चुनाव से पहले की थी बुराई, अब शिवराज से बात करते दिखे रामदेव

रामदेव बोले- 40 साल से बीमार नहीं पड़ा, आप भी करो प्राणायाम

By: anil chaudhary

Published: 21 May 2020, 05:02 AM IST

भोपाल. विधानसभा चुनाव 2018 के ठीक पहले बेरोजगारी के मामले में केंद्र और राज्य सरकार पर निशाना साधने वाले योग गुरु बाबा रामदेव बुधवार को प्रदेश की शिवराज सरकार के साथ खड़े दिखे। तब केंद्र में मोदी और प्रदेश में शिवराज सरकार थी। रामदेव ने कहा था कि दोनों सरकारें मिलकर बेरोजगारी दूर करने में उतना काम नहीं कर पाई, जितना होना चाहिए। पतंजलि ने छह माह में 20 हजार लोगों को रोजगार दिया है। अब रामदेव एक बार फिर प्रदेश की भाजपा सरकार के साथ होते दिख रहे हैं। उन्होंने बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, मध्यप्रदेश के सीएमएचओ और अफसरों से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कोरोना पर संवाद किया।
योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए आयुर्वेदिक दवा का उपयोग करने की मध्यप्रदेश से जो दिशा निकलेगी, वह पूरे विश्व तक जाएगी। प्राणायाम एवं आयुर्वेदिक औषधियां कोरोना को रोकने एवं उसके इलाज में अत्यंत उपयोगी हैं। मैं 40 साल में कभी बीमार नहीं पड़ा हूं। यह प्राणायाम व आयुर्वेद का नतीजा है।
रामदेव ने कोरोना से बचाव के लिए टिप्स भी दिए। साथ ही जिलों के अफसरों से उनके यहां अपनाए गए तरीकों पर संवाद किया। रामदेव ने कहा कि कोरोना को रोकने के लिए गिलोय, तुलसी, काली मिर्च, हल्दी एवं अदरक का काढ़ा रोज पीयें। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी अच्छी हो जाती है। गिलोय, अश्वगंधा व अणुतेल भी काफी उपयोगी हैं। मैं खुद जब भी थोड़ी अस्वस्थता महसूस होती है तो काढ़े व गिलोय का उपयोग करता हूं। साथ ही नियमित रूप से प्राणायाम करता हूं।


- दो करोड़ को दी आयुर्वेद की दवा : शिवराज
सीएम शिवराज ने कहा कि प्रदेश में करीब दो करोड़ लोगों को आयुष की दवा दी गई है। इसके अच्छे नतीजे सामने आए हैं। आयुष सचिव एमके अग्रवाल ने बताया कि कोरोना के 532 मरीजों को आरोग्य कसायन-20 आयुर्वेदिक औषधि दी गई, जिसके काफी अच्छे परिणाम सामने आए हैं।
- इम्युनिटी अच्छी तो कोरोना से डर नहीं
बाबा रामदेव ने कहा कि जिस व्यक्ति की इम्युनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) अच्छी है उसका कोरोना कुछ नहीं बिगाड़ सकता। प्राणायाम एवं आयुर्वेदिक दवाओं के उपयोग से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत अच्छी हो जाती है। संक्रमण को तोडऩे में अश्वगंधा व गिलोय कारगर होते हैं। कोरोना मरीजों के उपचार में इनके उपयोग के अच्छे परिणाम सामने आए हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए छह प्राणायाम भस्त्रिका, कपालभाति, अनुलोम, विलोम, भ्रामरी एवं उज्जयी प्राणायाम नियमित रूप से करें। कोरोना के मरीज भी ये प्राणायाम कर सकते हैं। प्राणायाम का तुरंत लाभ होता है।

anil chaudhary Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned