गड्ढों से बचने लोगों ने लगा दिए 'रेड सिग्नल'

सड़कें समस्या बनती जा रही हैं। इन्हें सुधारने का काम भी गति नहीं पकड़ पा रहा है। इससे वाहन चालक भी गिरकर घायल हो रहे हैं। चूनाभट्टी में रविवार को गहरे गड्ढों से 6 लोग गिरकर घायल हो गए।

By: Pradeep Kumar Sharma

Published: 07 Sep 2021, 01:10 AM IST

भोपाल. सड़कें समस्या बनती जा रही हैं। इन्हें सुधारने का काम भी गति नहीं पकड़ पा रहा है। इससे वाहन चालक भी गिरकर घायल हो रहे हैं। चूनाभट्टी में रविवार को गहरे गड्ढों से 6 लोग गिरकर घायल हो गए। इससे आक्रोशित लोगों ने रास्ते में ही रेड सिग्नल के तौर पर लाल झंडे लगा दिए ताकि अन्य लोग दुर्घटनाग्रस्त नहीं हों और जिम्मेदारों तक भी उनकी बात पहुंच जाए।
कोलार गेस्ट हाउस से बैरागढ़ चीचली तक सीवेज और पानी की पाइपलाइन बिछाने के लिए करीब 10 किलोमीटर सड़क खोद दी गई है। इनका उचित तरीके से रेस्टोरेशन नहीं किया गया है। नगर निगम ने इनमें मिट्टी और गिट्टी भरवा दी थी लेकिन ट्रैफिक ज्यादा होने के कारण यह फिर से पहले जैसी स्थिति में पहुंच गई हैं। सीआई कॉलोनी के पास तो सड़क इतनी खराब है बाइक या ऑटो में बैठे लोग गिरकर जख्मी हो रहे हैं। चूनाभट्टी चौराहे के पास दुकान चलाने वाले अमित राठौर ने बताया कि रविवार को 6 लोग यहां गिरकर घायल हो गए। इसलिए यहां पर लाल रंग के झंडे लगा दिए हैं ताकि इन्हें देखकर वाहन चालक सचेत हो जाएं और दुर्घटना नहीं हो। सड़क निकलने लायक नहीं बची है फिर भी मजबूरी में निकलना पड़ रहा है। इतनी खराब हालत होने के बावजूद इसे ठीक नहीं कराया जा रहा है।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने घेरा बिजली कंपनी मुख्यालय, गड्ढों में नाव चलाई
अघोषित बिजली कटौती अनियमित बिलिंग एवं वसूली के लिए आउटसोर्सिंग कर्मचारियों द्वारा की जा रही जबरदस्ती के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सोमवार को मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी मुख्यालय का घेराव किया। वहीं पुल बोगदा पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने महेन्द्र सिंह चौहान के नेतृत्व में खराब सड़कों के विरोध में गड्ढों के पानी में कागज की नाव चलाई। उन्होंने कहा कि सीएम हमारी सड़कों की तुलना अमेरिका की सड़कों से करते हैं लेकिन सड़कों के गड्ढे हकीकत बयां कर रहे हैं।

बिजली कंपनी के चीफ इंजीनियर डीपी अहिरवार को ज्ञापन सौंपकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी सचिव मनोज शुक्ला ने आउटसोर्सिंग कर्मचारियों द्वारा बिजली बिल वसूली के जबरिया तरीके पर विरोध जताया। शुक्ला ने कहा कि कंपनी ने आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों से जबरन बिजली बिल वसूली के लिए आपराधिक रिकॉर्ड वाले तत्वों को वसूली एजेंट बना लिया है जिससे आए दिन रहवासी इलाकों में विवाद हो रहे हैं। प्रदेश में बिजली संकट गहरा रहा है जिसके चलते ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों के कई वार्डों में दिन में कई बार अघोषित बिजली कटौती की जा रही है।

कांग्रेस ने सरकार से मांग की है कि सीएम शिवराज सिंह चौहान की घोषणा का पालन करते हुए गरीब जनता के बिजली बिल वापस लिए जाएं एवं उन्हें वसूली के लिए परेशान नही किया जाए। कांग्रेस नेताओं ने इस दौरान नारेबाजी कर मौके पर पुलिस द्वारा लगाए गए बेरीकेट पर चढऩे का प्रयास किया। मौके पर मौजूद अशोका गार्डन एवं गोविंदपुरा थाना पुलिस ने उपद्रव करने का प्रयास कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं को खदेड़ दिया। प्रदर्शन में जिला कांग्रेस अध्यक्ष कैलाश मिश्रा, जेपी धनोपिया, महिला कांग्रेस उपाध्यक्ष रंजना शर्मा सहित अनेक पदाधिकारी मौजूद रहे।

Pradeep Kumar Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned