भोपाल में हुआ रैनसमवेयर का बड़ा अटैक!शहर के 90 फीसदी एटीएम खाली,बैंक नहीं दे रहे पैसा

भोपाल में हुआ रैनसमवेयर का बड़ा अटैक!शहर के 90 फीसदी एटीएम खाली,बैंक नहीं दे रहे पैसा
virus attack on atm

एटीएम में प्रतिदिन बैंक एजेंसियों के माध्यम से रुपए डलवाती है। अब एटीएम से भी पैसा नहीं निकल रहा और बैंकों में भी मांग के हिसाब से नकदी नहीं है।


भोपाल। दो दिन से शहर के 90 फीसदी एटीएम खाली पड़े हुए हैं। अगर मशीनों में पैसा है तो निकल नहीं रहा। लोग इधर-उधर परेशान हो रहे हैं। एटीएम से पैसा नहीं मिलने से खाताधारक बैंकों में पहुंच रहे हैं। वहां भी पूरे पैसे नहीं दिए जा रहे हैं।

इस पूरे मामले को जानकार रेनसमवेयर अटैक से जोड़ कर देख रहे हैं। पिछले दो दिन से शहर के अधिकतर एटीएम पर सुरक्षा गार्ड नहीं दिख रहे। कई एटीएम के गेट तो खुले हैं, लेकिन मशीनों पर 'रुपए नहीं है' के बोर्ड लगा दिए गए हैं। कुछ जगह सिस्टम तो चालू दिखा, लेकिन ग्राहकों को पैसा नहीं मिला।  



बैंकों का पैसा फंसा
बैंकिंग से जुड़े जानकारों का कहना है कि साइबर अटैक एटीएम के लिए महज अफवाह कही जा सकती है, लेकिन सच्चाई यह है कि बैंकों में जमा रुपए एटीएम में फंस गए हैं। एटीएम में प्रतिदिन बैंक एजेंसियों के माध्यम से रुपए डलवाती है। अब एटीएम से भी पैसा नहीं निकल रहा और बैंकों में भी मांग के हिसाब से नकदी नहीं है। एसबीआई के एक अधिकारी ने बताया कि लोगों की मांग के अनुसार पैसा बैंकों में नहीं है, एटीएम में भी पैसा नहीं निकल रहा है। 



वहीं इस मामले में बैंकों ने साइबर या रेनसमवेयर अटैक से इनकार किया है। अधिकारियों का कहना है कि मशीनें तकनीकी दृष्टि से मजबूत हैं। एटीएम में किसी तरह का तकनीकी अटैक नहीं हो सकता। इन सबके बीच लोगों की नकदी नहीं मिलने की समस्या बरकरार है।  


अटैक संभव नहीं  
एटीएम एक्सपर्ट के मुताबिक भारत में 80 फीसदी भारतीय एटीएम विंडो एक्सपी पर काम करते हैं और एक खास प्रोग्राम का इस्तेमाल करते हैं, जिससे एटीएम मशीनें पैसा निकालने और बैलेंस दिखाने जैसा ही काम करती हैं। इन पर रेनसमवेयर अटैक संभव नहीं है। पूरी दुनिया में सौ से अधिक देश साइबर हमले की चपेट में हैं।



ऐसे बचें रेनसमवेयर से... 
 दुनियाभर के कई देशों के कम्प्यूटर्स का डाटा लॉक कर चुके वायरस रेनसमवेयर से बचने के लिए साइबर सेल ने एडवाइजरी जारी की है। एक्सपट्र्स ने लॉटरी, ऑफर आदि के प्रलोभन में आकर अनजान लिंक खोलने से बचने की हिदायत दी है। डाटा बैकअप लेकर भी वायरस के अटैक से बचा जा सकता है।



- किसी भी प्रकार के अनजाने ई-मेल, लुभावने विज्ञापन, लॉटरी, लोन, जॉब्स के अनजान लिंक्स पर अनावश्यक क्लिक न करें।
- कम्प्यूटर सिस्टम में विंडो फायरवॉल यूज करें और देखें की फायरवाल ठीक ढंग से काम कर रहा है या नहीं।
- कम्प्यूटर सिस्टम में 139, 445, 3389 पोर्ट को विंडो फायरवाल से बंद कर दें।
- पायरेटेड सॉफ्टवेयर का प्रयोग न करें और एंटीवायरस का उपयोग करें।
- अपने महत्वपूर्ण डाटा की फाइल की दो कॉपी हार्डडिस्क या पेन ड्राइव में ऑफलाइन सेव रखें और समय-समय पर ऑफलाइन बैकअप लेते रहें।



एटीएम में पर्याप्त पैसा है। इक्का -दुक्का मशीनों में पैसे की कमी हो सकती है। 500 और 2000 रुपए की कमी नहीं है, हो सकता है, छोटे नोटों के कारण बड़ी राशि एक साथ नहीं निकल रही हो।
- वी बालाजी राव, उप आंचलिक प्रबंधक, सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया

साइबर अटैक से जुड़ा मामला दिखाई दे रहा है। अपराधी अपना काम कर रहा है। इससे आम आदमी को परेशानी हो रही है। भारतीय रिजर्व बैंक को इस मामले में तुरंत एक्शन लेना चाहिए। जब तक व्यवस्था नहीं सुधर जाती लोगों को धैर्य रखना पड़ेगा।
- ललित जैन, अध्यक्ष,  भोपाल चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned