कांग्रेस संगठन में तेज हुई बदलाव की प्रक्रिया

हाईकमान ने दी मंजूरी

फ्रंटल ऑर्गनाइजेशन और जिलों में होगा बदलाव

 

By: Arun Tiwari

Published: 15 Nov 2020, 06:31 PM IST

भोपाल : उपचुनाव परिणामों में झटका लगने के बाद अब कांग्रेस संगठन में बदलाव की प्रक्रिया शुरु हो गई है। प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर उपचुनाव के परिणामों की रिपोर्ट दी है। सोनिया गांधी ने कमलनाथ को संगठन में बदलाव के लिए मंजूरी दे दी है। सबसे पहले कांग्रेस के फ्रंटल ऑर्गनाइजेशन में बदलाव किया जाएगा। जब से कमलनाथ ने प्रदेश संगठन की कमान संभाली है तब से संगठन में कोई बदलाव नहीं हुआ है। लेकिन अब कांग्रेस के पास अगले चुनाव से पहले तीन साल का वक्त है। ऐसे में संगठन की कमियों को दूर करने पर फोकस किया जा रहा है। जिला स्तर पर भी बड़े बदलाव अपेक्षित हैं।

पहले युवा,महिला और छात्र विंग में बदलाव :
कांग्रेस में सबसे पहले युवक कांग्रेस, महिला कांग्रेस और छात्र संगठन एनएसयूआई में बदलाव किया जा जाएगा। इसकी प्रक्रिया भी शुरु हो चुकी है। इन तीनों संगठन के प्रदेश अध्यक्ष अपना-अपना कार्यकाल पूरा कर चुके हैं। युवक कांग्रेस अध्यक्ष कुणाल चौधरी विधायक बन चुके हैं। वहीं एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष विपिन वानखेड़े भी उपचुनाव जीतकर विधायक बने हैं। अब इन दोनों संगठनों में नए सिरे से अध्यक्ष का चयन किया जाएगा। युवक कांग्रेस में चुनाव के जरिए संगठन में पदाधिकारी तय होते हैं, जिसकी प्रक्रिया भी जल्द शुरु की जा सकती है। इसके अलावा महिला कांग्रेस की अध्यक्ष मांडवी चौहान की जगह भी नई प्रदेश अध्यक्ष चुनी जाएंगी।

जिला-ब्लॉक कांग्रेस में कसावट :
जिला और ब्लॉक कांग्रेस के अध्यक्षों को भी बदला जाएगा। सबसे पहले जिन सीटों पर कांग्रेस उपचुनाव हारी है उनके जिलों से ये बदलाव शुरु किया जाएगा। समीक्षा बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भी जिला और ब्लॉक कमेटी में बदलाव कर कसावट लाने की बात कही थी। अब इस बदलाव की प्रक्रिया शुरु की जाएगी। मंडलम और सेक्टर के कार्यकर्ताओं को भी कामकाज की समीक्षा के बाद काम दिया जाएगा।

मंडी,पंचायत और निकाय चुनाव पर फोकस :
उपचुनाव हारने के बाद कांग्रेस अब मंडी,नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव पर फोकस कर रही है। यही कारण है कि पार्टी अपने निचले संगठन को मजबूत करने की तरफ आगे बढ़ रही है ताकि इन चुनावों में सफलता हासिल की जा सके। इन चुनावों में जिला और ब्लॉक संगठन की बड़ी भूमिका होती है इसलिए संगठन की इन इकाईयों को कसा जा रहा है।
.

mp kamalnath
Arun Tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned