अध्यापकों के तबादलों पर लगी रोक हटाने के आदेश जारी, इतने दिन में करना होगा ज्वाइन

अध्यापकों के तबादलों पर लगी रोक हटाने के आदेश जारी, इतने दिन में करना होगा ज्वाइन

By: Faiz

Published: 24 May 2018, 12:14 PM IST

भोपालः मध्य प्रदेश में हाईस्कूल एवं हायर सेकंडरी अध्यापकों को लेकर चल रहे भारी विरोध के बाद स्कूल शिक्षा विभाग ने ट्रांसफर यानी अंतर निकाय संविलियन के बाद उसके रिलीव होने पर लगाई रोक हटा ली है। स्कूल शिक्षा विभाग के आयुक्त लोक शिक्षण जय श्री कियावत द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि, हाई स्कूल और हायर सेकेंडरी स्कूलों में अध्यापकों के अंतर निकाय संविलियन के लिए कार्य मुक्त संबंधी कार्रवाई की जा सकेगी।

आदिम जाति कल्याण विभाग के अध्यापकों पर लागू नहीं होगा आदेश

अब 24 से 31 मई के बीच चयनित अध्यापकों के तबादले होंगे। विभाग ने बुधवार को आदेश जारी कर दिए हैं। वहीं, अध्यापकों के तबादले की सूची पहले ही जारी की जा चुकी है, अब अध्यापकों को एक स्कूल से रिलीव होकर दूसरे में ज्वाइन करना है। इन्हें 1 से 8 जून तक रिलीव किया जा सकेगा। यह आदेश आदिम जाति कल्याण विभाग के अध्यापकों पर लागू नहीं होगा, क्योंकि आदिम जाति कल्याण विभाग की आयुक्त दीपाली रस्तोगी ने पिछले दिनों जारी आदेश में ऐतराज जाहिर करते हुए कहा था कि, विभाग से अनुमति लिए बिना विभाग के अधीन आने वाले अध्यापकों के तबादले स्कूल शिक्षा विभाग में किए गए थे।

सितंबर 2017 में शुरू की गई थी तबादले की प्रक्रिया

बता दें कि, विभाग ने सितंबर 2017 में तबादले की ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू की थी। आवेदन करने वाले अध्यापकों का स्कूलों में खाली पदों के अनुसार चयन किया गया। यह सूची जारी हो चुकी थी। तभी जनजाति कार्य विभाग ने आपत्ति ली तो विभाग ने पिछले महीने तबादलों पर रोक लगा दी थी। जिसका अध्यापकों ने खुलकर विरोध किया। जिससे जुड़ी खबर पत्रिका वेबसाइट और अख़बार में काफी प्रमुखता से प्रकाशित की थी।

1 से 8 जून के बीच ज्वाइन करना होगा स्कूल

जारी आदेश में यह भी बताया गया है कि आदिवासी क्षेत्र में स्थित स्कूलों में पदस्थ अध्यापकों को तबादलों से दूर रखा जाएगा। विभाग ने ऐसे ही आदेश जारी किए हैं। 24 से 31 मई के बीच स्कूलों से रिलीव होने वाले अध्यापकों को 1 से 8 जून के बीच उस स्कूल में ज्वाइन करना होगा, जहां भी उनका तबादला किया जाएगा।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned