दिल्ली में मिली भोपाल की 'लापता' सांसद, कमर की तकलीफ के कारण एम्स में भर्ती

दो दिन पहले भोपाल में लगे थो सांसद प्रज्ञा ठाकुर के लापता होने के पोस्टर, बीमारी का इलाज करा रही हैं दिल्ली एम्स में...।

By: Manish Gite

Published: 30 May 2020, 03:50 PM IST

भोपाल। भोपाल से सांसद प्रज्ञा ठाकुर के लापता होने के पोस्ट लगने के दूसरे ही दिन अब दिल्ली से खबर आ रही है कि वे एम्स में भर्ती हो गई हैं। बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य संबंधी समस्या के कारण वे काफी दिनों से दिल्ली में ही हैं। दो दिन पहले उनकी हालत ज्यादा खराब होने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

सूत्रों के मुताबिक प्रज्ञा ठाकुर के सिर, आंख और कमर में परेशानी के चलते उन्हें अस्पताल ले जाया गया था। डाक्टरों ने उनका मेडिकल परीक्षण के बाद उन्हें आराम करने की सलाह दी है।

 

पोस्टर वॉर : कमलनाथ,ज्योतिरादित्य सिंधिया के बाद अब सांसद प्रज्ञा ठाकुर हुईं गुमशुदा

 

हाल ही में लगे थे लापता होने के पोस्टर
दो दिन पहले ही कई स्थानों भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर के लापता होने के पोस्टर कई स्थानों पर लगे थे। यह पोस्टर कमलनाथ और नकुलनाथ को लापता होने के पोस्टर लगने के चंद दिनों बाद ही लगे थे। दोनों ही दल एक दूसरे पर पोस्टर वार छेड़ने के आरोप लगा रहे हैं।

 

प्रदेश में पहले भी लगे है पोस्टर
इसके पहले कांग्रेस से बीजेपी में शामिल पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरदित्य सिंधिया के लापता होने के पोस्टर इनाम राशि के साथ दर्शाते हुए जो की उन्ही के राजमहल के आसपास लगा दिए गए थे जिसमें कांग्रेस के युवा नेता पर प्रकरण दर्ज हुआ है, वही पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के विधानसभा क्षेत्र में ईनामी पोस्टर देखें गए थे जिन्हें कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हटा दिया था। इसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री ने छिंदवाड़ा दौरा किया है।

 

मंत्री पीसी शर्मा ने दिया था गुमशुदा होने वाला बयान
वही कुछ दिन पूर्व भी भोपाल में पूर्व मंत्री पीसी शर्मा द्वारा भोपाल सांसद के गुमशुदा होने वाला बयान आया था जिस पर हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा ने जबाव देते हुए बताया था की सांसद प्रज्ञा का इलाज दिल्ली एम्स में चल रहा है। लेकिन इनके बाद भी बार बार कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा उनकी गुमसुदगी पर सवाल उठाया जाता रहा है।

 

BJP
Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned