चारों तरफ से सील होगा भोपाल स्टेशन, महिलाओं की सुरक्षा के लिए लगेंगे कैमरे

- गैंगरेप की घटना के बाद रेलवे बोर्ड के आदेश पर भोपाल स्टेशन पर 3 घंटे तक चला हाई लेवल कमेटी का निरीक्षण, स्टेशन पर इंट्रीग्रेटेड सिक्योरिटी प्लान होगा लागू

भोपाल। देशभर में ए-1 कैटेगरी में शुमार भोपाल स्टेशन की सुरक्षा बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए जाएंगे। इसका फैसला बुधवार को हाई लेवल कमेटी के निरीक्षण के बाद हुआ है। हाल ही में भोपाल स्टेशन के वीआईपी रूम में गैंग रेप कांड के बाद महिलाओं की सुरक्षा और यात्रियों की सुरक्षा बढ़ाने के संबंध में रेलवे बोर्ड की ओर से निर्देश दिए गए थे।
जिसके बाद बुधवार को जीआरपी आरपीएफ और रेलवे के अफसरों ने स्टेशन का 3 घंटे तक मुआयना किया। सभी प्लेटफार्म, सिक्योरिटी पॉइंट, एंट्री एग्जिट गेट, रेस्ट रूम और ऑफिसों में सुरक्षा के संबंध में रिपोर्ट तैयार की गई। सूत्रों ने बताया कि खास तौर पर महिलाओं की सुरक्षा के संबंध में कदम उठाए जाने की बात जीआरपी की ओर से कही गई है। इस संबंध में रेलवे ने भी सहमति जताई है। जिसके बाद कैमरों की संख्या बढ़ाए जाने पर सहमति बनी है। अभी 200 से ज्यादा कैमरे लगे हुए हैं। जिनकी फीड आरपीएफ और जीआरपी के पास होती है। जिसकी वजह से वह मॉनिटरिंग करते हैं।

नई योजना से संदिग्धों की नहीं होगी स्टेशन पर एंट्री
अफसरों ने बताया कि सुरक्षा के संबंध में स्टेशन को पूरी तरह से सील किया जाएगा। इसके लिए बाउंड्री वॉल बनाई जाएगी। क्योंकि अभी स्टेशन पर सभी एंट्री और एग्जिट प्वाइंट पर आरपीएफ और जीआरपी के जवान तैनात होते हैं। इंटीग्रेटेड सिक्योरिटी प्लान ग्रेड वन के मुताबिक मेटल डिटेक्टर और बैगेज स्कैनर लगाए गए हैं। साथ ही सभी मुख्य स्थानों पर कैमरे लगे हुए हैं लेकिन फिर भी संदिग्ध लोग स्टेशन पर दाखिल हो जाते हैं। जिसके चलते आए दिन ट्रेनों में चेन पुलिंग होती है। इसके अलावा अन्य अपराध भी घटित होते हैं। आतंकियों द्वारा कई मौकों पर स्टेशन उड़ाने की धमकी दी जाती है। इसके लिए भी नई व्यवस्था काम आएगी।

इस्तेमाल होगा निर्भया फंड
- देश के सबसे चर्चित गैंग रेप कांड के बाद निर्भया फंड सरकार ने बनाया था। जिसके तहत कई विभागों में महिलाओं की सुरक्षा के लिए करोड़ों का बजट आवंटित होता है। भोपाल में स्टेशन पर हुए गैंग रेप कांड के बाद अब इस बजट का इस्तेमाल किया जा रहा है। जिसके तहत महिलाओं की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त कैमरे लगाए जाएंगे।

सुनील मिश्रा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned