Breaking News : पुलिस ने छुडवाए 41 बच्चे, मानव तस्करी का संदेह

Breaking News : पुलिस ने छुडवाए 41 बच्चे, मानव तस्करी का संदेह

Deepesh Tiwari | Publish: May, 21 2019 03:21:17 PM (IST) | Updated: May, 21 2019 05:04:59 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

आदिवासी हॉस्टल श्यामला हिल्स में रखा गया बच्चों को

भोपाल। क्राइम ब्रांच और बाल कल्याण समिति ने लगभग 41 बच्चों को छुडवाया है। पुलिस को मानव तस्करी का संदेह है। बताया जा रहा है कि इन 41 बच्चों में से 13 बच्चियां है। ये बच्चे हैदराबाद,कानपुर के बताए जा रहें है। मानव तस्कर इन्हें कहां लेकर जा रहे थे अभी तक इसके बारे में जानकारी नहीं हो पाई हैंं। सभी बच्चों को आदिवासी हॉस्टल श्यामला हिल्स में रखा गया है।

पुलिस कर रहीं जांच...
मानवतस्कर इन बच्चों को कहां लेकर जा रहें थे और बच्चे किस शहर के है पुलिस इन सभी बिदुओं की जांच कर रही है। पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही इस संबंध मेें खुलासा किया जाएगा।

 

6 माह पहले हुआ था गिरोह का पर्दाफाश
लगभग 6 माह पहले जीआरपी भोपाल ने मानव तस्करी के साथ मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया था। चार सदस्यीय इस गिरोह में राजस्थान की एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भी शामिल थी। मानव तस्करी के तार तीन राज्यों से जुड़े थे। इस गिरोह के 11 आरोपी पहले भी पकड़े जा चुके हैं। यह गिरोह तीन साल में 16 महिलाओं को नागपुर और मप्र से ले जाकर राजस्थान में बेच चुका था। बेची गई महिलाओं को राजस्थान के धनाढ्य और बड़े घरानों में शादी कराने का प्रलोभन दिया गया था। यह खुलासा प्रेस वार्ता के दौरान एसपी रेल मनोज राय ने दी थी।

 

एसपी ने बताया था कि सुरक्षा के मद्देनजर बदमाशों की धरपकड़ के लिए जीआरपी का अभियान चल रहा था। इस अभियान के दौरान पुलिस को सूचना मिली कि भोपाल रेलवे स्टेशन पर एक युवक 10 किलो गांजे के साथ पहुंचने वाला है। हुलिए के आधार पर पुलिस ने दो युवकों को दबोचा था। कब्जे से 10 किलो गांजा मिला था। पुलिस दोनों को पकड़कर थाने ले गई थी, जहां पूछताछ के दौरान उन्होंने अपना नाम राजू उर्फ आत्माराम निवासी वनदेवी चौक नागपुर और दूसरे ने हसन खैराती निवासी हमीद नगर नागपुर बताया था। दोनों युवक महिलाओं की खरीद फरोख्त में भी शामिल मिले थे।


शादी का प्रलोभन देकर ले जाते थे
पूछताछ में बताया गया कि वे राजगढ़ और नागपुर से महिलाओं को बड़े घरों में शादी कराने का प्रलोभन देते थे। गिरोह ऐसी महिलाओं को खोजते थे जो पति की प्रताडऩा से त्रस्त होती थीं। गिरोह इन महिलाओं को फंसाता फिर राजस्थान में ले जाकर ऐसे जिलों में बेच देता था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned