भाजपा संगठन महामंत्री रामलाल ने कहा कभी भी हो सकते हैं मध्यावधि चुनाव, हमारा फोकस उन बूथों पर जहां हम हारे थे

भाजपा संगठन महामंत्री रामलाल ने कहा कभी भी हो सकते हैं मध्यावधि चुनाव, हमारा फोकस उन बूथों पर जहां हम हारे थे

Pawan Tiwari | Publish: Jun, 24 2019 09:18:35 AM (IST) | Updated: Jun, 24 2019 09:29:07 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

  • मध्यप्रदेश में अभी किसी दल के पास पूर्ण बहुमत नहीं है।
  • कांग्रेस प्रदेश की सबसे बड़ी पार्टी है। विधानसभा में उसके पास 114 विधायक हैं।

भोपाल. मध्यप्रदेश की कमल नाथ ( Kamal Nath )सरकार को अभी छह महीने पूरे हुए हैं। अब भाजपा ( BJP )संगठन महामंत्री रामलाल ( ramlal )ने संकेत दिया है कि पार्टी मध्य प्रदेश ( Madhya pradesh )में मध्यावधि चुनाव के लिए मन बना रही है।

कार्यकर्ताओं को तैयार रहने को कहा
भोपाल में रविवार को सदस्यता अभियान की बैठक में रामलाल ने कहा कि प्रदेश में कभी भी विधानसभा चुनाव हो सकते हैं। हमें सदस्यता अभियान में उन बूथों पर फोकस करना होगा जहां पिछले चुनाव में हार मिली है। रामलाल ने बैठक में कहा कि प्रदेश में मध्यम अवधि चुनाव कब होंगे इस पर मुझे ज्यादा व्याख्यान देने की जरूरत नहीं है।

 

अनुसूचित जनजाति और अल्पसंख्यक के वोट कम मिले
बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ( Shivraj Singh Chouhan ) ने कहा- विधानसभा और लोकसभा में अनुसूचित जनजाति और अल्पसंख्यक वर्ग के बहुत कम वोट मिले हैं। लोकसभा में भी हम एसटी की सीटें दूसरे वर्ग के वोट के कारण जीते हैं। इसके साथ ही अनुसूचित जाति के कुछ वर्ग के वोट हमें नहीं मिले। इस बार सदस्यता अभियान में हम इन वर्गों को फोकस करेंगे। शिवराज सिंह चौहान ने कार्यकर्ताओं से कहा- सदस्यता अभियान केवल कर्मकांड बनकर नहीं रहनी चाहिए।

 

छह जुलाई से शुरू होगा सदस्यता अभियान
छह जुलाई से शुरू होने जा रहे भाजपा के सदस्यता अभियान के तहत मध्यप्रदेश में 50 से 80 लाख नए सदस्य बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इस बार भाजपा ने हर मंडलस्तर पर रजिस्टर मेंटेन करने को कहा है।

भाजपा के कई नेता सरकार गिरने का दे चुके हैं बयान

मध्यप्रदेश में कमलनाथ की सरकार बनने के बाद से ही बीजेपी के नेता लगातार दावा कर रहे हैं कि प्रदेश की कमल नाथ सरकार अपने पांच साल पूरे नहीं कर पाएगी। खुद पूर्व सीएम शिवराज सिंह भी कह चुके हैं कि यह सरकार कितने दिनों की है कुछ कहा नहीं जा सकता है। वहीं, भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा था कि जिस दिन ऊपर से आदेश आ जाएगा उस दिन प्रदेश की कमल नाथ सरकार गिर जाएगी। बता दें कि हाल ही में ज्योतिरादित्य सिंधिया ( Jyotiraditya Scindia ) समर्थक मंत्री और सीएम कमल नाथ के बीच बहस की खबरें भी सामवे आ चुकी हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned