population drawbacks: जनसंख्या बढ़ने से वाहन बढ़े तो सड़क दुर्घटनाओं में भी हुई वृद्धि

population drawbacks: जनसंख्या बढ़ने से वाहन बढ़े तो सड़क दुर्घटनाओं में भी हुई वृद्धि
Population of Madhya Pradesh 2019

Manish Geete | Updated: 11 Jul 2019, 11:50:46 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

मध्य प्रदेश ( madhya pradesh ) में लगातार सड़क हादसों ( road accident ) में इजाफा हो रहा है। इसका कारण जनसंख्या वृद्धि ( population growth ) है।

भोपाल। मध्य प्रदेश ( madhya pradesh ) में लगातार सड़क हादसों ( road accident ) में इजाफा हो रहा है। इसका कारण जनसंख्या वृद्धि ( population growth ) है। जनसंख्या बढ़ने से वाहनों की संख्या बढ़ रही है, इस कारण एक्सीडेंट के मामले भी बढ़ रहे हैं। यह तर्क मध्यप्रदेश के गृहमंत्री ( home minister of mp ) बाला बच्चन ने दिया है।

 

मध्यप्रदेश में बढ़ती हुई जनसंख्या एक्सीडेंट के मामले बढ़ने का प्रमुख कारण है। मध्यप्रदेश के गृहमंत्री बाला बच्चन ( bala bachchan ) भाजपा विधायक कमल पटेल के सवाल के लिखित जवाब में यह तर्क देते हैं।

गृहमंत्री कहते हैं कि मध्यप्रदेश में साढ़े छह माह में सड़क हादसे में 6567 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। जनसंख्या और वाहनों की वृद्धि इसका कारण है। इतना ही नहीं 23 जिलों के 81 लोग ओवरलोड डंपरों के कारण मौत का शिकार हुए हैं।

 

71 किसानों ने की आत्महत्या
विधानसभा के सवालों में किसानों की आत्महत्या के मामले भी सामने आए हैं। एक दिसंबर 2018 से 12 जून 2019 तक 71 किसानों ने मौत को गले लगाया है। इनमें सबसे ज्यादा सागर में 13 और सीधी में 14 किसानों ने खुदकुशी की है।

 

लगातार बढ़ रही है जनसंख्या
हाल ही में आए आर्थिक सर्वेक्षण की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि मध्यप्रदेश की जनसंख्या लगातार बढ़ रही है। देश में सबसे अधिक बिहार की जनसंख्या बढ़ रही है।
-जन राज्यों में शिक्षा सुधर रही है और स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर हो रही हैं वहां आबादी घट रही है। लेकन, पिछड़े राज्यों की स्थिति में अगले 20 सालों के बाद भी ज्यादा सुधार होने के आसार नहीं दिख रहे हैं। हाल ही में संसद में पेश किए गए आर्थिक सर्वेक्षण के आंकड़ों में चौंकाने वाली तस्वीर नजर आती है। जनसंख्या स्थिरीकरण के लिए अच्छा कार्य करने वाले राज्यों में आबादी तेजी से घट रही है। लेकिन अन्य राज्यों के साथ ही मध्यप्रदेश जैसे राज्यों की स्थिति में सुधार नहीं हो रहा है।

 

मध्यप्रदेश के शहरों की जनसंख्या
इंदौर 2,167,447
भोपाल 1,883,381
जबलपुर 1.267,564
ग्वालियर 1,101,981
उज्जैन 515,215
सागर 370,296
देवास 289,438
सतना 283,004
रतलाम 273,892
रीवा 235,422

 

राज्य आबादी वर्ष 2041
उत्तर प्रदेश 26.90 करोड़
बिहार 15.34 करोड़
महाराष्ट्र 12.76 करोड़
प. बंगाल 10.42 करोड़
मध्यप्रदेश 9.49 करोड़

 

यह है देश की जनसंख्या
सन् 2011 की जनगणना के मुताबिक भारत देश की जनसंख्या 1210193422 है। इसका मतलब यह है कि भारत ने एक अरब के आंकड़े को पार कर लिया है। यह चीन के बाद दुनिया का सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश बन गया है।
-ऐसा ही चलता रहा तो भारत सन 2025 तक चीन को भी पछाड़ देगा। अध्ययनों के मुताबिक आबादी का वास्तविक स्थिरीकरण 2050 तक हो पाएगा।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned