तालाब की सेहत ठेकेदार, आरटीआई एक्टिविस्ट और झील प्रकोष्ठ के बीच उलझी

अधूरे काम पर ऑडियो वार...

By: दीपेश तिवारी

Published: 09 Dec 2017, 09:16 AM IST

भोपाल. मिसरोद तालाब की सेहत ठेकेदार, आरटीआई एक्टिविस्ट और झील प्रकोष्ठ के बीच उलझ गई है। काम अधूरा छोडऩे के मामले में एक्टिविस्ट अजय पाटीदार ने महापौर से शिकायत कर ठेकेदार संजय साहू से काम शुरू करवाने का प्रयास किया। इस पर साहू ने पाटीदार को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि उन्होंने अपने खेत पर वेयरहाउस बनाने का कहा था। काम नहीं किया तो शिकायत कर दी। पाटीदार ने शुक्रवार को इस मामले की शिकायत सीएस बीपी सिंह से कर दी।

इस मामले में झील संरक्षण प्रकोष्ठ के प्रभारी संतोष गुप्ता ने कहा कि मैं अभी कोई कमेंट नहीं करूंगा। घर पर शादी निपटाने के बाद इसे दिखवाता हूं। स्थिति ये है कि ठेकेदार ने तालाब सौंदर्यीकरण खर्च के नाम पर ४५ लाख रुपए के बिल लगा दिए हैं। ठेेकेदार का कहना है कि मैंने 48 लाख रुपए तालाब सौंदर्यीकरण के काम में खर्च कर दिए हैं, अब खर्च नहीं करूंगा। निगम को दूसरा टेंडर जारी करना होगा और संभवत: वह भी इतनी ही राशि का होगा।

फोन पर दिए ऑफर, ऑडियो वायरल

- पाटीदार ने ठेकेदार साहू के दो ऑडियो वायरल किए, इसमें साहू शिकायत नहीं करने और तोड़ करने की बात कह रहे हैं। ठेकेदार ने पाटीदार के ऑडियो जारी किए, जिसमें पाटीदार ने ठेकेदार से कोई काम करने के लिए कहा है।

- सामने लाएंगे सबूत

ठेकेदार संजय साहू ने पाटीदार पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया। साथ ही ये सबूत जल्द ही सभी के सामने लाने की बात कही।

60 लाख की धांधली का आरोप

पाटीदार ने सीएस को शिकायत में ६० लाख रुपए की धांधली का आरोप लगाते हुए मामले की जांच की मांग की। उन्होंने कहा कि ठेकेदार ने निगम से कई काम ले रखे हैं और हर जगह यही स्थिति है।

पहले निगमकर्मी था

ठेकेदार संजय साहू पहले नगर निगम का कर्मचारी था। हाल ही में सिटी प्लानर के पद से हटाए गए इंजीनियर जीएस सलूजा के साथ उसे रखा गया था। करीब ढाई साल पहले उसने नौकरी छोड़कर अपने बड़े भाई के साथ ठेकेदारी शुरू कर दी। मिसरोद का काम अपना पहला पृथक काम बता रहा है।

महापौर बोले, जांच कराऊंगा

मिसरोद तालाब में अधूरे निर्माण से लेकर इसमें ठेकेदार-एक्टिविस्ट की आपसी अनबन की जांच कराने की बात महापौर आलोक शर्मा ने कही है। दोनों की ऑडियो क्लिपिंग निगमायुक्त प्रियंकादास के पास पहुंच गई है।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned