BREAKING: सिंहस्थ के सिपाहियों को 2 साल बाद मिला मेहनत का फल, इन्हें मिलेंगे 5 करोड़

सरकार ने पुलिस मुख्यालय को इनाम की 5 करोड़ की राशि दे दी है, जिसे जल्द ही पुलिसकर्मियों में वितरित किया जाएगा।

By: rishi upadhyay

Published: 07 Jun 2018, 06:08 PM IST

भोपाल। लगता है कि चुनाव से पहले सरकार सारे पेंडिंग पड़े कामों को निपटा लेना चाहती है, खासकर उन कामों को जिनके लिए उसने बढ़ चढ़कर बड़ी बड़ी घोषणाएं की थीं। ऐसी ही बड़ी घोषणाओं में से एक दो साल पहले की गई थी, जब सिंहस्थ-2016 के लिए पुलिसकर्मियों को उनकी ड्यूटी के लिए इनाम देने की बात कही गई थी। उज्जैन महाकुंभ के सफलतापूर्वक सम्पन्न होने के बाद सरकार की ओर से कहा गया था कि उज्जैन में आयोजित सिंहस्थ-2016 महाकुंभ में ड्यूटी करने वाली पुलिसकर्मियों को उनकी सेवा के लिए नकद इनाम, मेडल और प्रशंसा पत्र दिया जाएगा। दो साल बीत गए, लेकिन न तो कोई प्रोत्साहन राशि आई और न ही उसके मिलने की उम्मीद। अब भी उज्जैन सिंहस्थ-2016 में ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मी, सरकार द्वारा दिए जाने वाले इनाम का इंतजार ही करते रह गए।

 

अब जबकि ज्यादातर पुलिसकर्मी ऐसे किसी इनाम को भूल चुके थे, अचानक सरकार की ओर से 5 करोड़ रुपए की राशि मध्यप्रदेश के उन पुलिसवालों के लिए जारी हो गई है, जिन्होंने उज्जैन महाकुंभ 2016 में मुस्तैदी से ड्यूटी की थी। खबर आई है कि 2 साल के लंबे इंतजार के बाद 10 हजार पुलिस कर्मचारियों को सिंहस्थ मेला-2016 में ड्यूटी करने का इनाम दिया जाएगा। 2 साल के बाद आखिरकार सरकार ने पुलिस मुख्यालय को इनाम की 5 करोड़ की राशि दे दी है, जिसे जल्द ही पुलिसकर्मियों में वितरित किया जाएगा।

 

सरकार ने यह किया था ऐलान
सरकार की ओर से जारी नोटिफिकेशन में कहा गया था कि सिंहस्थ की व्यवस्थाओं में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभाने वाले पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों को सरकार तोहफा देगी। सीएम की मंशा के अनुरूप जल्द ही सरकारी नोटिफिकेशन जारी कर सिंहस्थ में तैनात पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों को सिंहस्थ 2016 का मेडल देगी। इस मेडल के साथ प्रंशसा पत्र और करीब पांच हजार रुपए का नगद पुरस्कार भी दिया जाएगा।

 

इसी के साथ यह भी कहा गया था कि सिंहस्थ में ड्यूटी करने का फायदा पुलिसकर्मियों को रिटायरमेंट तक मिलेगा। उस समय सिंहस्थ सुरक्षा पर्यवेक्षक एडीजी एसएल थाउसेन ने कहा था कि बताया कि पीएचक्यू स्तर पर सिंहस्थ ड्यूटी पर तैनात पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों की एसीएल यानी सर्विस रिकॉर्ड में सिंहस्थ ड्यूटी को दर्ज किया जाएगा। इस ड्यूटी का लाभ पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों को प्रमोशन और ट्रांसफर में जरूर मिलेगा।

 

हालांकि यह बात अलग है कि सिंहस्थ खत्म होने और सरकार के ऐलान के महीनों बाद भी कई जिलों में ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मियों का नोटीफिकेशन तक नहीं हो पाया है। दरअसल नोटीफिकेशन के बाद ही पुलिसकर्मियों को इनाम वितरित होना था, लेकिन विभाग का यह काम सुस्ती की भेंट चढ़ता चला गया। और समय के साथ पुलिसकर्मियों को भी इनाम मिलने की आस भी कमजोर पड़ती गई। बहरहाल अब इनाम जारी कर दिया गया है और जल्द ही सिंहस्थ के सिपाहियों को उनकी मेहनत का फल मिलने के आसार नजर आने लगे हैं।

Show More
rishi upadhyay
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned