व्यापमं दफ्तर में बैठकर ओएमआर शीट में छेड़छाड़ के तथ्य मिले हैं। इसमें जिन २३ छात्रों के नाम मिले हैं, उनमें कहा जा रहा है कि सीएम के पूर्व निज सचिव प्रेमचंद्र, पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा की बेटी भी हैं। वहीं ऐसे भी प्रमाण मिले हैं जिन्हें देखकर ऐसा लगता है कि परीक्षा में कुछ छात्रों की जगह नाम और पता बदलकर अन्य को बैठाया गया। सीबीआई की हाल ही में पेश हुई चार्जशीट में इंजन-बोगी के पैटर्न पर हुए फर्जीवाड़े को शामिल किया था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned