प्रॉपर्टी की खरीद बढ़ी, स्लॉट किए 520, एक घंटा अधिक खुला ऑफिस

नवरात्र में बाजार में आई तेजी: शाम 4.30 के बाद 5.30 तक के स्लॉट तेजी से हो रहे बुक, रीसेल की प्रॉपर्टी ज्यादा बिक रही

By: Pushpam Kumar

Published: 24 Oct 2020, 11:31 AM IST

भोपाल. नवरात्र में प्रॉपर्टी बाजार में एक बार फिर बूम देखने को मिल रहा है। कोरोना काल में डाउन पड़ा प्रॉपर्टी बाजार उठ चुका है। नवरात्र में शुक्रवार को 410 रजिस्ट्री हुईं। इससे पहले नवरात्र में ही 401 रजिस्ट्री का आंकड़ा पहुंच चुका है। अचानक रजिस्ट्री की संख्या बढऩे से पंजीयन मुख्यालय की तरफ से प्रति सब रजिस्ट्रार स्लॉट संख्या बढ़ाकर 40 तक कर दी गई है। रजिस्ट्री दफ्तरों का समय भी एक घंटा बढ़ाकर 4.30 से 5.30 बजे कर दिया है। आखिरी स्लॉट 5.30 बजे का बुक हो रहा। इसके बाद जितना समय रजिस्ट्री में लगे पक्षकार और अधिकारी दफ्तरों में रुक रहे हैं। सबसे ज्यादा रीसेल प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री हो रही हैं। कोरोना काल में प्रॉपर्टी बाजार उठाने के लिए सरकारी की तरफ से स्टाम्प शुल्क में 2 फीसदी कमी की है। इससे नगर निगम सीमा में प्रॉपर्टी पर लगने वाला स्टाम्प शुल्क 12.50 से 10.50 रह गया है। इसी छूट और त्योहार का लाभ लेते हुए लोग नवरात्र के शुभ मुहूर्त में रजिस्ट्री करा रहे हैं।
दीपावली पर और बाजार बढऩे की उम्मीद
नवरात्र के बाद दीपावली के पांच दिन के शुभ मुहूर्त पर रजिस्ट्री और बढऩे की संभावना को ध्यान में रखते हुए स्लॉट संख्या और बढ़ाई जाएगी। इसके लिए पंजीयन विभाग ने सम्पदा सॉफ्टवेयर में पहले से तैयारी कर ली है। सर्वर में रिक्त न हो इसके लिए
पहले से अपडेशन का काम पूरा किया है।
प्रदेश में 18 से 20 करोड़ की आय
सिर्फ नवरात्र में ही प्रॉपर्टी की खरीद फरोख्त से सरकार को प्रतिदिन 18 से 20 करोड़
रुपए स्टाम्प शुल्क के रूप में मिल रहे हैं। ये आंकड़ा पूरे प्रदेश का है। इंदौर में
सबसे ज्यादा 621 रजिस्ट्री हुईं हैं।
कार्यालय खुले रहेंगे
प्रति सब रजिस्ट्रार स्लॉट संख्या बढ़ाकर 40 कर दी है। आखिर स्लॉट का समय 5.30 बजे हो गया है। बाकी जब तक रजिस्ट्री नहीं हो जाती, कार्यालय खुलेंगे।
स्वपनेश शर्मा,
जिला पंजीयक व सम्पदा प्रभारी

Pushpam Kumar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned