scriptRaghav dam height will increase to stop sewage water in Khan and Kship | खान और क्षिप्रा नदी में सीवेज का पानी रोकने बढ़ेगी राघव बांध की ऊंचाई, नए डेम भी बनेंगे | Patrika News

खान और क्षिप्रा नदी में सीवेज का पानी रोकने बढ़ेगी राघव बांध की ऊंचाई, नए डेम भी बनेंगे

- नगरीय प्रशासन प्रशासन एवं आवास, जल संसाधन और एनवीडीए बनाएगा लांगटर्म-शार्टटर्म प्लान

- क्षिप्रा नदी में आ रहे इंदौर, उज्जैन शहर के सीवेज को लेकर साधु-संतों का एक समूह अनशन पर बैठा हुआ है

- दोनों नदियों में शहरों और गांवों में स्थित घरों का गंदा पानी नहीं पहुंचे, इसके लिए मैदानी अधिकारियों को एक हफ्ते के अंदर रिपोर्ट तैयार शासन को देना है

भोपाल

Published: December 18, 2021 08:59:25 pm

भोपाल। इंदौर और उज्जैन के सीवेज का पानी खान और शिप्रा नदी में न पहुचे इसके लिए जल संसाधन, एनवीडीए और नगरीय प्रशासन एवं आवास विभाग लांगटर्म और शार्टटर्म प्लान तैयार करेगा। वहीं खान नदी का पानी रोकने वाले राघव पिपलिया बांध की ऊंचाई और जल भंडारण क्षमता भी बढ़ाई जाएगी।
Gujarat Hindi News : आणंद जिले के वहेरा गांव के मकान में यात्रियों से भरी बस घुसी
Gujarat Hindi News : आणंद जिले के वहेरा गांव के मकान में यात्रियों से भरी बस घुसी
इसके अलावा सीवेज को रोकने कुछ नए बांध भी बनाए जाएंगे। सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट भी बनाए जाएंगे, जो प्लांट तैयार हो गए हैं उन्हें जल्द से जल्द संचालित करने के लिए कहा गया है। दोनों नदियों को प्रदूषण मुक्त करने के लिए जल संसाधन विभाग के एसीएस एसएन मिश्रा, एनवीडीए के अध्यक्ष आईसीपी केसरी और नगरीय प्रशासन एवं आवास विभाग के प्रमुख सचिव मनीष सिंह ने शुक्रवार को इन नदियों के आस पास के क्षेत्रों में भ्रमण किया और संबंधित अधिकारियो की बैठक ली।
दर असल क्षिप्रा नदी में आ रहे इंदौर, उज्जैन शहर के सीवेज को लेकर साधु-संतों का एक समूह अनशन पर बैठा हुआ है। इसको लेकर सरकार ने तीन विभागों के अधिकारियों को संयुक्त भ्रमण और निरीक्षण रिपोर्ट तैयार करने के लिए कहा है। बताया जाता है कि आज इन अधिकारियों ने त्रिपेणी संगम, राघवगढ और गऊघाट का भ्रमण किया।
इस दौरान मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तथा उद्योग विभाग के मैदानी अधिकारी भी मौजूद थे। दोनों नदियों में शहरों और गांवों में स्थित घरों का गंदा पानी नहीं पहुंचे, इसके लिए मैदानी अधिकारियों को एक हफ्ते के अंदर रिपोर्ट तैयार शासन को देना है। रिपोर्ट के आधार पर कार्ययोजना तैयार की जाएगी। बताया है कि शार्ट टर्म प्लान को मकर संक्रांति और महाशिवरात्रि से पहले ़लागू करना होगा। जबकि लांगटर्म कार्ययोजना एक से दो वर्षों में पूरा किया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.