VIDEO: प्रियंका गांधी ने कहा- पीएम मोदी सबसे बड़े रक्षा विशेषज्ञ, सुनते ही हंसने लगे सीएम कमलनाथ

VIDEO: प्रियंका गांधी ने कहा- पीएम मोदी सबसे बड़े रक्षा विशेषज्ञ, सुनते ही हंसने लगे सीएम कमलनाथ

Pawan Tiwari | Publish: May, 14 2019 09:16:15 AM (IST) | Updated: May, 14 2019 09:18:21 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

प्रियंका गांधी सबसे पहले उज्जैन पहुंची और बाबा महाकाल के दर्शन किए।

 

भोपाल. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सोमवार को कांग्रेस उम्मीदवार पंकज संघवी के समर्थन में रोड शो और रैली करने के लिए इंदौर पहुंचीं थी। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी को देश का सबसे बड़ा रक्षा विशेषज्ञ बताया। प्रियंका गांधी ने कहा- ये इतने बड़े रक्षा विशेषज्ञ हैं कि इन्होंने खुद ही तय कर लिया कि कौन हवाई जहाज बनाएगा। इस दौरान मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ ही उनके साथ थे। प्रिंयका गांधी ने जैसे ही कहा कि प्रधानमंत्री देश के सबसे बड़े रक्षा विशेषज्ञ हैं वहां मौजूद सीएम कमलनाथ हंसने लगे।

आप रडार में आ गए हैं
रैली को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा- वह इतने बडे़ रक्षा विशेषज्ञ हैं कि उन्होंने सोचा कि मौसम क्लाउडी है और वह ऐसा काम करेंगे, तो रडार पर नहीं आयेंगे। लेकिन वह जनता के रडार पर आ गये हैं। चाहे बारिश का मौसम हो या खुली धूप हो, सब समझ गये हैं कि इनकी राजनीति की सचाई क्या है। इतने बडे़ रक्षा विशेषज्ञ हैं कि उन्होंने खुद तय कर लिया कि एक ऐसी कम्पनी जंगी जहाज बनायेगी जिसने इस तरह के विमान आज तक नहीं बनाये हैं। इस कम्पनी को जमीन दे दी गयी और ठेका भी दे दिया गया। सरकारी कम्पनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएल) से ये विमान नहीं बनवाये गये।

 

चौकीदार चोर है के लगे नारे
राफेल विमान सौदे पर प्रधानमंत्री को घेरते हुए प्रियंका ने कहा कि वह कहते थे कि भ्रष्टाचार खत्म करेंगे। फिर 30,000 करोड़ रुपये का राफेल घोटाला किसने कराया? प्रिंयका गांधी की सभा के दौरान "चौकीदार चोर है" के नारे लगते रहे। प्रियंका ने कहा- उन्होंने पाकिस्तान में बिरयानी भी खा ली। लेकिन वह पिछले पांच सालों में अपने ही संसदीय क्षेत्र वाराणसी में एक भी गरीब या किसान के घर नहीं गए। क्या आपने उन्हें एक भी आम देशवासी से गले मिलते देखा है?

पीएम मोदी ने की थी रडार की बात
पीएम मोदी ने शनिवार को एक साक्षात्कार में कहा था कि उन्होंने खराब मौसम के बावजूद पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी शिविरों पर भारतीय वायुसेना के मिशन को मंजूरी दी थी। यह विशेषज्ञों के सुझाव के विपरीत था, क्योंकि उनका (प्रधानमंत्री) का मानना था कि आसमान में बादल छाये रहने के कारण भारतीय लड़ाकू विमान पाकिस्तानी रडार के दायरे में नहीं आयेंगे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned