अगर अचानक आधी रात में खुल जाती है आपकी नींद, तो भगवान से मिलते हैं ये संकेत

अगर अचानक आधी रात में खुल जाती है आपकी नींद, तो भगवान से मिलते हैं ये संकेत

By: Ashtha Awasthi

Published: 25 Apr 2018, 05:47 PM IST

भोपाल। टेक्नोलॉजी के आने से हमारी दिनचर्या पूरी तरह से बदल चुकी है। अब कोई जल्दी सोना भी चाहे तो ये फोन और लैपटॉप उसे सोने नहीं देते। जैसे-तैसे इंसान देर रात सोने की कोशिश करता है फिर अगर अचानक से नींद खुल जाए तो गुस्सा आना तो बनता है। फिर एक बार जब नींद टूट जाती है तो फिर दोबारा नींद आना काफी मुश्किल हो जाता है। नींद पूरी न होने से कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी हो सकती हैं। वैसे तो नींद खुल जाना कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन अगर नींद हर दिन एक निश्चित समय पर खुले तो इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए क्योंकि यह कोई आम बात नहीं है। भगवान भी आपको कई बार अलर्ट करने की कोशिश करते हैं कि कई बड़ी वजहों से आपकी नींद बार-बार टूट जाती है। शहर के साइकोलॉजिस्ट विनय मिश्रा आपको बताएंगे कि क्यों रात के समय एक निश्चित टाइम पर ही लोगों की नींद रात में खुलती है।

raat main nakhun katna

रात 9 बजे से 11 बजे तक

बदलती लाइफस्टाइल में घर, रिश्तों और ऑफिस के काम का प्रेशर तनाव को बढ़ाने के लिए काफी है। आपकी सुकून भरी नींद से तनाव का गहरा रिश्ता है। जब आपका दिमाग शांत होता है तो आपको अच्छी नींद आती है और आप दिनभर ताजगी से भरे रहते हैं, लेकिन जैसे ही आपका दिमाग प्रेशर और तनाव से भर जाता है तो आपकी सोने की आदतों पर प्रभाव डालती है। यह समस्‍या इंसोमेनिया की बीमारी से बहुत अलग है. इसलिए इसे इस बीमारी से न जोड़ें। अगर आपकी नींद रात में 9 से 11 बजे के बीच में नहीं लगती तो आप मानसिक तनाव में हैं। आप अपनी चिंता को अपने शरीर पर हावी होने देते हैं। इस चीज से राहत पाने के लिए आपको मेडिटेशन करना शुरू करना होगा। आपको खुशी को अपने चारो तरफ बिखेरना होगा यही आपके तनाव को कम करने में सार्थक साबित होगा।

raat main nakhun katna

रात में 1 बजे से रात 3 बजे तक

अगर आपकी नींद रात में 1 से 3 बजे के बीच में खुलती है या इस समय नींद का ना लगना आपके लीवर की कमजोरी का संकेत है। इस समय सीमा में आपका जागना आपके गुस्सेल स्वभाव की ओर भी इशारा करता है। इससे बचने के लिए आपको ठंडा पानी पीने और ध्यान करने की जरूरत है। और आप दखेंगे की आपके जीवन में सुख और समृद्धि लौट आएगी।

रात में 3 बजे से सुबह 5 बजे तक

अगर आपकी नींद रात में 3 से 5 बजे के बीच में अकसर खुलती है तो यह एक संकेत है जिसके अनुसार एक नेगेटिव एनर्जी आपसे संपर्क करना चाहती है। यह एनर्जी आपको हमेशा जागरूक रहने का संकेत देती है। असल में इस समय नींद का ना लगना आपके दुखी मन की ओर इशारा करता है अथवा लंग्स से जुड़ी हुई समस्या भी दर्शाता है। हमारे पास आपकी इस चिंता का भी समाधान है आपको ब्रीथिंग रिलेटेड एक्सरसाइज शुरू कर देनी चाहिए ये आपके लंग्स अथवा मन को शांति देंगी।

sleeping

सुबह 5 बजे से सुबह 7 तक

अगर आपकी नींद रोज 5 से 7 के बीच में खुलती है या नही लगती तो ये आदत दर्शाती है कि आप इमोशनली बहुत कमजोर हैं। ऐसा इसलिए है क्योकि इस समय आपकी एनर्जी का फ्लो बहुत अधिक होता है इस समय आप सबसे जादा एक्टिव हो सकते हो। लेकिन समस्या है तो इलाज़ भी मौजूद है इसमें स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज आपकी मदद करेगी।

रात के समय कभी न कांटे नाखून

ये परंपरा पुराने जमाने से चली आ रही है। पुराने जमाने में बिजली नहीं होती थी और ना नेल कटर होता था। इस कारण पहले लोग ब्लेड, कैंची या चाकू से नाखून काटते थे। ऐसे में बिजली नहीं रहने के कारण इन चीजों से चोट लगने के डर से रात को नाखून नहीं काटने को कहा जाता था। इसके अलावा ये भी माना जाता है कि रात में नाखुन काटने से लक्ष्मी जी रुष्ट हो जाती हैं जिससे धन की हानि होती है।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned