ढाई साल की बच्ची को बचाने 200 किमी. तक नॉनस्टॉप दौड़ी ट्रेन, जानिए पूरा मामला

ढाई साल की मासूम बच्ची को किडनैप कर राप्ती सागर एक्सप्रेस में चढ़ा शख्स, आरपीएफ ने आरोपी को पकड़ने के लिए 200 किमी. तक ट्रेन का नहीं होने दिया स्टॉपेज..

By: Shailendra Sharma

Updated: 27 Oct 2020, 07:00 PM IST

भोपाल. यूपी के ललितपुर से अगवा की गई ढाई साल की मासूम बच्ची को करीब दो घंटे बाद ही भोपाल में अपहरणकर्ता के चंगुल से सकुशल छुड़ा लिया गया। किडनैपर को पकड़ने के लिए आरपीएफ ने उस ट्रेन को ललितपुर से लेकर भोपाल तक किसी भी स्टेशन पर नहीं रुकने दिया जिसमें किडनैपर बच्ची को लेकर सवार हुआ था। भोपाल में जब पुलिस ने बच्ची को किडनैपर से छुड़ाया और पूछताछ की तो पता चला कि किडनैपर कोई और नहीं बल्कि उसका पिता ही है। भारतीय रेल के इतिहास में ये शायद पहला मामला है जब इस तरह से किसी ट्रेन को आरोपी को पकड़ने के लिए स्टॉपेज होने के बाद भी स्टेशन पर नहीं रोका गया ।

खुलासे से हैरान रह गई पुलिस
रविवार को ललितपुर में एक ढाई साल की बच्ची का अपहरण हो गया। बच्ची घर के बाहर ही खेल रही थी तभी एक शख्स उसे उठाकर अपने साथ ले गया। बच्ची का घर रेलवे स्टेशन के पास ही था और बच्ची को ढूढते हुए उसकी मां भी रेलवे स्टेशन पर पहुंची तो देखा कि एक व्यक्ति बच्ची को लेकर ट्रेन में चढ़ रहा है। बच्ची की मां ने तुरंत स्टेशन पर मौजूद पुलिसकर्मियों को इसके बारे में बताया लेकिन तब तक ट्रेन स्टेशन से रवाना हो चुकी थी। पुलिसकर्मियों ने भी मामले को गंभीरता से लेते हुए तुरंत अपने वरिष्ठ अधिकारियों को दी जिसके बाद तुरंत आरपीएफ से बात की गई और ये निर्णय लिया गया कि ट्रेन को किसी भी स्टॉपेज पर न रोकते हुए सीधे भोपाल में रोका जाए। जिससे कि आरोपी किसी अन्य स्टेशन पर न उतर सके। करीब 2 घंटे बाद जब ट्रेन भोपाल सस्टेशन पर पहुंची और पहले से मुस्तैद आरपीएफ और पुलिस ने आरोपी को पकड़ा तो जो खुलासा हुआ उसे जानकर पुलिस भी हैरान रह गई। पुलिस के मुताबिक आरोपी कोई और नहीं बच्ची का पिता ही है जो पति से हुए विवाद के बाद बच्ची को अपने साथ लेकर ट्रेन में सवार हो गया था।

 

tttt.png

जीआरपी ने कराई सुलह
पूरे घटनाक्रम का खुलासा होने के बाद जीआरपी ने बच्ची की मां को भी बुलाया और फिर पति-पत्नी के बीच हुए विवाद को खत्म कराया। हालांकि दोनों के बीच किस बात को लेकर विवाद हुआ था इसके बारे में पति-पत्नी ने अधिकारियों को नहीं बताया है। पुलिस के मुताबिक बच्ची की मां ने बताया था कि उसने बच्ची को लेकर ट्रेन में चढ़ते हुए एक शख्स को देखा है वो शख्स उसका पति है इसके बारे में उसने नहीं बताया था। पति-पत्नी से हुए विवाद के बाद घर से बाहर खेल रही बच्ची को गोद में लेकर ट्रेन में सवार हो गया था और महिला के बताए अनुसार जब पुलिस ने स्टेशन के सीसीटीवी खंगाले तो बच्ची को ले जाते शख्स नजर आया था। इसी कारण ट्रेन को नॉन स्टॉप भोपाल तक ले जाने का निर्णय लिया गया था जिससे कि बच्ची को सकुशल बचाया जा सके।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned