राहुल बोले हम आए तो चीन के युवाओं के हाथ में भी होगा मेड इन भोपाल का मोबाइल

राहुल बोले हम आए तो चीन के युवाओं के हाथ में भी होगा मेड इन भोपाल का मोबाइल

Deepesh Tiwari | Updated: 17 Sep 2018, 10:03:02 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

केंद्र सरकार पर नोटबंदी से रफाल तक साधा निशाना...

भोपाल। प्रदेश में सत्ता का 15 साल का वनवास खत्म करने की कोशिशों में जुटी कांग्रेस ने सोमवार को शक्ति प्रदर्शन किया। इसके केंद्र में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी रहे। वे करीब पौने एक बजे राजाभोज एयरपोर्ट पहुंचे, जहां से कार से लालघाटी आए। लालघाटी से बस में सवार होकर करीब 18 किलोमीटर लंबा रोड शो शुरू किया, जो भेल दशहरा मैदान में समाप्त हुआ।

यहीं राहुल ने कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित कर केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा। राहुल ने कहा, सचिन को रन मेकिंग मशीन कहा जाता है और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को घोषणा मशीन कहा जाता है। जैसे ही वे मैदान में उतरते हैं, घोषणा करना शुरू कर देते हैं। वे अब तक 20 हजार घोषणाएं कर चुके हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने नोटबंदी और रफाल मामले में केंद्र सरकार पर निशाना साधा। बोले, देश के अमीर व्यक्तियों का काला धन सफेद करने के लिए नोटबंदी की गई थी। माल्या के वित्तमंत्री अरुण जेटली से मिलने को लेकर भी राहुल ने कटाक्ष किया।

rahul speaks in  <a href=Bhopal on 17 sep201802" src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/09/17/0rahul_3426973-m.jpg">

इधर, दूसरी ओर कांग्रेस की अंतर्कलह एक फिर सतह पर दिखी। ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक अलग रंग में नजर आए। वे सिंधिया को मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट करने की मांग कर रहे थे।

वहीं, शहर में राहुल गांधी, सोनिया गांधी, कमलनाथ, सिंधिया सहित नौ बड़े नेताओं के कटआउट लगाए गए। इनमें दिग्विजय सिंह का कटआउट नहीं होने से वे खासे नाराज हुए। उनकी नाराजगी सोशल मीडिया पर तेजी से वारयल हो गई।

मेड इन चायना की बजाय,बनाएंगे मेड इन भोपाल...
राहुल गांधी ने कहा, चायना की सरकार 24 घंटे में 50 हजार युवाओं को रोजगार देती है और मोदी की सरकार उसी 24 घंटे में पूरे देश में 450 को रोजगार दे पाती है। जहां भी देखो मेड इन चायना, फोन के पीछे चायना, शर्ट के पीछे चायना। हमारी सरकार बनी तो मेड इन मध्यप्रदेश और मेड इन भोपाल होगा।

यहां के युवा चीन को मात देंगे। उन्होंने युवाओं से कहा कि आपमें बहुत ताकत है, लेकिन उसका उपयोग नहीं हो रहा है। हम आए तो ऐसा कार्य करेंगे कि चीन के युवाओं के हाथ में भी होगा मेड इन भोपाल का मोबाइल। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि ये काम भाजपा नहीं हम ही कर सकते हैं।

rahul speaks in bhopal on 17 sep201803

ये बोले राहुल...
सचिन को रन मेकिंग मशीन कहा जाता है और वैसे ही मशीन आज मप्र में है। शिवराज को घोषणा मशीन कहा जाता है। जैसे ही वे मैदान में उतरते हैं, घोषणा करना शुरू कर देते हैं।
शिवराज ने 21 हजार घोषणाएं की हैं। मप्र सबसे आगे निकल गया है। बेरोजगारी में नंबर1, भ्रष्टाचार में नंबर 1, बलात्कार में नंबर। कुपोषण में, जहां भी जाते हैं उधर पीएम धोखे वादे करते हैं।15 लाख युवाओं को देंगे, किसानों को बोनस देंगे, जो वे कहते हैं यहां रिपीट होता है। युवाओं से पूछता हूं रोजगार मिला क्या, जब पूछा क्या करते हो, तो कहते हैं कुछ नहीं करते। बस योजनाओं के बारे में सुनते हैं हमें रोजगार तो नहीं मिलता है। ये है मप्र की सच्चाई।

विजय माल्या 'मैं भाग रहा हूं'...
कहा था पीएम नहीं देश का चौकीदार बनना चाहता हूं। कुछ ही दिन पहले विजय माल्या कहता है कि लंदन भागने से पहले अरुण जेटली से मेरी मीटिंग हुई, मैंने उन्हें बताया कि जा रहा हूं। जेटली ने स्वयं कहा कि विजय माल्या मुझसे मिला और उसने बताया कि वह भाग रहा है। 9 हजार करोड़ लेकर भाग गया। वो 9 हजार करोड़ आपके थे।

माल्या वित्तमंत्री को बताता है कि मैं भाग रहा हूं, मंत्री ने न सीबीआई को बताया न ईडी को बताया। जो अरेस्ट नोंटिस था, उसे बदल दिया। अरुण जेटली ने माल्या को भागने दिया। आज हम यहां पे भेल के ग्राउंड में हैं।

आप जैसी ही संस्था, सरकारी संस्था, हिंदुस्तान एंनोटटिक संस्था, मोदी ने स्वयं रफाल का कॉन्टे्रक्ट छीना, 70 साल से उनमें कमी दिखी, मोदी ने एचएएल से कॉन्ट्रेट छीना और अपने मित्र अनिल अंबानी को कॉन्ट्रेक्ट दिया। जब पीएम पेरिस गए, उनके डेलेगेशन में उनके साथ अनिल अंबानी थे।

रफाल पर घेरा...
अनिल पर 45 हजार करोड़ का रुपए खर्च है। बैंक से रुपए लिए, लोगों से लिए। जिंदगी में कभी हवाई जहाज नहीं बनाया, मगर पीएम से दोस्ती है। लेकिन अनिल अंबानी और चौकीदार के बीच दोस्ती है।

देश का चौकीदार कहता है, एएचएल से कॉन्ट्रेट छीनो, अनिल अंबानी को दो। न पर्रिकर से पूछा, न केबिनेट कमेटी से पूछा, सीधा अंबानी को दिया। 526 करोड़ का हमने खरीदा था, वहीं 1600 करोड़ रुपए में मोदी ने खरीदा है।

हजारों-लाखों करोड़ का फायदा अनिल अंबानी जी को किया। मैंने पार्लियामेंट हाउस में मोदी के सामने ये बातें रखीं। मैंने उनसे पूछा आपने 700 करोड़ का हवाई जहाज 1600 हजार करोड़ में क्यों खरीदा। आपने अंबानी को कॉन्ट्रेैक्ट क्यों दिया।

मैंने आमने-सामने कहा। युवाओं सुनो, चौकीदार चोरी कर गया, आपका पैसा। आप लोग सभा के वीडियो टेप देखा, मैंने नरेंद्र मोदी की आंख में आंख मिलाई। जैसे आपसे मिला रहा हूं। मैंने उनसे पूछा मोदी जी अनिल अंबानी को 1600 करोड़ में हवाई जहाज क्यों दिया। मोदी की आंखे कभी इधर जाए, कभी उधर जाए, कभी नीचे कभी कभी दाएं कभी बाएं, चौकीदार आंख से आंख मिलाकर नहीं बोल सका।

अरुण जेटली माल्या को जाने देता है। पीएम ने एक शब्द नहीं निकाला। वित्तमंत्री ने स्वयं कहा, चोर मेरे पास आया, मुझसे कहा, भाग रहा हूं। लेकिन मैंने कुछ नहीं किया। यही बात फिर दोहराई। और आपके जो बोस हैं, नरेंद्र मोदी, उन्होंने अंबानी को कॉन्ट्रेक्ट दिया।

व्यापम का जिक्र...
मप्र में आता हूं, व्यापमं शब्द आपने सुना होगा, रोजगार शिक्षा का सिस्टम खराब कर दिया। 50 लोगों की हत्या हुई। पूरा प्रदेश जानता है, किसे फायदा हुआ। सब जानते हैं। ई-टेंडरिंग के बारे में किसने चोरी की किसने नहीं की, सब जानते हैं।

कांग्रेस की सरकार आएगी, हम चोरों को भागने नहीं देंगे माल्या की तरह। मप्र को दो तीन चीजों की जरूरत है। सबसे पहले युवा रोजगार चाहता है और कुछ नहीं चाहता। मुकाबला देखिए मप्र के युवाओं मैं आपको कहना चाहता हूं, आपमें शक्ति है, ज्ञान है आपमें कोई कमी नहीं।

चायना की सरकार 24 घंटे में 50 हजार युवाओं को रोजगार देती है, मोदी की सरकार उसी 24 घंटे में पूरे देश में 450 को रोजगार दे पाती है। जहां भी देखो मेड इन चायना, फोन के पीछे चायना, शर्ट के पीछे चायन, परफ्यूम चायन, पंखा चायना।

20 हजार अलग-अलग वायदे...
यहां आपके सीएम सबके बारे में बोलते हैं, 20 हजार अलग-अलग वायदे किए हैं। आपने अपने फोन में देखिए यहां पे चुनाव में कांग्रेस की सरकार इसे मिटाकर मेड इन भोपाल करेंगे, मेड इन मप्र करेगे। जहां कपड़े की फैक्ट्री हो, चाहे हवाई जहाज की हो मप्र के युवा काम कर चीन को दिखाएंगे कि मप्र के युवा क्या हैं।

चायना से हम रोजगार में मुकाबला कैसे करेंगे। मैं जानता हूं मैं कैलाश गया, चायना का युवा अपने टेलीफोन को देख और लिखा हो मेड इन इंडिया, ये बीजेपी आरएसएस नहीं कर सकती । इनकी बस की नहीं। ये काम कांग्रेस के नेता कमलनाथ, सिंधिया कर सकते हैं।
दूसरा मुद्दा यदि हिंदुस्तान यहां तक पहुंचा है मोदी कहते हैं 70 साल में जो नहीं हुआ 4 साल में करंगे। 4 साल में मोदी ने क्या किया, साढ़े 12 लाख रुपया नोट नोट बंदी करके आपका जो पैसा था, चोरी करके माल्या जैसे लोगों की जेब में डाला है।

आप किसी से भी पूछ लो, नोटबंदी का क्या लक्ष्य था, नोट बंदी का एक ही लक्ष्य था, चोरों का धन सफेद कर दो। 70 साल में जो नहीं हुआ, दुनिया का सबसे बड़ा स्कैन है नोटंबंदी। जनता को लाइन में लगा दिया।

गब्बर सिंह टैक्स GST...
क्या माल्या खड़ा था, अंबानी खड़ा था, क्या बिजनेस मैन खडृ़े थे, चोर बैंक के पीछे से निकलकर काले धन को सफेद कर रहे थे । गब्बर सिंह टैक्स लाए। मोदी ने गरीबों से जेब से पैसा निकालकर 15 सबसे अमीर लोगों की जेंब में डाला। 5 अलग-अलग टैक्स हैं। हर महीने फार्म भरना पड़ते हैं। 2019 में कांग्रेस की सरकार आई तो एक टैक्स होगा। मेरे दिल में किसान नंबर -1 जगह पर है।

मोदी ने कहा था, चौकीदार ने कहा था, पेट्रोल कम करूंगा, दाम जनता से पूछे देश का चौकीदार बोल रहा है क्या, उन्होंने कुछ कहा, नहीं
छोटा सा सवाल 140 डॉलर प्रति बैरल हमारी सरकार में था, 70 डॉलर प्रति बैरल आज है, हिंदुस्तान में दाम बढ़ते क्यों जा रहे हैं। आप जवाब दो।
दुनिया में दाम घटे और मप्र सहित पूरे देश में बढ़ता जा रहा है। मोदी एक शब्द नहीं कह रहे हैं। क्योंकि मोदी अपने मित्रों को पूरा फायदा देना चाहते हैं
12 लाख करोड़ रुपए अमीरों का नॉन परफॉर्मिंग है। जेटली कहते हैं भैया 9 हजार करोड़ चोरी किए हैं, ये एसेस्ट हैं।

किसान ने अपना 5 हजार रुपए का लोन वापस नहीं तो उसे आप नॉन नहीं, डिफाल्टर चोर कहते हो...
मोदी के दूसरे मित्र मेहुल नीरव चोर नहीं, लेकिन किसान कर्ज नहीं देता वह चोर है। मेरा एक कहना है या तो आप 12 लाख वापस लो, उनका माफ कर रहे हो तो डेढ़ लाख करोड़ कर्जा 15 अमीरों का माफ किया।

मप्र के किसानों ने क्या गलती की है...
हमारी सरकार आएगी तो किसानों का कर्जा माफ होगा। मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता, अगर हिंदुस्तान का कर्ज माफ हो सकता है तो किसानों का भीहो सकता है।

कार्यकर्ताओं से ये बोले
मैं कांग्रेस का अध्यक्ष हूं, मेरी जिम्मेदारी मप्र के जनता की है। जो दर्द युवाओं के दिल में है, जो कठिनाई किसानों के सामने है, सबसे पहले कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेदारी वो है। दूसरे नंबर पर जिम्मेदारी नेताओं की ओर नहीं, कांग्रेस कार्यकर्ताओं की ओर है। जो वायदा किया था, चुनाव के पहले...

एक बीजेपी से आता है एक कहता है मैं पहले कांग्रेस में था, नई भैया, आज जो कांग्रेस में है वो कांग्रेस में है। जो पैराशूट से टपकेगा, वो कांग्रेस पार्टी में खुशी से आ सकता है। मगर टिकट टपकने को नहीं मिलेगा। आप आइए काम करिए, और फिर टिकट की बात होगी। मप्र में सरकार बनेगी तो जनता की सरकार होगी। दूसरे नंबर पर वो कार्यकर्ता की सरकार होगी।
जो मंत्री हो सीएम हो अगर कार्यकर्ता के लिए दरवाजा नहीं खुलेगा तो 15 मिनट मंत्री रहेगा न सीएम रहेगा। मेरा मूड है मैं ऐसे लोगों को टिकट दूं।

मन की बात पर कटाक्ष
राहुल गांधी के साथ सवाल जवाब:
राहुल गांधी मंच से उतरकर कार्यकर्ताओं के बीच गए और बोले, अगर नेता आपके बीच नहीं आएगा तो नेता नहीं रहेगा।
महिला सुरक्षा के सवाल पर एक महिला ने पूछा-जब हमारी सरकार आएगी तो महिला सुरक्षा के लिए क्या करेंंगे।
राहुल ने कहा-उप्र में एक महिला का रेप हुआ था। उप्र के एक मंत्री ने रेप किया था। प्रधानमंत्री ने इस पर एक शब्द नहीं कहा। हम सबसे पहले महिला आरक्षण बिल पास कराएंगे। मप्र में महिलाओं के अलग पुलिस स्टेशन बनाएंगे। मप्र में चुनाव आ रहा है। महिला अपराध पर कड़ी से कड़ी सजा का प्रावधान करेंगे। कांग्रेस में ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को जगह देंगे।

सवाल : सर्वे के आधार पर टिकट बंटेंगे या हर बार नेता खुद बांट लेंगे।
राहुल : टिकट बंटवारे में कार्यकर्ता तक से पूछेंगे। किसी का टेका नहीं लगेगा। जो जीतने वाला कार्यकर्ता है, उसे ही टिकट मिलेगा।

सवाल : मप्र में आदिवासियों के पट्टे निरस्त किए गए थे। क्या वो फिर मिलेंगे।
राहुल : आदिवासियों का हक उन्हें दिलवाएंगे।

सवाल : क्या कांग्रेस सरकार आएगी तो पंचायती राज को पुराना दर्जा मिलेगा।
राहुल : हम पंचायती राज के कानून को आगे बढ़ाएंगे।

सवाल : मप्र में इतना भ्रष्टाचार हुआ है। सरकार आएगी तो क्या इन भ्रष्टाचारियों को जेल में भेजेंगे।
राहुल : प्रदेश में भ्रष्टाचार करने वाले निश्चित रूप से सजा भुगतेंगे।

सवाल : छोटे व्यापारियों के लिए क्या सोचते हैं?
राहुल : नरेंद्र मोदी की सरकार सिर्फ 10-15 व्यापारियों के बारे में सोचती है। हमारी सरकारी छोटे व्यापारियों के लिए व्यावहारिक जीएसटी लागू करेगी।

सवाल : आपकी मानसरोवर यात्रा पर बीजेपी के पेट में खूब दर्द हुआ।
राहुल : कैलाश पर्वत है और मानसरोवर है, यदि एक बार कोई वहां चला जाता है और वह पूरी तरह बदल जाता है।

सवाल : युवा बेरोजगार हैं, मरने को मजबूर है। आपकी सरकार क्या करेगी।
राहुल : मैं मप्र के युवाओं को कहना चाहता हूं कि आपने १५ साल बीजेपी का राज देखा है। मैं आपको कहना चाहता हूं कि हम दिल से पूरा दम लगाकर आपको रोजगार दिलाने का काम करेंगे। मेक इन चाइना को मेक इन इंडिया, मेक इन भोपाल में बदल देंगे।

सवाल : विधानसभा के लिए टिकट क्या समय पर बंट जाएंगे।
राहुल : हमारी पूरी तैयारी हो गई है। टिकट समय पर बंटेंगे।

राहुल ने कहा, आपके सामने चुनाव हैं, आप कांग्रेस पार्टी की सेना हो, आपको दिखाना है कांग्रेस पार्टी में क्या शक्ति है।

rahul speaks in bhopal on 17 sep201804

वहीं इससे पहले ये हुआ...

मुख्यमंत्री शिवराज ने राहुल पर साधा निशाना
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन में राहुल गांधी पर निशाना साधा। बोले, कांग्रेस के युवराज आज प्रदेश में हैं। वे किसानों की बात तो करते हैं, लेकिन उन्हें ये नहीं पता कि प्याज जमीन के ऊपर उगती है या नीचे।

राहुल ने पी चाय, खाए भजिए
लालघाटी से शुरू हुए रोड शो के दौरान कांग्रेस नेताओं ने जगह-जगह राहुल का स्वागत किया। जब काफिला हमीदिया अस्पताल के पास पहुंचा तो राहुल अचानक एक टी-स्टॉल पर जा पहुंचे। उन्होंने यहां न केवल चाय का लुत्फ उठाया, बल्कि भजिए और पकोड़े भी खाए। उनके साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी थे।

फ्लैश बैक
राहुल छह जून को गोलीकांड की बरसी पर मंदसौर आए थे, जहां कर्ज माफी की घोषणा के साथ कुछ चुनावी बातें भी कही थीं। उन्होंने कहा था कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के दस दिन बाद किसानों का पूरा कर्ज माफ कर दिया जाएगा। मंदसौर दौरे में उन्होंने साफ कर दिया था कि चुनाव जिन मुद्दों पर लड़ा जाएगा, उनमें किसान सबसे बड़ी प्राथमिकता होगी।

शहर में जाम
राहुल गांधी के एयरपोर्ट से रोड शो शुरू होने के साथ ही शहर में जाम की स्थिति बन गई। वीआईपी रोड पर रेतघाट से कर्बला तक वाहनों की लंबी कतारें लगी। लोगों को डायवर्टेड रास्ते से निकाला गया।

भाजपा और कांग्रेस के बीच ट्वीट-वार
मध्यप्रदेश भाजपा का ट्विट...
@rahulgandhi आपकी सभा भेल दशहरा मैदान में है। क्या आप भेल जाकर जानना नहीं चाहेंगे कि वहां मोबाइल नहीं बनते?

राहुल का जवाब...
आज भोपाल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा आयोजित एक रोड-शो में शामिल होने जा रहा हूँ यह रोड-शो 1.30 बजे लाल-घाटी सर्कल से निकलेगी। शाम 4 बजे भेल दशहरा ग्राउंड में कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन में हिस्सा लूंगा। भोपालवासियों से मिलने के लिए उत्सुक हूं।
@Rahul gandhi

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन में राहुल गांधी पर निशाना साधा। बोले, कांग्रेस के युवराज आज प्रदेश में हैं। वे किसानों की बात तो करते हैं, लेकिन उन्हें ये नहीं पता कि प्याज जमीन के ऊपर उगती है या नीचे।

राहुल के स्वागत में पूरा शहर होर्डिंग्स से पट गया। विभिन्न चौक-चौराहों पर कांग्रेस के दिग्गज नेताओं के कटआउट भी लगाए गए, लेकिन इसमें पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का कटआउट न होने से वे नाराज नजर आए। मीडिया से बोले, मैं अपना चेहरा रोज देख लेता हूं। मैंने ही कटआउट लगाने से मना किया था। वहीं होर्डिंग्स में राहुल को शिवभक्त लिखे जाने पर कांग्रेस नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी ने कहा कि यह तो कार्यकर्ताओं का उत्साह है। इधर, मुख्य चौराहों पर भाजपा ने मोदी के पोस्टर लगा दिए।

कार्यक्रम पर पांच करोड़ रुपए खर्च
राहुल गांधी की सभा के लिए स्थान तैयार करने में अनुमानित एक करोड़ रुपए खर्च हुए हैं। इसमें तीन वाटरप्रूफ डोम तैयार किए गए हैं। राहुल 40 हजार स्क्वॉयर फीट के डोम में सभा को संबोधित करेंगे। इसकी साजो-सज्जा पर 30 लाख रुपए खर्च किए गए। करीब 20 हजार कुर्सियां लगाई गई।

बाहर भी कुर्सियों की व्यवस्था की गई। साउंड सिस्टम पर भी मोटा खर्च किया गया है। इन सब पर तकरीबन डेढ़ करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। कांग्रेस ने प्रदेशभर से आने वाले दो लाख कार्यकर्ताओं के लिहाज से इतनी तैयारी की। करीब २०-२५ हजार गाडि़यों का इंतजाम किया गया है। इन्हें सभास्थल तक लाने और इनके खाने पर लगभग दो करोड़ रुपए खर्च का अनुमान है। राहुल के स्वागत के लिए 51 मंच बनाए गएं। सचिन रन मशीन हैं तो, मध्यप्रदेश में शिवराज घोषणाओं की मशीन

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned