मुरैना में जहरीली शराब से मौत के बाद राजधानी में बड़ी कार्रवाई

मुरैना में जहरीली शराब पीने से 24 लोगों की मौत के बाद भोपाल में पुलिस और आबकारी अमले की बड़ी कार्रवाई। शराब के साथ 28 लाख का माल बरामद।

By: Hitendra Sharma

Published: 16 Jan 2021, 05:11 PM IST

भोपाल. मुरैना में जहरीली शराब पीने के बाद 24 लोगों की मौत से सरकार की नीद टूट गयी है। अब पूरे प्रदेश में पुलिस और आबकारी अमला ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रहा है। प्रदेश की राजधानी भोपाल में भी आबकारी और पुलिस विभाग की टीम ने कार्रवाई करते हुए बैरसिया के तलावली थाना क्षेत्र में कच्ची शराब बनाने वालों ठिकानों पर छापामार कार्रवाई की है। जहां कच्ची शराब समेत 28 लाख का माल किया बरामद किया है।

पुलिस को मौके पर हजारों लीटर शराब मिली है। इसी गांव में पहले आबकारी विभाग की कार्रवाई के दौरान पहले हमला हो चुका था इसलिये इस बार पुलिस पूरी तामझाम के साथ मौजूद रही। पुलिस और आबकारी की संयुक्त कार्रवाई बैरसिया थाना क्षेत्र के तलावली कंजर बस्ती में की गई है। पुलिस और आबकारी अमले की इस कार्रवाई के बाद पूरे इलाके में सन्नाटा छा गया है। गनीमत रही कि आज की पूरी कार्रवाई में पुलिस को किसी तरह के विरोध का सामना नहीं करना पड़ा था।

शराब में मेथेनॉल एल्कोहल मिलाया गया

मुरैना जिले में जहरीली शराब पीने से 24 लोगों की मौत हो चुकी है। जहरीली शराब कांड में नया मामला सामने आया है। दरअसल, फोरेंसिक जांच में पता चला कि शराब में मेथेनॉल (मिथाइल एल्कोहल) मिलाया गया था। मृतकों के शवों की विसरा रिपोर्ट से साफ हो गया है कि शराब में जहरीला तत्व मिला था। दूसरी ओर, एसआईटी अपनी जांच पूरी करके शुक्रवार को भोपाल लौट आई।

डीआईजी मिथलेश शुक्ला को मौके पर ही रहने के निर्देश दिए गए हैं। बता दें कि राज्य शासन ने मुरैना जिले में जहरीली शराब के सेवन से 24 व्यक्तियों की कथित रूप से मृत्यु की घटना की जांच के लिए विशेष जांच दल का गठन किया है। जांच दल में अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा को अध्यक्ष बनाया गया है। सदस्यों में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ए. साई मनोहर और उप पुलिस महानिरीक्षक मिथिलेश शुक्ला को शामिल किया गया है।

इन गांवों में मौत
दरअसल, सोमवार की देर रात अलग-अलग गांवों में जहरीली शराब पीने से लोगों के मौत का मामला सामने आया। पहले 8 लोगों की मौत हुई और इलाज के दौरान 2 लोगों की मौत हुई। इसके बाद लगातार मौत का मामला बढ़ता गया। पहले बागचीनी इलाके के मानपुर गांव में 7 और सुमावली इलाके के पहाबली गांव में 3 लोगों की मौत हुई। उसके बाद छैरा गांव में भी मौत का मामला सामने आया।

Show More
Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned