बिगड़े बोल : कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम का सीएम शिवराज पर हमला, कहा- मारीच, कंस और शकुनि का निचोड़ है ये मामा

कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम ने कहा- 'मारीच, कंस और शकुनि का निचोड़ है ये मामा'।

By: Faiz

Updated: 28 Oct 2020, 08:09 PM IST

भोपाल/ मध्यप्रदेश में जैसे जैसे उपचुनाव की तारीख नजदीक आ रही है, वैसे वैसे प्रदेश का चुनावी पारा बढ़ता जा रहा है। आरोप प्रत्योप के इस दौर में नेताओं की बदजुबानी लगातार सामने आ रही है। बदजुबानी की इसी पहरिस्त में अब कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम का नाम भी जुड़ गया है। दरअसल, उन्होंने अपने चुनावी भाषम के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तुलना कंस, शकुनि और मारीच से कर डाली। बता दें कि, इस सभा में राजस्थान के पूर्व उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट भी शामिल थे।

 

पढ़ें ये खास खबर- उपचुनाव के लिए भाजपा का संकल्प पत्र जारी, वीडियो में देखिये किस तरह खुला सौगातों का पिटारा


कृष्णम ने कही ये बात

मुरैना के जौरा में कांग्रेस प्रत्याशी के लिए प्रचार करने सभा को संबोधित करते हुए कृष्णम ने कहा- त्रेता में मामा मारीच हुए। द्वापर युग में कंस मामा का नाम रहा। इसके बाद शकुनि मामा ने छल और प्रपंच से पांडवों को बर्बाद कर दिया। तीनों मामाओं का कमीनापन निचोड़ दिया जाए, तो इससे मिलकर शिवराज मामा बनता है।

 

पढ़ें ये खास खबर- प्रत्याशी हो रहे कमर दर्द का शिकार, रोजाना सैकड़ों मतदाताओं के छूने पड़ते हैं पैर


15 साल बीत चुके लेकिन शिवराज की सत्ता की भूख खत्म नहीं हुई- प्रमोद कृष्णम

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने अपने भाषम के दौरान आगे कहा कि, पहला मामा मारीच, जिसने रूप बदलकर सीता माता का हरण कराया था। दूसरा मामा कंस, जिसने अपनी सत्ता को बचाने के लिए बहन के बच्चों को मार डाला था और तीसरा मामा शकुनि, जिसने छल-फरेब कर पांडवों का सर्वनाश करना चाहा था। इन तीनों मामाओं को मिला दिया जाए, तो मामा शिवराज बनता है। शिवराज ऐसे व्यक्ति हैं, जो 15 साल से मुख्यमंत्री रह चुके हैं, लेकिन इसके बाद भी उनकी सत्ता की भूख कम नहीं हुई है।

 

पढ़ें ये खास खबर- आखिर ऐसा क्या हुआ कि प्रेम विवाह के तीन महीने बाद ही पति ने पत्नी की बेरहमी से हत्या कर दी, हैरान कर देगा वीडियो


भाजपा ने दर्ज कराई शिकायत

भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल के मुताबिक, कांग्रेस के स्टार प्रचारक प्रमोद कृष्णन ने जो आपत्तिजनक और शर्मनाक भाषण मुरैना जिले में कांग्रेस के मंच से दिये हैं, वो निंदनीय है। अब कमलनाथ की जिम्मेदारी है कि, वो प्रदेश के भांजे-भांजियों से माफी मांगे। साथ ही, कृष्णम के प्रचार करने पर रोक लगाएं। भाजपा ने चुनाव आयोग से कृष्णम की शिकायत भी कर दी है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned