जेलों में बढ़ते संक्रमण से कोरोना फैलने की आशंका

चार हजार बंदियों को रिहा करने की तैयारी

अंतरिम जमानत पर होगी रिहाई

 

By: Arun Tiwari

Published: 23 May 2021, 05:45 PM IST

भोपाल : कोरोना संक्रमण को देखते हुए कैदियों से ठसी जेलों को थोड़ा खाली किया जा रहा है। प्रदेश की जेलों में क्षमता से दोगुने कैदी भरे हुए हैं। 4200 कैदियों को पैरोल पर रिहा किया गया है। अब करीब चार हजार बंदियों को रिहा करने की तैयारी की जा रही है। वे विचाराधी कैदी जिनको सात साल से कम की सजा हो सकती है उनको अंतरिम जमानत पर रिहा किया जा सकता है। प्रदेश की जेलों में बंद ऐसे बंदियों को अंतरिम जमानत के लिए अदालत में आवेदन लगाए जा रहे हैं। इनकी रिहाई के बाद जेलों में बंदियों की संख्या 50 हजार से घटकर करीब 40 हजार हो जाएगी।

संक्रमितों का आंकड़ा 500 पार :
जेलों में संक्रमितों का आंकड़ा 500 पार हो गया है। इनमें 350 से ज्यादा कैदी तो डेढ़ सौ से ज्यादा जेलकर्मी शामिल हैं। कोरोना कफ्र्यू के बाद भी छोटे-छोटे अपराधों में लोगों को जेल भेजने का सिलसिला चल रहा है। इससे हालात बिगडऩे की आशंका है। नई आमद वालों की आरटीपीसीआर जांच कराई जा रही है साथ ही उनको 14 दिन के लिए क्वारंटीन भी किया जा रहा है।

भोपाल जेल से सबसे ज्यादा रिहा :
भोपाल सेंट्रल जेल से सबसे ज्यादा 800 बंदियों को पैरोल पर छोड़ा गया है। वहीं अंतरिम जमानत पर रिहा होने वाले इस जेल के कैदियों की संख्या ज्यादा रहेगी। भोपाल जेल में 2700 बंदियों को रखने की क्षमता है जबकि यहां पर 4 हजार से ज्यादा बंदी हैं। पिछले साल भी सात साल से कम सजा वाले करीब तीन हजार बंदियों को अंतरिम जमानत पर रिहा किया गया था जिनमें से अधिकांश को अदालत से स्थाई जमानत मिल गई। प्रदेश की 131 जेलों में 46 हजार से ज्यादा बंदी हैं।

Arun Tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned