घाटा कम करने के लिए भोपाल में अब ये खास रणनीति अपना रही है बिजली कंपनी

प्रयोग सफल होने पर अन्य सर्कल में करेंगे लागू

भोपाल. विद्युत वितरण व्यवस्था निजी हाथों में सौंपने की तैयारी है। फिलहाल मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के 16 सर्कल में से तीन का जिम्मा निजी एजेंसियों को दिया जाएगा। ये सर्कल कौन से हैं, ये अभी तय नहीं हुआ है। सूत्रों के मुताबिक भोपाल या भोपाल संचारण-संधारण वृत्त निजी हाथों में जा सकता है। हालांकि अफसरों का कहना है कि छोटे शहरों के सर्कल निजी एजेंसियों को दिए जाएंगे। प्रयोग सफल होने पर इसे अन्य सर्कल में लागू करेंगे।
बिजली का जिम्मा निजी एजेंसियों को सुपुर्द करने की कवायद पहले भी की गई थी। राजधानी में भानपुर-करोंद, चांदबड़ से जुड़े दो जोन निजी एजेंसी को दिए थे। हालांकि ये व्यवस्था सफल नहीं हुई और ठेका एजेंसी को डिफाल्टर घोषित किया गया। इसके बाद प्रदेश के कुछ शहरों की बिजली व्यवस्था निजी हाथों में देने की कवायद की गई, लेकिन कंपनियां आगे नहीं आईं। अब सर्कल को निजी एजेंसियों को सौंपने की तैयारी है। ऐसा बिजली के नए केंद्रीय एक्ट के तहत किया जा रहा है। इसके पीछे बताई जा रही वजह ये है कि निजी एजेंसियों को लाभ वाले क्षेत्रों का जिम्मा दिया जाए, ताकि बिजली कंपनी को निजी भागीदार मिल सकें।

बिजली कंपनी करेगी मॉनीटरिंग
पॉवर इंजीनियर्स एसोसिएशन के संरक्षण व पॉवर मैनेजमेंट कंपनी के महाप्रबंधक वीकेएस परिहार का कहना है कि निजी कंपनी को बिजली आपूर्ति, लाइन रखरखाव आदि कार्य करने होंगे। इसमें उपभोक्ताओं की शिकायतों का निराकरण समेत वे सभी कार्य शामिल हैं, जो अभी बिजली कंपनियां कर रही हैं। बिजली कंपनी और ऊर्जा विभाग मॉनीटरिंग एजेंसी के तौर पर रहेगा।

लगातार बढ़ रहा घाटा
मुफ्त और सस्ती बिजली देने की योजनाओं और बिजली लॉस कम करने के उपाय सफल नहीं होने से बिजली कंपनियों को घाटा हो रहा है। केंद्रीय बिजली एक्ट में बिजली के क्षेत्र में निजी भागीदारी बढ़ाने का प्रावधान है। ऐसे में निजीकरण की ओर कदम बढ़ाए जा रहे हैं। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को शासन से करीब सात हजार करोड़ रुपए लेने हैं। अन्य कंपनियों की भी कमोबेश यही स्थिति है।

रविकांत दीक्षित
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned