पुष्य नक्षत्र के साथ आज साध्य व शुभ नामक योग, मिलेगी स्थायी संपत्ति - 22 अक्टूबर 2019

22 अक्टूबर मंगलवार को भौम पुष्य नक्षत्र...

भोपाल। 2019 की दीपावली से पहले 21 अक्टूबर से शुरू हुए पुष्य नक्षत्र का संयोग आज 22 अक्टूबर 2019 को भी जारी रहेगा। वहीं इस दिन यानि मंगलवार को पड़ने वाला यह योग भौम पुष्य का संयोग है।

दरअसल सनातन धर्म में अति शुभ माने जाने वाले पुष्य नक्षत्र का संयोग इस बार धनतेरस ( Dhanteras ) से पहले लगातार दो दिन पड़ रहा है।

दीपावली से पहले यानि 21 और 22 अक्टूबर को यानि नक्षत्रों का राजा कहा जाने वाले पुष्य नक्षत्र का शुभ संयोग कुल 23 घंटे 7 मिनट रहेगा।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार 22 अक्टूबर मंगलवार को भौम पुष्य नक्षत्र का संयोग होने से मकान, दुकान, जमीन, स्थायी संपत्ति की खरीदारी और निवेश के लिए मंगलकारी योग रहेगा।

इसके अलावा 22 अक्टूबर को पुष्य के साथ सायं 7.54 बजे तक साध्य योग रहेगा। इसके बाद शुभ नामक योग प्रारंभ होगा।


ऐसे समझें 22 अक्टूबर का पंचांग व योग...

22 अक्टूबर 2019 का पंचांग :
माह – कार्तिक
तिथि – नवमी – 27:34:58 तक
पक्ष – कृष्ण
वार – मंगलवार
नक्षत्र – पुष्य – 16:38:55 तक

आज का शुभ मुहूर्त :
चर – 09:18 से 10:41
लाभ – 10:41 से 12:05
अमृत – 12:05 से 13:29
शुभ – 14:53 से 16:17


पुष्य नक्षत्र को सोने-चांदी के आभूषण की खरीदी से लेकर किसी भी नए कार्य की शुरुआत करने के लिए अति खास माने जाने के अलावा यह संयोग आभूषण, भूमि, भवन, शेयर, बांड, म्युचुअल फंड आदि खरीदने के लिए सबसे उत्तम माना जाता है।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार वैसे तो पुष्य नक्षत्र का संयोग गुरुवार और रविवार को आना सबसे अच्छा माना जाता है, लेकिन कार्तिक माह में दीपावली (Deepawali-2019 ) से पहले यह नक्षत्र जिस भी वार को पड़े उसे शुभ बना देता है।

सुनील शर्मा के अनुसार वैदिक ज्योतिष के मुताबिक पुष्य नक्षत्र के देवता बृहस्पति और दिशा प्रतिनिधि देव शनि हैं। बृहस्पति शुभता, बुद्धिमता और शनि स्थायित्व का प्रतीक हैं।

इन दोनों का योग मिलकर पुष्य नक्षत्र को शुभ और चिर स्थायी बना देता है। पुष्य नक्षत्र को नक्षत्रों का राजा भी कहा जाता है। पुष्य को समृद्धिदायक और शुभ फल प्रदान करने वाला नक्षत्र बताया गया है।

वहीं दीपावली पर सूर्य और चंद्रमा तुला राशि में चित्रा नक्षत्र में रहेंगे। सूर्य और चंद्रमा की ये स्थिति शुभ और उत्तम फल देने वाली है। ज्योतिषियों के मुताबिक तुला संतुलित भाव रखने वाली राशि है और ये राशि न्याय का प्रतिनिधित्व करती है।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned