चुनाव में इन 6 हजार प्रभावशाली लोगों पर रखी जा रही है नजर, जानिये कौन हैं ये...

चुनाव में इन 6 हजार प्रभावशाली लोगों पर रखी जा रही है नजर, जानिये कौन हैं ये...

Deepesh Tiwari | Publish: Oct, 14 2018 10:07:15 AM (IST) | Updated: Oct, 14 2018 10:07:16 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

मतदान प्रभावित करने वाले असामाजिक तत्व चिंहित...

भोपाल@अशोक गौतम की रिपोर्ट...

चुनाव के दौरान प्रदेश के 6 हजार प्रभावशाली लोगों पर पुलिस और प्रशासन की नजर रहेगी। पुलिस प्रशासन ने इन लोगों को मतदान प्रभावित करने वाले असामाजिक तत्वों के रूप में चिंहित किया है। पुलिस ने इन लोगों के वर्तमान और पुराने आपराधिक रिकार्डों की रिपोर्ट तैयार कर आयोग को भेज दी है।

लोगों को मतदान से रोकने, किसी एक प्रत्याशी अथवा पार्टी के पक्ष में वोट करने के लिए मतदाताओं पर दबाव बनाने वाले असामाजिक तत्वों की गतिविधियों पर पुलिस निरंतर नजर रख रही है। ये लोग जिन क्षेत्रों में रह रहे हैं वहां के स्थानीय लोगों से उनकी गतिविधियों के संबंध में जानकारी भी ली जा रही है।

अगर ये प्रभावशाली लोग मतदाताओं पर किसी तरह से दबाव बनाते हुए पाए जाते हैं तो उनके खिलाफ जिला बदर, पुलिस हिरासत सहित अन्य कार्रवाई की जा रही है। हालांकि उन लोगों को अभी पुलिस और प्रशासन द्वारा समझाइश दी जा रही है कि वह मतदाताओं पर किसी तरह से दबाव न बनाएं।

इसके साथ ही उन्हें यह भी हिदायत दी जा रही है कि अगर मतदान प्रभावित करने की कोशिश किया तो उन पर सजा और जुर्माना किया जाएगा। पुलिस और प्रशासन प्रभावशाली लोगों तक यह संदेश स्थानीय लोगों के माध्यम से पहुंचा रहा है। पुलिस स्थानीय लोगों के माध्यम से उनकी हर दिन रिपोर्ट भी ले रही है। जिन क्षेत्रों में यह लोग रह रहे हैं वहां नामांकन पत्र दाखिल होने के बाद पुलिस बल भी तैनात किए जाएंगे।

प्रदेश में 3500 वनरेवल क्षेत्र
पुलिस ने प्रदेश में 3500 वनरेवल क्षेत्र चिंहित किया है। इन क्षेत्रों में चुनाव के दौरान अक्सर लड़ाई-झगड़े, मार-पीट होती रहती है। लोग इन मतदान केन्द्रों के आस-पास जमा होकर मतदान प्रभावित करने की कोशिश भी करते हैं। सबसे ज्यादा वनरेवल क्षेत्र चंबल, ग्वालियर और रीवा संभाग में चिंहित किए गए हैं।

इन क्षेत्रों में अतिरिक्त पुलिस बल के अलावा, केन्द्रीय रिर्जव पुलिस बल और पैरामिलिट्री फोर्स भी तैनात किए जाएंगे। इसके अलावा यहां के लोगों में निर्भय होकर मतदान करने के लिए पुलिस की फ्लैग मार्च, सहित नियमित पुलिस के वाहन भ्रमण करेंगे।

15 हजार 692 मतदान क्रिटिकल
प्रदेश में 15 हजार 692 मतदान केन्द्र क्रिटिकल घोषत किए गए हैं। इन मतदान केन्द्रों पर अतिरिक्त पुलिस बल की व्यवस्था की जाएगी। इन मतदान केन्द्रों के आस-पास भी पुलिस बल तैनात किए जाएंगे।

होगी वीडियोग्राफी
इन मतदान केन्द्रों की वीडियोग्राफी की जाएगी। इनमें से जो मतदातन केन्द्र मोबाइल नेटवर्क के अंदर हैं उनका लाइव प्रसारण और रिपोटिंग की जाएगी।

जिनमें मोबाइल नेटवर्क नहीं है उन्हें वायरलेस नेटबर्क से जोडऩे के प्रयास किए जाएगा। लेकिन जहां वायरलेस नेटवर्क की व्यवस्था भी नहीं हो पाएगी, वहां पुलिस की तीन टीमें बनाई जाएंगी, जो रनर का काम करेगी। यह टीम जिन मतदान केन्द्रों में मोबाइल नेटवर्क रहेगा वहां तक सूचना पहुंचाने का काम करेगी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned