अगस्त में आने वाला था नन्हा मेहमान, पत्नी करती रह गई इंतजार और बिखर गई दुनिया

अगस्त में आने वाला था नन्हा मेहमान, पत्नी करती रह गई इंतजार और बिखर गई दुनिया

By: Ashtha Awasthi

Published: 24 Jul 2018, 01:27 PM IST

भोपाल। बीते दिन कोलार डेम पर हुए दर्दनाक हादसे की खबर ने सभी को हिला दिया। इस हादसे में भोपल शहर के छह घरों के चिराग बुझ गए। घटना की खबर घर तक पहुंचने के बाद से सभी के घरों में मातम पसरा हुआ है। इन छह अजीज दोस्तों में एक कुछ समय पहले ही सरकारी नौकरी में लगा था तो दूसरा एक महीने बाद ही पिता बनने वाला था। वहीं एक का रविवार को बर्थ डे था, जिसकी पार्टी करने के लिए सभी छह दोस्त कार से कोलार डेम गए थे।

पत्नी को करते रहते थे फोन

बताया जा रहा है कि मृतक रंजीत साहू के जीजा सुरेंद्र साहू ने लोगों को बताया कि रंजीत घर का दुलारा बेटा था। सवा साल पहले ही बीमारी से उसके पिता की मौत हुई थी और उसके दो माह पहले उसकी दादी की मौत हो गई थी जिसके बाद से रंजीत ही पूरे घर को संभालता था। वह एमपीऑनलाइन कियोस्क का काम करता था। कई दिनों से उसका काम अच्छा चल रहा था।

pregnant wife

एक साल पहले ही उसकी शादी सुल्तानपुर में हुई थी। रंजीत की पत्नी आठ माह की प्रेग्नेंट थी। अगस्त में वह पिता बनने वाला था। घर वालों का कहना है कि इस समय वह अपनी बीवी का बहुत ध्यान रख रहा था। हर एक घंटे में उसको फोन करके तबीयत के बारे में पूछता था। दोस्तों के साथ पार्टी करने जाने पर वह घर में बोलकर गया था कि कुछ देर में रात तर लौट आयेगा लेकिन फिर उसकी मौत की खबर ही घर आई।

भाई से हुई थी बात

हादसे में मृतक गौरव साहू के भाई राजू साहू ने बताया कि उन्हें किसी का नंबर गौरव से लेना था, जिसके लिए वह बार-बार गौरव को फोन कर रहा था। बात होने के बाद गौरव ने अपने भाई को नंबर तो दे दिया लेकिन बाद में लगातार फेन लगाने पर भी नहीं लगा। भाई राजू साहू ने बताया कि उन्होंने कवरेज एरिया से बाहर हो गया होगा। लेकिन रातभर गौरव का फोन नहीं लगा। कुछ देर बाद जब अन्य दोस्त को फोन लगया गया तो सभी के फोन स्विच ऑफ हो गया। बाद से थाने में जाकर इस बात की जानकारी दी गई।

 

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned