एक्स-रे को लेकर टैक्नीशियन और मरीज के बीच हुआ विवाद

ओपीडी रेट बढ़ाने को लेकर भी हुआ विवाद

By: Ram kailash napit

Published: 09 Apr 2019, 03:03 AM IST

भोपाल . शिवाजी नगर के रहने वाले राकेश मालवीय का 14 वर्षीय बेटा साइकिल से गिर गया। उसके पैर में चोट आई तो राकेश उसे पास की क्लीनिक ले गए। जहां डॉक्टर ने उनके बेटे को अस्पताल ले जाने के लिए कहा।
राकेश बेटे को लेकर रेडक्रॉस पहुंचे तो पता चला कि यहां एक्स-रे नहीं हो रहे। उन्होंने टैक्नीशियन से एक्स-रे करने को कहा तो उसने मना कर दिया। इस बात को लेकर दोनों में बहस हो गई।

रेडक्रॉस में एक्स-रे के लिए होने वाला ये एकमात्र विवाद नहीं है। यहां हर दिन इस तरह के विवाद सामने आते हैं। दरअसल रेडक्रॉस में बीते एक माह से एक्स-रे बंद पड़े हुए हैं। अस्पताल प्रबंधन ने ठेकेदार का पेमेंट रोक रखा है, इसके चलते ठेकेदार ने एक्स-रे बंद कर दिया।
आउटसोर्स को बंद करने का हुआ था फैसला : मालूम हो कि नौ जनवरी को कार्यकारिणी की बैठक में अस्पताल से सभी आउट सोर्स सुविधाएं बंद करने का फैसला लिया था। पूर्व अध्यक्ष आशुतोष पुरोहित का कहना था कि अस्पताल के पास सभी व्यवस्थाएं हैं तो आउटसोर्स करने की क्या जरूरत है। हालांकि बाद में नए अध्यक्ष आने से मामला अधर में अटक गया।

 

सुल्तानिया अस्पताल में भी हुआ विवाद
इधर सोमवार को सुल्तानिया अस्पताल में भी वार्ड में जाने को लेकर मरीज के परिजन और गार्डों के बीच विवाद हो गया। जानकारी के मुताबिक बुधवारा निवासी शब्बीर मियां की बहू अस्पताल में भर्ती है। शब्बीर मिया की पत्नी बहू के पास वार्ड में जाना चाह रही थीं तो गार्ड ने कहा कि अभी साफ सफाई चल रही है। उन्होंने परिजनों को अंदर जाने से मना कर दिया। इस पर शब्बीर मियां और उनके साथ आए अन्य परिजन नाराज हो गए और गार्डों के साथ विवाद हो गया। हालांकि दूसरे मरीजों के परिजनों ने मामले को शांत कराया।

विवाद की कोई जानकारी नहीं है। अस्पताल में दो एक्स-रे मशीन हैं दोनों चालू हैं। हां आउटसोर्स वाला एक्स-रे जरूर बंद हैं, इसमें कोई इश्यु है। लेकिन मरीजों को कोई दिक्कत नहीं हो रही है।
मोहित शुक्ला,चेयरमैन, रेडक्रॉस सोसायटी

Show More
Ram kailash napit Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned