#CoronaWarriors: इस पुलिसकर्मी को देखते ही लग जाता है बेजुबानों का हुजूम,अपने हाथों से खिलाते है खाना,देखें वी​डियो

मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ राज्य सीमा स्थित करंजिया थाना में पदस्थ हेड कांस्टेबल आनंद मोहन मिश्रा ने की सराहनीय पहल

By: Amit Mishra

Published: 09 Apr 2020, 10:02 AM IST

भोपाल। देश में लॉक डाउन होने से न केवल इंसानों को बाल्कि जानवरों को भी कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सड़क मार्ग से आम आदमी की आवाजाही बंद होने से जगलों मेें रह रहे जानवरों को भूखा रहना पड़ रहा है। बेजुबान जानवर के इस दर्द को समझते हुए मध्यप्रदेश के डिंडौरी जिले के करंजिया थाना के हेड कांस्टेबल आनंद मोहन मिश्रा ने लॉक डाउन तक इन बेजुबान जानवरों ख्याल रखने का फैसला लिया है। मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ राज्य सीमा स्थित करंजिया थाना में पदस्थ हेड कांस्टेबल आनंद मोहन मिश्रा सैकड़ों भूखे बंदरों के लिये फल और बिस्किट और खाना आदि लेकर रोज जंगल जाते हैं और बंदरों को अपने हाथ से खिलाते भी हैं।

 

बंदरों का हुजूम लग जाता है
लॉकडाउन के बाद बंदर और हेड कांस्टेबल के बीच ऐसा रिश्ता बन गया है कि उन्हें देखते ही बंदरों का हुजूम लग जाता है। दरअसल करंजिया से नर्मदा उद्गम स्थल अमरकंटक की दूरी महज 15 किलोमीटर है और करंजिया से अमरकंटक तक काफी घना जंगल पड़ता है।

अपने हाथों से खिलाते है
लॉकडाउन के पहले अमरकंटक जाने वाले पर्यटक बंदरों को फल बिस्किट व चने खाना आदि खिला देते थे लेकिन लॉकडाउन के चलते पर्यटन बंद हो गया और बेचारे बंदर भूखे रहने लगे ऐसे में बार्डर ड्यूटी से लौट रहे हेड कांस्टेबल ने बंदरों का पेट भरने का फैसला लिया और लॉकडाउन के बाद से पुलिस का यह जवान रोज अपने पैसों से बंदरों के लिये फल और बिस्किट लेकर जंगल जाते है और भूखे बंदरों को अपने हाथों से खिलाते हैं।

Amit Mishra
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned