MP की इस यूनिवर्सिटी में जूनियर छात्रों को रोज रात मारे जाते हैं थप्पड़

मानवाधिकार आयोग ने रजिस्ट्रार और डीआईजी से मांगी रिपोर्ट

By: Radhyshyam dangi

Published: 27 Nov 2019, 01:09 AM IST

भोपाल. बरकतउल्ला विवि (बीयू) के हॉस्टल में 12 दिन के भीतर फिर रैगिंग की शिकायत सामने आई है। जवाहर हॉस्टल में जूनियर छात्रों की रात दो बजे 40-40 थप्पड़ मारकर सीनियर्स द्वारा रातभर उनसे अपना काम करवाने के मामले में मानव अधिकार आयोग ने संज्ञान लिया है। आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति नरेंद्र कुमार जैन ने इसे मानव अधिकार हनन की गंभीर घटना बताया। जैन ने इस मामले में संज्ञान लेकर रिपोर्ट तलब की है।
इधर, जवाहर हॉस्टल के छात्रों ने सीनियर्स के खिलाफ यूजीसी की एंटी रैगिंग सेल में शिकायत दर्ज कराई है। प्रताडि़त छात्रों ने इसकी जानकारी एंटी रैगिंग कमेटी के हेल्पलाइन नंबर पर दी। इसके बाद यूजीसी ने इसे जांच के लिए बीयू प्रबंधन को भेजा है। साथ ही जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपने को भी कहा है। शिकायत में पीडि़त छात्रों ने बताया कि जवाहर हॉस्टल मे बीयू आईटी के स्टूडेंट रहते हैं। इसमें सिविल मैकेनिकल, इलेक्ट्रानिक कम्युनिकेशन और फार्मेसी के सीनियर स्टूडेंट कम्प्यूटर सांइस के 35 स्टूडेंट के साथ हर रात रैगिंग करते है। रैगिंग के नाम पर रात रात 2 बजे तक जूनियर को थप्पड़ मारे जाते हैं। रात में काम भी करवाया जाता है।

रोज की प्रताडऩा से तंग आकर कुछ छात्रों ने इसकी शिकायत यूजीसी के एंटी रैगिंग हैल्पलाइन नंबर पर की है। इस मामले में आयोग ने उप पुलिस महानिरीक्षक, भोपाल और बीयू के रजिस्ट्रार से दो सप्ताह में जांच रिपोर्ट मांगी है। वहीं, 17 से 23 नवंबर तक 07 दिन में तीन शिकयतें यूजीसी एंटी रैगिंग हेल्पलाइन पर पहुंचने के मामले को भी आयोग ने गंभीर माना। मुंशी प्रेमचन्द्र हॉस्टल में भी रैंगिग की शिकायत हेल्पलाइन तक पहुंची है। पीडि़त छात्र ने शिकायत में कहा है कि हॉस्टल में पास आउट छात्र भी उसे प्रताडि़त करते हैं। इस मामले में भी आयोग ने दो सप्ताह में रिपोर्ट मांगी है।

Show More
Radhyshyam dangi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned