बिजली कटौती पर फिर बवाल, भाजपा ने लालटेन यात्रा निकाल किया विरोध

बिजली कटौती पर फिर बवाल, भाजपा ने लालटेन यात्रा निकाल किया विरोध

KRISHNAKANT SHUKLA | Updated: 12 Jun 2019, 12:56:05 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

बिजली कटौती पर कैबिनेट में बवाल, कमलनाथ ने मंत्रियों से कहा- सतर्क रहो, सख्त कदम उठाओ
लालटेन-चिमनी यात्रा एवं सरकार जागरण यात्रा निकाल कर कांग्रेस सरकार का विरोध प्रदर्शन करेगी भाजपा

भोपाल. कैबिनेट बैठक में प्रदेश में बिजली कटौती पर मचे बवाल का असर नजर आया। अनौपचारिक चर्चा में वित्त मंत्री तरुण भनोत ने दमोह में बिजली आंदोलन का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा, पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया ने जो आंदोलन किया, उसके लिए बिजली के तारों पर तार डालकर बिजली गुल की गई। लगातार बिजली समस्या को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंत्रियों से सतर्क रहने और सख्त कदम उठाने का निर्देश दिया है।

लालटेन-चिमनी यात्रा निकाल भाजपा करेगी विरोध प्रदर्शन

अघोषित बिजली कटौती को लेकर आज लिलि सिनेमा से पुलिस मुख्यालय तक भाजपा देर शाम राजधानी भोपाल में लालटेन-चिमनी यात्रा एवं सरकार जागरण यात्रा निकाल कर कांग्रेस सरकार का घेराव करेगी। भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह और संगठन महामंत्री सुहास भगत ने निर्णय लिया है कि अघोषित बिजली कटौती पर गूंगी बहरी व अकर्मण्य सरकार के विरोध में लालटेन यात्रा के साथ ढोल मंजीरे बजाकर सरकार को जगाया जाएगा।

कांग्रेस सरकार के खिलाफ साजिश

इसके पहले तार तोड़कर बिजली गुल कराने के मामले में FIR के निर्देश दिए गए हैं। विधि मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि यह कांग्रेस सरकार के खिलाफ साजिश है। कटौती का माहौल बनाने यह सब किया जा रहा हे। बैठक में बिजली कटौती की कथित साजिश करने वाले दो व्यक्तिओं के ऑडियो का जिक्र भी आया। इस पर शर्मा ने कहा- आडियो के बाद अब दमोह की घटना साजिश के खुलासे का दूसरा प्रमाण है। सीएम कमलनाथ ने कहा कि प्रकरण की जांच कराई जाए। मंत्रियों ने कहा, भाजपा और भी इलाकों में सरकार को बदनाम करने के लिए इस तरह के हथकंडे अपना सकती है।

बिजली-पानी के लिए मंत्री ने दिया निर्देश

ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने बताया कि उन्होंने पूरे प्रदेश में निर्देश दिए हैं कि जहां भी गडबड़ी होती है, वहां एफआइआर कराई जाए। सीएम कमलनाथ ने मंत्रियों से कहा कि बिजली और पानी के इंतजामों को लेकर सभी सतर्क रहें। कहीं भी शिकायत मिले तो उस पर त्वरित कार्रवाई की जाए। पानी के परिवहन को लेकर भी पर्याप्त इंतजाम करने के लिए कहा गया।

यह है मामला

10 जून को रात 10.45 बजे दमोह में ग्रामीण फीडर में जान-बूझकर 22 गांव की बिजली आपूर्ति बाधित गई। जब हंगामा मचा तो 11.45 बजे फीडर चालू कर दिया गया। आरोप है कि सुबह इसे लेकर भाजपा ने मलैया की अगुवाई में आंदोलन किया।

मंत्रियों ने कहा...ऐसे प्रावधान हों, जिससेे स्थानीय युवाओं को फायदा हो

बैठक में सीधी भर्ती में उम्र-सीमा का प्रस्ताव आया तो मंत्रियों ने अनेक सुझाव दिए। सीएम ने कहा, ऐसी नीति होनी चाहिए कि प्रदेशवासियों को ज्यादा रोजगार मिलें। मंत्रियों ने कहा कि भर्ती में स्थानीय भाषा का पेपर अनिवार्य किया जाए। एक ने कहा कि मध्यप्रदेश के ज्ञान पर एक पेपर रखा जाए। वहीं कुछ ने कहा, भर्ती में मूल निवासी की अनिवार्यता की जा सकती है। इन सुझावों पर सीएम ने कहा, सुप्रीम कोर्ट व संविधान की गाइडलाइन के खिलाफ कुछ नहीं कर सकते। इसके बाद महज प्रस्ताव उम्र-सीमा पर केंद्रित रखकर पास कर दिया गया।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned