परंपरागत कॉलेज खुले, लेकिन इंजीनियरिंग के लिए कोई निर्णय नहीं

आरजीपीवी को तकनीकी शिक्षा विभाग से निर्देश मिलने का इंतजार

By: Sumeet Pandey

Published: 20 Sep 2021, 12:43 AM IST

भोपाल. उच्च शिक्षा विभाग के अंतर्गत आने वाले विश्वविद्यालय और कॉलेजों में 15 सितंबर से 50 प्रतिशत विद्यार्थियों के साथ कक्षाएं लगनी शुरू हो चुकी हैंं। लेकिन इंजीनियरिंग सहित अन्य तकनीकी कोर्स की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों के लिए राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (आरजीपीवी) का यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (यूआईटी) सहित अन्य तक अभी तक नहीं खुल सके हैं। विश्वविद्यालय प्रशासन तकनीकी शिक्षा विभाग से निर्देश मिलने का इंतजार कर रहा है। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा कॉलेज के संबंध में पहले घोषणा की गई है। इसके बाद कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए दिशा निर्देश भी जारी कर दिए गए।
आरजीपीवी के अधिकारियों का कहना है कि हमारा विश्वविद्यालय उच्च शिक्षा विभाग के अंतर्गत नहीं आता है। इसलिए उनके निर्देश आरजीपीवी और संबद्ध कॉलेजों पर लागू नहीं होते हैं। उधर, आरजीपीवी से संबद्ध कॉलेजों ने भौतिक रूप से कक्षाएं शुरू करने की तैयारी शुरू कर दी हैं।

inspire_fellowship.png

एक्सपोजर नहीं मिल रहा
इस मामले में उदासीन रवैया सामने आ रहा है। दरअसल, अकादमिक रूप से जिम्मेदारी विवि की है। इसलिए इस मामले में विवि की ओर से पहल नहीं की गई है। बीटेक जैसे तकनीकी कोर्स की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों के लिए लंबे समय से कॉलेज बंद होने के कारण उन्हें प्रैक्टिकल एक्सपोजर नहीं मिल पा रहा है। विवि की ओर से संभावित तारीख बताने के लिए भी इस संबंध में कॉलेजों व विद्यार्थियों को भी कोई सूचना जारी नहीं की गई है।

इस विषय पर जिस प्रकार से उच्च शिक्षा विभाग और अन्य विवि ने तत्परता दिखाते हुए गंभीरता दिखाई है। उसी तरह तकनीकी शिक्षा विभाग और आरजीपीवी को संज्ञान लेना चाहिए। 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ भौतिक रूप से पढ़ाई करने के लिए जल्द ही तकनीकी संस्थान भी खोले जाने चाहिए।
डॉ. अजीत सिंह पटेल , कोषाध्यक्ष व एटीपीआई

इस संबंध में संचालनालय स्तर से कार्रवाई नहीं होगी। कॉलेज कब से खुलेंगे इस संबंध में विश्वविद्यालय तय करेगा। इसके लिए शासन स्तर पर चर्चा की जा सकती है।
डॉ. पीके झिंगे, अतिरिक्त संचालक, तकनीकी शिक्षा

अभी ऑनलाइन कक्षाएं चल रही हैं। हमको विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से कोई निर्देश प्राप्त नहीं हुए हैं। संवत: शासन स्तर से निर्देश प्राप्त होना आपेक्षित है। इसके बाद विवि हमको निर्देश देगा। उ मीद है कि जल्द ही निर्देश मिलेंगे। इसके बाद इंस्टीट्यूट खोलने की कार्रवाई की जाएगी।
प्रो. सुधीर सिंह भदौरिया, डायरेक्टर,यूआइटी आरजीपीवी

Sumeet Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned