धनप्रसाद की मौत पर राजनीति शुरु, सीएम कमलनाथ ने जताया शोक, भाजपा बोली पुलिस लापरवाह

— सागर के दलित युवक धन प्रसाद अहिरवार की दिल्ली में मौत
— एयर एंबुलेंस से दिल्ली के अस्पताल में किया था भर्ती

मध्य प्रदेश के सागर जिले का रहने वाला दलित युवक धन प्रसाद अहिरवार की दिल्ली में इलाज के दौरान मौत हो गई। जानकारी के अनुसार, गुरुवार (23 जनवरी) को उसकी मौत दिल्ली के सफदरगंज हॉस्पिटल में हुई। इस दलित युवक का सागर में अपने पड़ोसियों से किसी मुद्दे पर झगड़ा हो गया था। इस मामले में एससी एसटी एक्ट में एक मामला दर्ज किया गया है। घटना के सामने आने के बाद बाद एमपी में राजनीतिक दलों ने काफी हंगामा किया था। बीजेपी नेताओं ने आरोप लगाया था कि सरकार दोषियों को बचाने का प्रयास कर रही है।

एयर एंबुलेंस से दिल्ली लाया गया था युवक
इस घायल दलित युवक को सागर जिले के अयोध्या बस्ती में जिंदा जलाने का प्रयास किया गया था। एमपी सरकार ने घायल युवक को 21 जनवरी को एयर एंबुलेंस से ले जाकर सफदरजंग हॉस्पिटल में भर्ती कराया था।

@OfficeOfKNath
सागर निवासी युवक धनप्रसाद अहिरवार की दिल्ली में इलाज के दौरान दुःखद मृत्यु का समाचार प्राप्त हुआ।
परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ।
दुःख की इस घड़ी में परिवार के साथ सरकार खड़ी है।
परिवार की हर संभव मदद के निर्देश।

सीएम कमलनाथ ने जताया शोक
इसकी जानकारी मिलने के बाद एमपी के सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर परिवार के प्रति शोक संवेदनाएं जताई है। कमलनाथ ने अपने ट्वीट में कहा है कि दुःख की इस घड़ी में परिवार के साथ सरकार खड़ी हैं परिवार की हर संभव मदद के निर्देश दिए गए हैं।

परिजनों का आरोप, राजीनामा करने के लिए था दबाव
मृत युवक के परिजनों ने आरोप लगाया था कि आरोपी राजीनामा करने के लिए उन पर दबाव बना रहे हैं।सागर शहर के धर्म बाबा अम्बेडकर कॉलोनी में रहने वाले धनीराम अहिरवार को जिंदा जला दिया गया था। जानकारी के अनुसार, आरोपियों ने उसके परिवार से मारपीट करते हुए धनीराम को घेर लिया और उसे आग लगा दी थी. इस मामले में सागर की मोतीनगर पुलिस ने मामला दर्ज किया है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी छुट्टू, अज्जू, कल्लू और इरफान के खिलाफ धारा 294, 323, 452, 307, 34 और एससीएसटी एक्ट में केस दर्ज किया था।

बीजेपी ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, दिग्गी राजा ने जताया अफसोस
इस घटना के सामने आने के बाद जहां बीजेपी ने कमलनाथ सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। वहीं एमपी के पूर्व सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्गविजय सिंह ने इस तरह की घटनाओं की कड़ी नि्ंदा की थी। सिंह ने अपने ट्वीट में आज के दौर में भी इस तरह की मानसिकता पर दुख प्रकट किया था। साथ ही सिंह ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी।

harish divekar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned